Tuesday, February 27, 2024
HomePradeshBiharउत्तर-पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कराये जाने के विरुद्ध कुलपति से शिकायत

उत्तर-पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कराये जाने के विरुद्ध कुलपति से शिकायत

ध्रुव कुमार सिंह, मुज़फ्फरपुर, बिहार, 

बीआरए बिहार विश्वविद्यालय के परीक्षा विभाग द्वारा निर्धारित मानक के विरुद्ध 120-160 उत्तर-पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कराये जाने के विरुद्ध कुलपति से शिकायत

बिहार राज्य संबद्ध डिग्री महाविद्यालय शिक्षक/शिक्षकेत्तर कर्मचारी महासंघ ने बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर बिहार विश्वविद्यालय के परीक्षा विभाग में व्याप्त शैक्षणिक एवं प्रशासनिक अराजकता और अनियमितता को लेकर कुलपति को ज्ञापन दिया है. महासचिव डॉ.अशोक कुमार द्वारा दिए गए ज्ञापन में कहा गया है की परीक्षा विभाग द्वारा निर्धारित मानकों के विरुद्ध स्नातक प्रथम खंड की उत्तर-पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कराये जानें के कारण परीक्षार्थियों के भविष्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है. प्रतिदिन अधिकतम 40 के जगह 120-160 उत्तर-पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कराये जाने के कारण परीक्षक मूल्यांकन कार्य को लेकर काफी दबाव में है, जिसके कारण मूल्यांकन कार्य प्रभावित हो रहा है साथ ही कई तरह की त्रुटियों का होना भी स्वाभाविक है. इसकी वजह से रिजल्ट बड़ी संख्या में पेंडिग होनें की संभावना है.मानक के विरुद्ध ज्यादा संख्या में उत्तर-पुस्तिकाओं के मूल्यांकन होने के कारण मूल्यांकन की गुणवत्ता भी प्रभावित हो रही है. ज्ञापन में कहा गया है कि अधिकांश ऐसे महाविद्यालयों में प्रायोगिक परीक्षाओं में गृह केंद्र बनाया जा रहा है,जहाँ न सम्बन्धित विषय में शिक्षक है और न हीं पर्याप्त साधन और संसाधन है. प्रायोगिक परीक्षाओं के लिए बाहय परीक्षकों की नियुक्ति भी सम्बन्धित महाविद्यालय द्वारा स्वयं कर लेनें पर विरोध करते हुए ज्ञापन में कहा गया है की इससे परीक्षा की न सिर्फ पारदर्शिता प्रभावित होती है,बल्कि यह भ्रष्टाचार को बढ़ावा देता है. ज्ञापन में कुलपति से मांग की गयी है की अविलम्ब परीक्षार्थियों और विश्वविद्यालय के हित में परीक्षा विभाग में व्याप्त शैक्षणिक एवं प्रशासनिक अराजकता और अनियमितता का संज्ञान लेते हुए कार्रवाई करें.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments