Thursday, February 29, 2024
HomePradeshBiharसमीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने दिये कई निर्देश

समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने दिये कई निर्देश

ध्रुव कुमार सिंह, मुज़फ्फरपुर, बिहार, 

स्वास्थ्य विभाग के टीकाकरणपरिवार नियोजनडेंगू के साथ-साथ स्वास्थ्य समिति द्वारा चलाये जा रहे कार्यक्रमों की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने दिये कई निर्देश

मुजफ्फरपुर समाहरणालय सभागार में जिलाधिकारी प्रणव कुमार की अध्यक्षता में जिला स्वास्थ्य समिति के साथ-साथ संबंधित सभी शाखाओं की समीक्षा बैठक की गयी। बैठक में सिविल सर्जन डॉ.उमेश चन्द्र, एसीएमओ, जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी, सदर अस्पताल अधीक्षक, गैर संचारी रोग पदाधिकारी डॉ. सतीश, जिला जनसम्पर्क अधिकारी दिनेश कुमार सहित सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, बीएचएम, बीसीएम, लेखापाल आदि उपस्थित थें। बैठक में टीकाकरण, परिवार नियोजन, डेंगू के साथ-साथ स्वास्थ्य समिति द्वारा चलाये जा रहे सभी कार्यक्रमों की समीक्षा हुई। कल्याणकारी कार्यक्रमों में किसी प्रकार की कोताही नहीं बरतने का निर्देश जिला पदाधिकारी श्री कुमार ने संबंधित चिकित्सा पदाधिकारियों एवं कर्मियों को दिया। परिवार नियोजन कार्यक्रम में परिवार विकास मिशन कार्यक्रम चलाया जा रहा है, जिसके तहत परिवार नियोजन के सभी माध्यमों का सघनता पूर्वक प्रचार-प्रसार करने/कराने का निर्देश दिया। निरोधात्मक उपाय का व्यापक प्रचार ग्रामीण क्षेत्रों में करने का कहा गया। उन्होंने कहा की अस्पतालों के अतिरिक्त कार्यालयों एवं अन्य सार्वजनिक कार्यालयों में कंडोम बॉक्स रखने का निर्देश दिया, जिस पर संबंधित पदाधिकारी ने कहा की समाहरणालय, नगर निगम, जिला परिषद अनुमंडल कार्यालय, रेलवे स्टेशन जैसे स्थलों पर कंडोम बॉक्स रखा गया है। इसके अतिरिक्त उन्होंने पेट्रोल पंप पर भी कंडोम बॉक्स रखने का निर्देश दिया। आशा बहाली एवं उसके भुगतान को गंभीरता से लेते हुए जिला पदाधिकारी ने कहा की बहाली कार्य में रूची नहीं दिखाने वाले मुखियाओं पर कार्रवाई का प्रस्ताव दें। उनके लंबित भुगतान को शीघ्र और स-समय करने का भी निर्देश दिया। संस्थागत प्रसव में कमी रहने पर उन्होंने नाराजगी व्यक्त किया। औराई, कटरा जैसे प्रखंडों में 20 फीसदी से भी कम संस्थागत प्रसव हुए हैं, जो स्वीकार्य नहीं है। उन्होंने कहा की आशा विशेष कर एएनएम की नियमित रूप से समीक्षा करें साथ ही कार्य एजेण्डा के साथ उनके लक्ष्य का मूल्यांकन करें। टीकाकरण में व्यवधान करने वाले व्यक्तियों पर सख्त कार्रवाई करें। इस बाबत अंचलाधिकारी और थानाध्यक्ष को भी निर्देश दिया गया। जननी बाल सुरक्षा योजना में पूरे जिले में आठ हजार से अधिक भुगतान के मामले लंबित है, जिस पर सख्त नाराजगी व्यक्त की गयी। मुशहरी, सकरा, गायघाट में भुगतान के अधिकतर मामले लंबित है, जिसपर जिला पदाधिकारी ने संबंधित लेखापाल का 25 फिसदी मानदेय कटौति करने का निदेश दिया साथ ही जिला लेखा प्रबंधक स्पष्टीकरण पृच्छा की गयी। इससे पूर्व डेंगू के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए इसके व्यापक प्रचार-प्रसार हेतु हरी झंडी दिखाकार डेंगू से बचाव को लेकर प्रचार वाहन को रवाना किया। संबंधित पदाधिकारी डाॅ.सतीश ने बताया की सभी जगहों पर विशेषकर प्रभावित प्रखंड मुसहरी, कांटी, मीनापुर में जोर-शोर से फॉगिंग कराया जा रहा है साथ ही और फॉगिंग मशीन खरीदने का निर्देश दिया गया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments