Tuesday, February 27, 2024
HomePradeshBihar1942 अगस्त क्रांति’ पर लगाई गई अभिलेख प्रदर्शनी

1942 अगस्त क्रांति’ पर लगाई गई अभिलेख प्रदर्शनी

ध्रुव कुमार सिंह, मुजफ्फरपुर, बिहार,  

रामवृक्ष बेनीपुरी महिला महाविद्यालय, मुजफ्फरपुर और बिहार राज्य अभिलेखागार,पटना के संयुक्त तत्वाधान में 1942 अगस्त क्रांति’ पर लगाई गई अभिलेख प्रदर्शनी

बिहार राज्य अभिलेखागार,पटना और रामवृक्ष बेनीपुरी महिला महाविद्यालय मुजफ्फरपुर के संयुक्त तत्वाधान में ‘1942 अगस्त क्रांति’ पर अभिलेख प्रदर्शनी लगाई गई। प्रदर्शनी का उद्घाटन  बी.आर.ए बिहार विश्वविद्यालय के कुलानुशासक प्रो.(डॉ.) अजित कुमार, कुलसचिव डॉ.संजय कुमार, प्राचार्या डॉ.ममता रानी, आर्काइविस्ता डॉ.भारती शर्मा, डॉ.शारदा शरण, डॉ.संजीत कुमार ने संयुक्त रूप से किया। इस अवसर पर कुलानुशासक प्रो.(डॉ.) अजित कुमार ने कहा कि अगर अपने वजूद को जिंदा रखना है तो अपने अतीत को जानना आवश्यक है।उन्होंने इतिहास लेखन में नई दृष्टि अपनाने पर बल दिया और कहा कि जो इतिहास में छूटा हुआ है,उसको सामने लाने की जरूरत है। अपनें सम्बोधन में कुलसचिव डॉ.संजय कुमार ने कहा कि ऐसे आयोजन से शोधार्थियों को काफी जानकारी मिलती है  और  नई शिक्षा नीति में शोध पर विशेष जोड़ भी है। उन्होंने कहा कि ये प्रदर्शनी सही अर्थों में हमारे शहीदों को सच्ची श्रद्धांजलि है। इस अवसर पर महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ.ममता रानी ने कहा की मुजफ्फरपुर में पहली बार ऐसी प्रदर्शनी लगाई गई है। भारत छोड़ो आंदोलन के 75 वर्ष हम सभी के लिए, जो ‘अपने देश के लिए मर नहीं सकते’, ‘इसके लिए जीने’ और हमारे स्वतंत्रता सेनानियों के सपनों को साकार करने का एक मौका होंगा। आर्काइविस्ता डॉ.भर्ती शर्मा ने कहा कि अभिलेख सरकार का संस्मरण है कोई सचेतन संग्रह नही। उन्होंने कहा कि अभिलेखागार अभिलेखों का सिर्फ संरक्षण ही नही करता बल्कि लोगों को इसके प्रति जागरूक भी करता है। प्रदर्शनी में अगस्त क्रांति के दौरान शहीद होनें वालों की जिला वाइज़ सूची, पटना सचिवालय गोली कांड की पूरी जानकारी आदि प्रदर्शित की गई। मुजफ्फरपुर की शारदा कुमारी देवी और भवानी देवी जैसे महिला स्वतंत्रता सेनानी के साथ ही जुब्बा साहनी का भी जिक्र भी प्रदर्शित अभिलेखों में था। इस अवसर पर छात्राओं के बीच क्विज प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया जिनको 15 अगस्त को पुरस्कृत किया जाएगा। प्राचार्या ने इतिहास विभाग को छात्राओं का स्टडी टूर करवाने की जिम्मेदारी लेते हुए कहा कि उन्हें अभिलेखागार और बिहार म्यूजियम घुमाया जाएगा। कार्यक्रम का संयोजन इतिहास विभागाध्यक्ष डॉ.वंदना सिंह,डॉ.चेतना वर्मा एवं डॉ.शिप्रा आनंद ने किया। इस अवसर पर डॉ.रामेश्वर रॉय, डॉ.मधु सिंह, डॉ.अंजू सिंह, डॉ.रेणुबाला, डॉ.विदिशा मिश्र, डॉ.रेशमा, डॉ.अंकिता, डॉ.रूपम, डॉ. दिव्या, डॉ.अफ़रोज़, डॉ.अपूर्व,डॉ.अभय, डॉ.अन्नू, डॉ.नाहिद कौसर, डॉ.नीलू सहित बड़ी संख्या में महाविद्यालय की छात्राएं उपस्थित थीं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments