Thursday, February 29, 2024
HomePradeshUttar Pradeshराष्ट्रपति ने ग्रेटर नोएडा में मुख्यमंत्री की उपस्थिति में यू0पी0 इण्टरनेशनल ट्रेड...

राष्ट्रपति ने ग्रेटर नोएडा में मुख्यमंत्री की उपस्थिति में यू0पी0 इण्टरनेशनल ट्रेड शो के प्रथम संस्करण का शुभारम्भ किया

 
राष्ट्रपति ने उ0प्र0 के विकास को निरन्तर ऊर्जा तथा दिशा प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री की सराहना की
 
उ0प्र0 सरकार ने हाल के वर्षों में आर्थिक विकास तथा निवेश में वृद्धि हेतु कई कदम उठाए : राष्ट्रपति
 
उ0प्र0 के उत्पादों को देश-विदेश के बाजारों तक पहुंचाने के लिए यू0पी0 इण्टरनेशनल ट्रेड शो का आयोजन अत्यन्त सराहनीय
 
यह ट्रेड शो उ0प्र0 के निर्माताओं एवं उद्यमियों के लिए राष्ट्रीय एवं अन्तरराष्ट्रीय बाजार तथा अपनी पहुँच और पकड़ बनाने का सशक्त माध्यम बनेगा
 
राज्य की जी0डी0पी0 जो वर्ष 2016-17 में लगभग 13 लाख करोड़ रु0 थी, वह वर्ष 2022-23 में करीब 22 लाख करोड़ रु0 अनुमानित, इकोनॉमिक ग्रोथ की यह उपलब्धि निस्संदेह सराहनीय
 
उ0प्र0 के पहले इण्टरनेशनल ट्रेड शो के उद्घाटन के लिए राष्ट्रपति जी का आगमन प्रदेश के 96 लाख से अधिक एम0एस0एम0ई0 उद्योगों को नई प्रेरणा और प्रकाश प्रदान करेगा : मुख्यमंत्री
 
प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व और मार्गदर्शन में उ0प्र0 सरकार विगत 06 वर्षों में अपने परम्परागत कारीगरों, हस्तशिल्पियों और उद्यमियों को प्रोत्साहित करने के लिए अनेक कार्यक्रमों के साथ में आगे बढ़ी
 
यह ट्रेड शो उ0प्र0 को प्रधानमंत्री जी की मंशा के अनुरूप भारत की इकोनॉमी के ग्रोथ इंजन के रूप में प्रस्तुत करने में सफल होगा
 
उ0प्र0 के पोटेंशियल को आगे बढ़ाने के लिए अनेक अभियान प्रारम्भ किए गए, इनमें ‘एक जनपद, एक उत्पाद योजना’ भी शामिल
 
प्रदेश अपने ‘स्केल को स्किल’ में बदलकर नये भारत के नए उ0प्र0 के रूप में अपने आप को प्रस्तुत कर रहा
 
प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन और प्रेरणा से उ0प्र0 ने बीमारू राज्य से समृद्ध राज्य की ओर कदम बढ़ाया
 
प्रदेश के वर्तमान 54 जी0आई0 प्रोडक्ट के 108 एक्जीबिटर्स इण्टरनेशनल ट्रेड शो में उपस्थित होकर अपनी कुशलता और कौशल का परिचय दे रहे
 
ट्रेड शो में बिजनेस टू बिजनेस बायर्स की कुल रजिस्ट्रेशन संख्या 70,000 से अधिक, 2000 से अधिक एक्सिबिटर्स और लगभग 70 देशों की प्रतिभागिता नये भारत के नये उ0प्र0 को प्रस्तुत कर रही

 

लखनऊ :  

भारत की राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मुर्मु  ने  ग्रेटर नोएडा, जनपद गौतमबुद्धनगर में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की उपस्थिति में यू0पी0 इण्टरनेशनल ट्रेड शो के प्रथम संस्करण का शुभारम्भ किया। यू0पी0 इण्टरनेशनल ट्रेड शो 21 से 25 सितम्बर, 2023 तक ग्रेटर नोएडा के इण्डिया एक्स्पो मार्ट में आयोजित किया जा रहा है।
राष्ट्रपति   ने यू0पी0 इण्टरनेशनल ट्रेड शो के शुभारम्भ कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश के उत्पादों को देश-विदेश के बाजारों तक पहुंचाने के लिए इस कार्यक्रम का आयोजन अत्यन्त सराहनीय है। उत्तर प्रदेश के विकास को निरन्तर ऊर्जा तथा दिशा प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी तथा उनकी पूरी टीम की सराहना करते हुए उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि यह ट्रेड शो उत्तर प्रदेश के निर्माताओं एवं उद्यमियों के लिए राष्ट्रीय एवं अन्तरराष्ट्रीय बाजार तथा अपनी पहुँच और पकड़ बनाने का एक सशक्त माध्यम बनेगा। उत्तर प्रदेश ने पिछले 06-07 वर्षों में देश के आर्थिक विकास को अपना विशिष्ट योगदान दिया है। राज्य की जी0डी0पी0 जो वर्ष 2016-17 में लगभग 13 लाख करोड़ रुपये थी, वह वर्ष 2022-23 में करीब 22 लाख करोड़ रुपये अनुमानित है। इकोनॉमिक ग्रोथ की यह उपलब्धि निस्संदेह सराहनीय है।
राष्ट्रपति   ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार ने हाल के वर्षों में आर्थिक विकास तथा निवेश में वृद्धि हेतु कई कदम उठाए हैं। इन्वेस्टमेण्ट अपॉर्चुनिटीज को सरल बनाने, व्यापार को सुगम बनाने और इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेण्ट को गति देने के परिणामस्वरूप उत्तर प्रदेश अब देश में सबसे तेजी से बढ़ती राज्य स्तर की अर्थव्यवस्थाओं में शामिल हो गया है। राज्यों के स्तर पर ऐसे उत्कृष्ट आर्थिक प्रदर्शन के बल पर ही भारत की अर्थव्यवस्था को विश्व की सबसे तेज गति से विकसित हो रही बड़ी अर्थव्यवस्था माना जाता है। आज भारत विश्व की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है और शीघ्र ही विश्व की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था का स्थान प्राप्त करने के लिए संकल्पबद्ध है। इस राष्ट्रीय संकल्प को सिद्ध करने में उत्तर प्रदेश की अर्थव्यवस्था का महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। उत्तर प्रदेश ने अपनी अर्थव्यवस्था को 01 ट्रिलियन डॉलर तक बढ़ाने का संकल्प लिया है। उन्होंने विश्वास व्यक्त करते हुए कहा कि भारत के 05 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने के लक्ष्य में उत्तर प्रदेश की सरकार और यहाँ के लोग महत्वपूर्ण योगदान देंगे।
राष्ट्रपति   ने कहा कि इसी वर्ष फरवरी में आयोजित यू0पी0 ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट में सम्मिलित हुई थीं। उन्हें अवगत कराया गया है कि उस समिट में बहुत बड़े पैमाने पर पूंजी निवेश के प्रस्ताव प्राप्त हुए हैं। उन प्रस्तावों को मूर्त रूप प्रदान करने के लिए राज्य सरकार द्वारा अनेक प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने इन प्रयासों की सफलता के लिए अपनी शुभकामनाएं दीं। उन्होंने कहा कि इस ट्रेड शो में 2,000 से अधिक निर्माता अपने उत्पादों को प्रदर्शित कर रहे हैं। स्थापित औद्योगिक घरानों से लेकर नए उद्यमियों तक, विभिन्न श्रेणियों के उद्यमियों के उत्पाद यहाँ उपलब्ध हैं।
राष्ट्रपति जी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में एम0एस0एम0ई0 के लिए अच्छा ईको-सिस्टम विकसित किया जा रहा है। 96 लाख से अधिक एम0एस0एम0ई0 इकाइयों के साथ उत्तर प्रदेश सभी राज्यों में पहले नम्बर पर है। लैण्ड लॉक्ड स्टेट होने के बावजूद प्रदेश का निर्यात निरन्तर बढ़ रहा है। राज्य का निर्यात वर्ष 2017-18 में लगभग 88,000 करोड़ रुपए से बढ़कर वर्ष 2022-23 में लगभग 1,75,000 करोड़ रुपए तक पहुँच गया है। यह प्रदेश के उद्यमियों की मेहनत तथा योग्यता का परिणाम है।
राष्ट्रपति   ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि विभिन्न देशों के दूतावासों के प्रतिनिधि भी यू0पी0 इण्टरनेशनल ट्रेड शो में उपस्थित हैं, जिनके माध्यम से यहां के उत्पादों की वैश्विक बाजार तक पहुंच बनाने का रास्ता सुगम हो सकेगा। विश्व के विभिन्न हिस्सों से 66 देशों के 400 से अधिक बायर्स भी इस ट्रेड शो में भाग ले रहे हैं। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि उत्तर प्रदेश का यह इण्टरनेशनल ट्रेड शो, जी-20 के लक्ष्यों के अनुरूप हमारी राष्ट्रीय और अन्तरराष्ट्रीय प्राथमिकताओं को आगे बढ़ाएगा।
राष्ट्रपति   ने कहा कि इस आयोजन में राज्य के ‘एक जनपद एक उत्पाद’ से सम्बन्धित विभिन्न उत्पादों का प्रदर्शन सराहनीय है। हस्तशिल्प पर आधारित उत्पादों के साथ-साथ राज्य के युवा उद्यमियों, विशेषकर महिला उद्यमियों द्वारा भी अपने उत्पादों का प्रदर्शन किया जा रहा है। यह अच्छी बात है कि उद्यमशीलता और श्रम शक्ति में महिलाओं की भागीदारी बढ़ रही है, लेकिन इसे और अधिक बढ़ाने की जरूरत है।
राष्ट्रपति   ने कहा कि प्रदेश के 54 जी0आई प्रोडक्ट्स की प्रदर्शनी का भी इस ट्रेड शो में आयोजन किया जा रहा है। ऐसे उत्पादों और उनसे जुड़े क्षेत्रों को देश-विदेश के सामने प्रस्तुत किया जाना सराहनीय कदम है। उन्होंने कहा कि यह इण्टरनेशनल ट्रेड शो उत्तर प्रदेश की विकास यात्रा में मील का पत्थर साबित होगा।
राष्ट्रपति  ने कहा कि हाल ही में सम्पन्न हुए जी-20 सम्मेलन की सफलता से पूरा विश्व समुदाय प्रभावित है। उत्तर प्रदेश में भी आगरा, लखनऊ, वाराणसी और इसी ग्रेटर नोएडा में जी-20 के मुद्दों पर आयोजन किए गए थे। जैसा कि सभी जानते हैं, जी-20, अन्तरराष्ट्रीय आर्थिक सहयोग का सबसे बड़ा मंच है। विश्व की कुल जी0डी0पी0 का 85 प्रतिशत और ट्रेड का 75 प्रतिशत हिस्सा जी-20 के देशों में होता है। इस बार के सर्वसम्मति से अपनाए गए जी-20 डिक्लरेशन में ‘अनलॉकिंग ट्रेड फॉर ग्रोथ’ के अन्तर्गत ‘लोकल वैल्यु क्रिएशन’ और एम0एस0एम0ई0 के सामने आने वाली चुनौतियों को पहचानने तथा एम0एस0एम0ई को अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर जोड़ने के लक्ष्यों को शामिल किया गया है।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ   ने राष्ट्रपति  का स्वागत करते हुए कहा कि देश को उनका नेतृत्व और मार्गदर्शन प्राप्त हो रहा है। राष्ट्रपति जी ने एक सामान्य परिवार से अपनी यात्रा को आगे बढ़ाते हुए समाज के अन्तिम पायदान पर बैठे हुए व्यक्ति की पीड़ा को देखा और महसूस किया है। इस पीड़ा के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व और मार्गदर्शन में उत्तर प्रदेश सरकार विगत 06 वर्षों में अपने परम्परागत कारीगरों, हस्तशिल्पियों और उद्यमियों को प्रोत्साहित करने के लिए अनेक कार्यक्रमों के साथ में आगे बढ़ी है। उन कार्यक्रमों की एक झलक इस इण्टरनेशनल ट्रेड शो के माध्यम से यहां पर आए हुए देश और दुनिया के बायर्स देख पाएंगे। उत्तर प्रदेश के पहले इण्टरनेशनल ट्रेड शो के उद्घाटन के लिए राष्ट्रपति जी का आगमन प्रदेश के 96 लाख से अधिक एम0एस0एम0ई0 उद्योगों को एक नई प्रेरणा और प्रकाश प्रदान करेगा।
मुख्यमंत्री  ने सभी एक्जीबिटर्स तथा बायर्स का स्वागत करते हुए कहा कि इस आयोजन की सफलता सभी की उपस्थिति के रूप में प्रदर्शित हो रही है। इस अवसर पर उत्तर प्रदेश को जानने तथा उसकी क्षमता को नजदीक से महसूस करने, यहां की सांस्कृतिक समृद्धि और समृद्ध आध्यात्मिक परम्परा को जानने का भी एक अवसर सभी को प्राप्त होगा। यह उत्तर प्रदेश का पहला इण्टरनेशनल ट्रेड शो है। प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन और प्रेरणा से उत्तर प्रदेश ने विगत 06 वर्षों में बीमारू राज्य से देश की अर्थव्यवस्था के एक समृद्ध राज्य की ओर कदम बढ़ाया है। इण्टरनेशनल ट्रेड शो इस समृद्धि को शोकेस करने का एक अवसर है।
मुख्यमंत्री   ने कहा कि उत्तर प्रदेश के पोटेंशियल को आगे बढ़ाने के लिए विगत 06 वर्षों में अनेक अभियान राज्य में प्रारम्भ किए गए हैं। इनमें अपने परम्परागत उद्यमों को आगे बढ़ाने के लिए ‘एक जनपद, एक उत्पाद योजना’ भी शामिल है। प्रदेश के सभी 75 जनपदों का एक-एक यूनिक प्रोडक्ट है। प्रधानमंत्री जी ने परम्परागत हस्तशिल्पियों और कारीगरों को प्रोत्साहित करने के लिए विगत 17 सितम्बर को ‘पी0एम0 विश्वकर्मा योजना’ का शुभारम्भ किया है। उन्हीं की प्रेरणा से उत्तर प्रदेश पहले ही इस सम्बन्ध में अपने कार्यक्रम को आगे बढ़ा चुका था। आज यह अपने परम्परागत हस्तशिल्पियों तथा कारीगरों को सम्मानित करने का एक अभियान है।
मुख्यमंत्री  ने कहा कि परम्परागत उद्यमियों को सम्मानित करने का ही परिणाम है कि उत्तर प्रदेश में वर्तमान में 54 जी0आई0 प्रोडक्ट मौजूद हैं, जिनके 108 एक्जीबिटर्स इण्टरनेशनल ट्रेड शो में उपस्थित होकर अपनी कुशलता और कौशल का परिचय दे रहे हैं। इस इण्टरनेशनल ट्रेड शो की तैयारियां बहुत कम समय में की गई, लेकिन इसमें बिजनेस टू बिजनेस बायर्स के कुल रजिस्ट्रेशन की संख्या 70,000 से अधिक है। 2,000 से अधिक एक्सिबिटर्स इस ट्रेड शो में प्रतिभाग कर रहे हैं। इस इण्टरनेशनल ट्रेड शो में लगभग 70 देशों की प्रतिभागिता नये भारत के नये उत्तर प्रदेश को प्रस्तुत कर रही है।
मुख्यमंत्री   ने कहा कि वर्तमान उत्तर प्रदेश, नया उत्तर प्रदेश है। यहां हाईवे, एक्सप्रेस-वे, वॉटर-वे तथा एयरवेज़ के रूप में अच्छी कनेक्टिविटी है। उत्तर प्रदेश ने अपने पोटेंशियल को पहचाना है। उत्तर प्रदेश, देश का सबसे बड़ा श्रम बाजार होने के साथ-साथ सबसे बड़ा उपभोक्ता बाजार भी है। इसके माध्यम से प्रदेश आज अपने पोटेंशियल को आगे बढ़ाकर यहां के ‘स्केल को स्किल’ में बदलकर नये भारत के नए उत्तर प्रदेश के रूप में अपने आप को प्रस्तुत कर रहा है। यह इण्टरनेशनल ट्रेड शो उत्तर प्रदेश की उन्हीं भावनाओं का प्रतिनिधित्व कर रहा है, जो प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में विगत 06 वर्षों में उत्तर प्रदेश ने प्राप्त की है।
मुख्यमंत्री  ने कहा कि 05 दिनों तक चलने वाला यह ट्रेड शो अनेक कार्यक्रमों को लेकर आगे बढ़ेगा। इस इण्टरनेशनल एक्स्पो सेण्टर में पहली बार सम्भवतः इतनी बड़ी संख्या में एक्जीबिटर्स आए होंगे और पहली बार इतनी बड़ी संख्या में बिजनेस टू बिजनेस रजिस्ट्रेशन हुए होंगे। यह उत्तर प्रदेश के पोटेंशियल को दर्शाता है। 05 दिवसीय यह ट्रेड शो उत्तर प्रदेश को प्रधानमंत्री जी की मंशा के अनुरूप भारत की इकोनॉमी के ग्रोथ इंजन के रूप में प्रस्तुत करने में सफल होगा।
एम0एस0एम0ई0 मंत्री श्री राकेश सचान ने कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए कहा कि विगत 06 वर्षों से मुख्यमंत्री जी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश नित नई ऊंचाइयों को छू रहा है। उनके नेतृत्व में उत्तर प्रदेश का चौमुखी विकास हुआ है। यह एक अनूठा ट्रेड शो है, जिसमें उत्तर प्रदेश के सभी जनपदों के सभी सेक्टर के उद्यमियों द्वारा अपने उत्पादों का प्रदर्शन किया जा रहा है। सामान्यतः ऐसे ट्रेड शो किसी सेक्टर जैसे हैण्डीक्राफ्ट, वस्त्र, पर्यटन, इंजीनियरिंग इत्यादि के लिए लगाए जाते थे। यू0पी0 इण्टरनेशनल ट्रेड शो सभी सेक्टरों के उत्पाद को प्रदर्शित करेगा। रक्षा, कृषि, उद्योग, ई-कॉमर्स, शिक्षा, अवस्थापना, बैंकिंग एवं वित्तीय सेवाएं डेयरी प्रोडक्ट्स, हैण्डलूम, टेक्सटाइल के उत्पाद सहित विभिन्न सेक्टर की प्रदर्शनियां इस यू0पी0 इण्टरनेशनल ट्रेड शो का अहम हिस्सा हैं।
इस अवसर पर कृषि मंत्री श्री सूर्य प्रताप शाही, औद्योगिक विकास मंत्री श्री नन्द गोपाल गुप्ता ‘नन्दी’, मत्स्य मंत्री डॉ0 संजय निषाद, परिवहन राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री दयाशंकर सिंह, व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री कपिल देव अग्रवाल, लोक निर्माण राज्यमंत्री श्री बृजेश सिंह, अन्य जनप्रतिनिधिगण सहित मुख्य सचिव श्री दुर्गा शंकर मिश्रा, प्रदेश के अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त श्री मनोज कुमार सिंह, सूचना निदेशक श्री शिशिर तथा शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments