Friday, February 23, 2024
HomeIndiaस्वयं सहायता समूह ने भोजन बंद करने की मांग को लेकर शिक्षा...

स्वयं सहायता समूह ने भोजन बंद करने की मांग को लेकर शिक्षा मंत्री मोहन यादव को ज्ञापन सौंपा,

नीमच  प्रांतीय महिला स्व सहायता समूह महासंघ म.प्र. मध्याह्न भोजन, सांझा चूल्हा एवं रसोईया, जिला इकाई नीमच के तत्वाधान में स्वयं सहायता समूह की महिलाओं ने गुरुवार को  स्वयं सहायता समूह की रसोई को बंद करने की मांग को लेकर  मध्यप्रदेश शासन के कैबिनेट शिक्षा मंत्री मोहन यादव को ज्ञापन को सौंपा।
हस्ताक्षरयुक्त  ज्ञापन में उल्लेख करते हुए बताया कि आंगनवाडीयो में महिला स्व सहायता समूह के माध्यम से परोसा जाने वाला भोजन नाश्ता (सांझा चूल्हा योजना) के अंतर्गत प्रदेश के आंगनवाडीयों में पूरक पोषण शक्ति योजना के तहत मध्यान भोजन एवं नाश्ता सांझा चूल्हा योजना दोनों विभागों के (संयुक्त तत्वावधान में) तहत पकाकर खिलाने का काम स्थानीय महिला स्व सहायता समूहों द्वारा किया जाता है। विगत कुछ समय से इस योजनाओं में अनियमितताओं की शिकायत समूह संघ के माध्यम से सरकार से की जाती रही है लेकिन उक्त अनियमितताओं को दूर करने व समूह संघ द्वारा ज्ञापनो के माध्यम से उपलब्ध कराई गई मांगों का निराकरण करने में रुचि नहीं दिखाने पर समूह संघ ने पूरे प्रदेश में एक अगस्त से सांझा चूल्हा योजना बंद करने का निर्णय लिया है। पूरे प्रदेश में सांझा चूल्हा योजना बंद होने से कुपोषण मिटाने की सरकार की योजना पर विपरीत प्रभाव पड़ना तय है जिसकी जिम्मेदारी सरकार की होगी। प्रांतीय महिला स्व सहायता समूह महासंघ की मांगे निम्नानुसार  है। जिसमें शासन के आदेशानुसार आंगनवाडी केन्द्रों में ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में पूरक पूषण आहार एवं नाश्ता एवं पक्का भोजन का वितरण महिला स्व सहायता समूह के माध्यम से किया जा रहा है, जिसमे समूहों को प्रतिमाह 3000/- से 6000/- का भुगतान किया जाता है। किन्तु महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा शासन के निद्रानुसार समूह संचालको को भुगतान नहीं किया जा रहा है इस योजना में सुधार करवाया जावे एवं इस योजना का लाभ हितग्राहियों तक दिया जावे, जिससे आंगनवाडीयों का संचालन करने में समूहों को भारी आर्थिक समस्याओ का सामना नही करना पड़े।
आंगनवाडी केन्द्रों में छात्र,किशोरी गर्भवती धात्री माता ,भोजन दर 15 रु बढाई जाए एवं भोजन पकाने वाली रसोइया को 500 रुपए से बढ़ाकर 2000 रुपए किया जाए।
आंगनवाडी केन्द्रों में दर्ज छात्र संख्या के मान से खाद्यान्न एवं राशि समूह को मिले एवं प्रतिमान संख्या दर्ज अनुसार मिले जिससे भोजन संचालन व्यवस्था बाधित नहीं हो, वर्ष 2018 की व्यवस्था अनुरूप माह के प्रथम सप्ताह में आबंटन प्रदाय सुनिश्चित किया।
आंगनवाडीयों में भोजन पकाने हेतु ईंधन एवं परिवहन की राशि पूर्व की भाती पुनः  समूह संचालकों को मिले क्योंकि आगवाडीयों में भोजन पकाने के लिए अतिरिक्त गैस की व्यवस्था नहीं है।
वर्तमान में जो पीओएस मशीन में फिंगर से स्व सहायता समूह को खाद्यान्न प्राप्त होता है, जिसमें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है कभी फिंगर ना लगना और कभी पीओएस मशीन बंद हो जाती है। कभी सर्वर डाउन हो जाता है, जिसके कारण बार-बार उचित मूल्य दुकान में जाना पड़ रहा है साथ ही आवंटन जारी होने के बाद समय से खाद्यान्न नहीं पहुंचता है। जिससे 60प्रतिशत स्व सहायता समूहों का खाद्यान्न लेफ्ट होने की भी समस्या उत्पन्न होती है। हमारी मांग है कि पूर्व की तरहा पत्रक के द्वारा खाद्यान्न प्राप्त होता था वह लागू किया जाए।योजना का लाभ देने के नाम पर आजीविका स्व सहायता समूह के अधिकारियों द्वारा कमीशन एवं भ्रष्टाचार किया जाता है उस पर पूर्णता रोक लगाई जाए एवं सभी बहनों को एक समान देखते हुए योजनाओं का लाभ दिया जाए।विभाग द्वारा नये नये आदेश निकाल कर स्व सहायता समूह की महिलाओं के परेशान किया जाता है इसको बंद किया जावे क्योंकि समूह की महिलाए इतनी पढ़ी लिखी नहीं है, प्रतिवर्ष समूहों का नवीन अनुबंध एवं ऑडिट हेतु परेशान किया जाता है जबकि समूह की महिलाएं द्वारा इतना हिसाब किताब नहीं रख पाती है। और बार बार अनुबंध कराने से आर्थिक नुकसान भुगतना पड़ता है, इसे बंद किया जावे एवं जो नया समूह एवं समूह में परिवर्तन होने की स्थिति में ही नवीन अनुबंद की आवश्यकता की जावे।
उपरोक्त क्रमांक 1 से 7 तक की मांगे नहीं माने जाने पर 01 अगस्त 2023 प्रदेश से सभी आंगनवाडीयो में भोजन एवं नाश्ता बंद कर दिया जाएगा। और सभी स्वयं सहायता समूह की महिलाएं अनिश्चितकालीन आंदोलन पर जाने को मजबूर होगी।ज्ञापन सौंपते समय  नीमच  प्रांतीय महिला स्वयं सहायता समूह महासंघ मध्यप्रदेश की नीमच तहसील ब्लॉक अध्यक्ष  आशा शर्मा व  सैकड़ों महिलाएं उपस्थित थी ।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments