Thursday, February 29, 2024
HomePradeshBiharअजय निषाद की अध्यक्षता में जिला विकास समन्वय की  बैठक

अजय निषाद की अध्यक्षता में जिला विकास समन्वय की  बैठक

सांसद-सह-अध्यक्ष अजय निषाद की अध्यक्षता में जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा) की मुजफ्फरपुर समाहरणालय सभागार में हुई बैठक

ध्रुव कुमार सिंह, मुज़फ्फरपुर, बिहार, 

जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा) की बैठक मुजफ्फरपुर समाहरणालय सभागार में हुई। स्थानीय सांसद-सह-अध्यक्ष अजय निषाद ने बैठक की अध्यक्षता करते हुए विगत बैठक में उठाए गए सभी बिन्दुओं के साकारात्मक अनुपालन पर प्रसन्नता व्यक्त की। बैठक में पूर्वी मंत्री रामसुरत राय, नगर विधायक बिजेन्द्र चैधरी, बोचहाँ विधायक अमर पासवान, साहेबगंज विधायक राजु कुमार सिंह, विधान परिषद् दिनेश सिंह, विधायक गायघाट निरंजन राय, विधायक मीनापुर राजीव कुमार उर्फ मुन्ना यादव, विधायक कुढ़नी केदार प्रसाद गुप्ता, जिलाधिकारी प्रणव कुमार, नगर आयुक्त नवीन कुमार, डीआरडीए निदेशक संजय कुमार, जिला आपूर्ति पदाधिकारी, विजय पाण्डेय, अनुमंडल पदाधिकारी पूर्वी/पश्चिम अमित कुमार एवं ब्रजेश कुमार सहित सभी वरीय  पदाधिकारीगण उपस्थित थें। बैठक में विगत अनुपालन किये गये बिन्दुओं पर बारी-बारी से सदन के समक्ष बात रखी गयी। प्रमुख रूप से बाढ़ प्रमंडल इकाई, मुजफ्फरपुर द्वारा वागमती और लखनदेई नदी में किये जाने वाले कार्यों पर निदेश दिया गया। पूर्व मंत्री रामसुरत राय ने कहा कि बागमती नदी में दो धारा को एक धारा में करने तथा लखनदेई नदी के दोनों तरफ बांध की उंचाई बढ़ाने हेतु कार्य करने का निदेश दिया। एनटीपीसी द्वारा किये गये कार्य योजना की नियमित रूप से बैठक करने का निर्देश एनटीपीसी के संबंधित पदाधिकारी को दिया गया साथ ही योजनाओं के चयन तथा बैठक में जनप्रतिनिधियों की उपस्थिति को अनिवार्य और पारदर्शी बनाने का निर्देश जिला पदाधिकारी प्रणव कुमार ने दिया। इसी प्रकार रोगी कल्याण समिति की बैठक नियमित रूप से करने तथा जनप्रतिनिधि की भागीदारी को सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया। किसान से प्राप्त आवेदन में विद्युत संबद्धता, संबद्धता कार्य, जन वितरण प्रणाली में पारदर्शी तरीके से अनाज वितरण, उप-स्वास्थ्य केन्द्रों पर चिकित्सकों की उपस्थिति, नाला, सिवरेज ट्रीटमेन्ट प्लान्ट निर्माण आदि बिन्दु पर परिचर्चा एवं निदेश दिये गये। जिला पदाधिकारी श्री कुमार ने संबंधित अधिकारियों को निदेश दिया कि चापाकल मरम्मती की सूची संबंधित विधायकों को अलग-अलग उपलब्ध करायें। दाखिल खारिज पर अंचल अधिकारी की उदासीनता की बात पर निर्देश दिया गया कि नियमानुसार और ससमय अपने वरीय पदाधिकारियों के संज्ञान में कार्य करें। इसके अतिरिक्त एनएचएआई, ग्रामीण कार्य विभाग, एक्सरे टेक्निशियन आदि बिन्दु पर भी आवश्यक निदेश दिये गये।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments