Tuesday, October 3, 2023
HomePradeshBiharबाजरा उत्सव) का बीआरए बिहार विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति और सीसीडीसी ने  किया उद्घाटन 

बाजरा उत्सव) का बीआरए बिहार विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति और सीसीडीसी ने  किया उद्घाटन 

रामवृक्ष बेनीपुरी महिला महाविद्यालय में आयोजित  Millets Fest (बाजरा उत्सव) का बीआरए बिहार विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति और सीसीडीसी ने  किया उद्घाटन 

ध्रुव कुमार सिंह, मुजफ्फरपुर, बिहार,  

                                                                                                                                      रामवृक्ष बेनीपुरी महिला महाविद्यालय  में Millets Fest (बाजरा उत्सव) का आयोजन किया गया । महाविद्यालय के गृह विज्ञान और CND की छात्राओं के 9 अलग-अलग ग्रुप से अलग-अलग व्यंजन बनाये जिसमे रागी का चीला, सामा का फिरनी, मसाला कॉर्न चाट, रागी के लड्डू और बर्फी, सामा की इडली बादाम और नारियल चटनी के साथ रागी की दाल कचौड़ी, सामा की बिरयानी खीरा रायता के साथ रामदाना लड्डू, लेमोनेड आदि बनाया। उन्होंने सभी व्यंजनों का पोषक मूल्य तालिका भी प्रदर्शित किया। कार्यक्रम का बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर बिहार विश्वविद्यालय के प्रतिकुलपति डॉ.रवींद्र कुमार और सीसीडीसी डॉ.अमिता शर्मा ने संयुक्त रूप से उद्घाटन किया। इस अवसर पर महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ.ममता रानी ने शॉल, प्रतीक चिन्ह और पौधा देकर आगत अतिथियों का सम्मान किया। अपने उद्घाटन भाषण में प्रति-कुलपति ने डॉ.कुमार ने छात्राओं के प्रयास की भूरी-भूरी प्रशंसा करते हुए कहा कि पहली बार इस विश्वविद्यालय के किसी महाविद्यालय  ने मिल्लेट्स पर ऐसा कार्यक्रम किया । इससे इसके उपयोग के लिए सभी में जागरूकता आयेगी और लोग इसका सेवन कर बीमारियों से बचेंगे। इस अवसर पर सीसीडीसी डॉ.शर्मा ने कहा कि श्री अन्न का प्रयोग अभी कुछ पर्व त्योहारों तक सिमट गया है,ऐसे कार्यक्रमों से फिर से ये हमारे जीवन में स्थापित होगा।ऐसे कार्यक्रम सभी महाविद्यालयों  को करना चाहिए। अपने उद्बोधन में महाविद्यालय की प्राचार्या डॉ.ममता रानी ने कहा कि अभी से हमें अपने आहार में मोटे अनाज को शामिल करना चाहिए तभी हम आने वाली पीढ़ी को इसका महत्व बता पायेंगे। बाजरा के उत्पादन और खपत को बढ़ाने के उद्देश्य और जागरूकता पैदा करने हेतु संयुक्त राष्ट्र संघ ने 2023 को अंतरराष्ट्रीय बाजरा वर्ष घोषित किया है । उद्घाटन के पश्चात् छात्राओं के आग्रह पर प्रति-कुलपति और सीसीडीसी ने सभी व्यंजनों को चखा और स्वाद की प्रशंसा करते हुए कहा कि मिलेट के व्यंजन भी इतने स्वादिष्ट हो सकते हैं, ये अत्यंत सुखद अनुभव है। इसके बाद महाविद्यालय  की छात्राओं  और शिक्षकों ने इनकम एनहांसिंग स्कीम के तहत एक उचित और सस्ते मूल्य पर व्यंजनों को खरीद कर उसका स्वाद लिया। मौके पर साबुत श्रीअन्न रखा गया ताकि छात्राएँ इन अनाजों को पहचान सकें। कार्यक्रम का संयोजन डॉ. विदिशा मिश्रा,डॉ.जयश्री,डॉ.नीलू,डॉ.विनीता रानी ने किया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में महाविद्यालय  की शिक्षक, शिक्षिका, शिक्षकेतर सहयोगी और छात्राएं उपस्थित रहे। कार्यक्रम के लिए विभिन्न व्यंजनों के निर्माण एवं प्रस्तुतीकरण में चिंकी कुमारी,आरती कुमारी,साजदा खातून,रौशन प्रवीण,निहारिका,स्मृति,निवेदिता,ऋतु आदि की महती भूमिका रही।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments