Thursday, February 29, 2024
HomePradeshUttar Pradeshभारत संकल्प यात्रा उनके विजन को धरातल पर उतारने का कार्य कर...

भारत संकल्प यात्रा उनके विजन को धरातल पर उतारने का कार्य कर रही-मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री ने  बरेली में विकसित भारत संकल्प यात्रा कार्यक्रम में
3,405 करोड़ रु0 की विभिन्न विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया
जनकल्याणकारी योजनाओं के लाभार्थियों को
प्रतीकात्मक चेक, चाभी, प्रमाण-पत्र आदि का वितरण
प्रधानमंत्री   का विजन ही हमारा मिशन, विकसित भारत संकल्प यात्रा
उनके विजन को धरातल पर उतारने का कार्य कर रही: मुख्यमंत्री
प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व एवं मार्गदर्शन में
आज हम सब एक नए भारत का दर्शन कर रहे
प्रधानमंत्री जी के वर्ष 2047 तक भारत को विकसित भारत बनाने
के लक्ष्य के लिए हम सभी को मिलकर कार्य करना होगा
एक्सप्रेस-वे, हाई-वे, एयरपोर्ट जैसी विकास की बड़ी-बड़ी परियोजनाएं तथा आई0आई0टी0, आई0आई0एम0, एम्स जैसे संस्थान आज भारत को नई पहचान दे रहे
गरीब कल्याणकारी योजनाओं में नए भारत ने नए मानक स्थापित किए
नाथ कॉरिडोर को जोड़ने वाले महत्वपूर्ण मार्ग के कार्यों को स्वीकृति
श्रीकाशी विश्वनाथ धाम, केदारनाथ धाम, महाकाल का महालोक, अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मन्दिर
का निर्माण जैसे कार्य भारत की विरासत को सम्मान देने के कार्य
500 वर्षों के संघर्ष के उपरान्त आगामी 22 जनवरी को प्रधानमंत्री जी के
कर-कमलों से अयोध्या में भगवान श्रीराम की उनके नव्य एवं भव्य मन्दिर
में प्राण तिष्ठा की जाएगी, 22 जनवरी को सार्वजनिक अवकाश होगा
14 से 21 जनवरी तक हमारा एक ही कार्यक्रम-स्वच्छता का कार्यक्रम हो
अपने गांव, नगर व मोहल्ले में स्वच्छता कार्यक्रमों से जुड़कर प्लास्टिक फ्री क्षेत्र बनाएं
हमारा प्रयास होना चाहिए 16 जनवरी से हर देव स्थान में राम नाम जाप हो,
अखण्ड रामायण के पाठ की तैयारी करें, गांव में रामलीलाओं का मंचन करें
उ0प्र0 को देश की अग्रणी अर्थव्यवस्था के रूप में
स्थापित करने की दिशा में कार्य किया जा रहा
उ0प्र0 आज देश का सबसे प्रोग्रेसिव स्टेट बनकर उभरा
मुख्यमंत्री ने सर्किट हाउस में नाथ कॉरिडोर के मॉडल का अवलोकन किया
मुख्यमंत्री ने बरेली स्मार्ट सिटी के अन्तर्गत स्पोट्र्स स्टेडियम
प्रांगण में निर्मित मल्टी स्पोट्र्स इण्डोर स्टेडियम का उद्घाटन किया
लखनऊ:  
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  ने कहा है कि प्रधानमंत्री   नरेन्द्र मोदी  का विजन ही हमारा मिशन है। विकसित भारत संकल्प यात्रा प्रधानमंत्री जी के विजन को धरातल पर उतारने का कार्य कर रही है। प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व एवं मार्गदर्शन में आज हम सब एक नए भारत का दर्शन कर रहे हैं। एक ऐसा नया भारत जो वैश्विक स्तर पर चलता है, तो दुनिया उसका अनुसरण करती है। नए भारत पर पूरी दुनिया गौरव की अनुभूति करती है। यह नया भारत 140 करोड़ की आबादी के गौरव और सम्मान को बढ़ाता है। प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में पूरा भारत आज अपने आपको सुरक्षित महसूस करता है।
मुख्यमंत्री  बरेली में विकसित भारत संकल्प यात्रा कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर उन्होंने जनपद के विकास से सम्बन्धित 3,405 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। उन्होंने विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं के लाभार्थियों को आवास की प्रतीकात्मक चाभी, प्रमाण-पत्र आदि का वितरण भी किया।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि विकास की योजनाओं का लाभ बिना भेदभाव के पात्र लोगों को मिल रहा है। एक्सप्रेस-वे, हाई-वे, एयरपोर्ट जैसी विकास की बड़ी-बड़ी परियोजनाएं तथा आई0आई0टी0, आई0आई0एम0, एम्स जैसे संस्थान आज भारत को नई पहचान दे रहे हैं। स्मार्ट सिटी की परियोजना हो या हर घर नल की परियोजना विकास की अनेक परियोजनाएं संचालित हैं। पूरी दुनिया इस नए भारत के विकास से अभिभूत है।
मुख्यमंत्री   ने कहा कि गरीब कल्याणकारी योजनाओं में नए भारत ने नए मानक स्थापित किए हैं। साथ ही, लोगों को हुए लाभ को ‘मेरी कहानी मेरी जुबानी’ के माध्यम से जनता-जनार्दन के सामने रखने का अवसर विकसित भारत संकल्प यात्रा दे रही है। उन्होंने कहा कि ऐसे पात्र व्यक्ति जिन्हें किसी योजना का लाभ नहीं मिला है, वह योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए रजिस्ट्रेशन कराएं। सरकार आने वाले समय में 100 परसेण्ट सेचुरेशन के लक्ष्य को प्राप्त करने की दिशा में कार्य करेगी।
मुख्यमंत्री  ने कहा कि सरकार का बिना भेदभाव के गरीबों तक शासन की योजनाओं का लाभ पहुंचाने का लक्ष्य है। अब चेहरा देखकर योजनाओं का लाभ नहीं दिया जाता, यदि विकास गाजियाबाद, नोएडा, वाराणसी, गोरखपुर, अयोध्या, प्रयागराज, लखनऊ में होगा, तो बरेली को विकास से कोई वंचित नहीं कर सकता। काशी में श्रीकाशी विश्वनाथ धाम कॉरिडोर बनता है, प्रयागराज में कुम्भ कॉरिडोर, अयोध्या में अयोध्या धाम का कॉरिडोर बनता है, तो बरेली में नाथ कॉरिडोर को हम फाइनल रूप देने के लिए आए हैं। नाथ कॉरिडोर को जोड़ने वाले महत्वपूर्ण मार्ग के कार्यों को स्वीकृति प्रदान की जा चुकी है। शीघ्र ही इन निर्माण कार्यों का लोकार्पण किया जाएगा। जनपद बरेली की हजारों करोड़ों रुपये की सड़क, बिजली, पेयजल, शिक्षा, स्मार्ट सिटी मिशन आदि से जुड़ी यह परियोजनाएं जनपद के विकास को गति प्रदान करेंगी और रोजगार के अवसर बढ़ाएंगी।
मुख्यमंत्री   ने कहा कि प्रधानमंत्री जी के वर्ष 2047 तक भारत को विकसित भारत बनाने के लक्ष्य के लिए हम सभी को मिलकर कार्य करना होगा। इस विकसित भारत में हर नौजवान के हाथों में रोजगार हो, हर किसान खुशहाल हो, हर बहन बेटी अपने आप को सुरक्षित महसूस कर सके, हर व्यापारी अपने व्यापार के माध्यम से देश की प्रगति में मजबूती के साथ सहभागी बने, इसके लिए भारत के हर नागरिक को अपने कर्तव्यों का निर्वहन करना होगा। जब हम सभी मिलकर प्रयास करेंगे, तो विकसित भारत बनने से दुनिया की कोई ताकत रोक नहीं सकती। प्रधानमंत्री जी के पंचप्रण की विकसित भारत के संकल्प की सिद्धि में महत्वपूर्ण भूमिका है।
प्रधानमंत्री  ने आत्मनिर्भर भारत के लिए ‘लोकल फॉर वोकल’ का मंत्र दिया। हमें अपने स्थानीय उत्पादन को प्रमोट करना होगा। स्थानीय हस्तशिल्प को सम्मान देना होगा। स्थानीय कारीगर के कार्य को महत्व देना होगा। इसके दृष्टिगत ही वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट योजना, पी0एम0 विश्वकर्मा योजना व विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना लागू की गई हैं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि गुलामी के अंशों को समाप्त करते हुए हमें गुलामी की मानसिकता से निकलना होगा। हमारा उत्पाद सबसे अच्छा है, हमारा सामान सर्वोत्कृष्ट है, इसका विश्वास रखना होगा तथा यदि कहीं कोई कमी है, तो उसका परिमार्जन करके उसको उत्कृष्ट बनाने की दिशा में कार्य करना होगा।
मुख्यमंत्री   ने कहा कि पंचप्रणों में अपनी विरासत पर गौरव की अनुभूति करना शामिल है। आजादी के अमृत महोत्सव वर्ष में हर घर तिरंगा कार्यक्रम सफलतापूर्वक आयोजित किया गया। स्वतंत्रता सेनानियों के परिजनों तथा देश के रक्षा कार्य से जुड़े वीरों व उनके परिजनों को सम्मानित करने का कार्य किया गया। साथ-साथ अपनी पौराणिक पहचान को बनाए रखने के लिए कार्य किया गया। श्रीकाशी विश्वनाथ धाम, केदारनाथ धाम, महाकाल का महालोक, अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मन्दिर का निर्माण जैसे कार्य भारत की विरासत को सम्मान देने के कार्य हैं। आज पूरी दुनिया अयोध्या आना चाहती है। 500 वर्षों के संघर्ष के उपरान्त आगामी 22 जनवरी को प्रधानमंत्री जी के कर-कमलों से अयोध्या में भगवान श्रीराम की उनके नव्य एवं भव्य मन्दिर में प्राण प्रतिष्ठा की जाएगी। 22 जनवरी को भगवान श्रीराम के भव्य मन्दिर की प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम की तैयारी चल रही है। इस आयोजन से देश और दुनिया के सनातन धर्मावलम्बियों को गौरव की अनुभूति होगी तथा उसके चेहरे पर खुशहाली होगी। दुनिया में जहां कहीं भी सभ्यता और संस्कृति को कुचला गया होगा, 22 जनवरी का कार्यक्रम उनके लिए एक आस, एक नया विश्वास है।
मुख्यमंत्री   ने सभी लोगों से इस आयोजन से जुड़ने की अपील करते हुए कहा कि 22 जनवरी का यह प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव हम सभी अपने तरीके से सम्पन्न करें। 14 जनवरी से लेकर 21 जनवरी तक हमारा एक ही कार्यक्रम होना चाहिए-स्वच्छता का कार्यक्रम। अपने गांव, नगर एवं मोहल्ले में स्वच्छता के कार्यक्रमों से जुड़कर वहां प्लास्टिक फ्री क्षेत्र बनाएं। कहीं भी कूड़ा-कचरा न हो। जैसे दीपावली के पहले हम सब अपने घरों की साफ-सफाई करते हैं, वैसे ही अपने नगर को साफ रखेंगे। हमारे प्रभु अयोध्या में विराजमान हो रहे हैं। मेरे घर, गांव, नगर में विराजमान होंगे, इस दृष्टि से स्वच्छता के लक्ष्य को प्राप्त करना होगा।
मुख्यमंत्री   ने कहा कि हमारा प्रयास होना चाहिए 16 जनवरी से हर देव स्थान में राम नाम जाप हो, अखण्ड रामायण के पाठ की तैयारी करें। गांव में रामलीलाओं का मंचन करें और 22 जनवरी के कार्यक्रम को स्क्रीन लगाकर लाइव देखें। 22 जनवरी को सार्वजनिक अवकाश होगा। सार्वजनिक अवकाश के दिन सभी लोग प्राण प्रतिष्ठा के कार्यक्रम को लाइव देखें। अपने-अपने नगर में भण्डारे का आयोजन करें। अपने घर, मन्दिर, सार्वजनिक स्थानों पर दीप प्रज्ज्वलित करें। दीपोत्सव के दीप के माध्यम से नए भारत की नई दीपावली मनाकर राष्ट्रीय पर्व के रूप में हम लोग 22 जनवरी के कार्यक्रम के साथ जुड़ेंगे, तो आने वाली पीढ़ियांे के लिए एक नई प्रेरणा होगी। यह प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में एक नए भारत को दुनिया की सबसे बड़ी ताकत के रूप में स्थापित करेगा।
मुख्यमंत्री   ने कहा कि प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में नए भारत के नए उत्तर प्रदेश में लोगों को त्रेता युगीन अयोध्या के दर्शन मिलेंगे। प्रधानमंत्री जी ने विगत 30 दिसम्बर को अयोध्या के विकास से जुड़ी परियोजनाओं का लोकार्पण किया है। आज अयोध्या में 4-लेन कनेक्टिविटी है। डबल गेज की डबल लाइन पहुंच चुकी है। एयर कनेक्टिविटी के लिए एयरपोर्ट बन चुका है। अयोध्या को इनलैण्ड वाॅटर-वे के साथ जोड़ने की तैयारी चल रही है। अयोध्या की कनेक्टिविटी बेहतरीन कर दी गई है। जहां से भी लोग अयोध्या में श्रद्धा भाव के साथ आएंगे, सम्मान के साथ प्रभु श्रीराम का आशीर्वाद प्राप्त करके जाएंगे। यही विरासत का सम्मान है।
मुख्यमंत्री   ने कहा कि उत्तर प्रदेश को देश की अग्रणी अर्थव्यवस्था के रूप में स्थापित करने की दिशा में कार्य किया जा रहा है। हमारे नागरिक कर्तव्य भी पंचप्रण में शामिल हैं। नेशन फस्र्ट की भावना हम सभी में होनी चाहिए। हर काम देश के नाम। पहले देश, फिर समाज, फिर परिवार, फिर अंत में अपने को रखने की भावना होनी चाहिए। हम सभी भारत को विकसित भारत बनाने में अपना योगदान दें, विकसित भारत संकल्प यात्रा का यही संकल्प है और इसी संकल्पना के साथ यह कार्यक्रम आगे बढ़ रहा है। वर्ष 2017 के पूर्व उत्तर प्रदेश में ऐसी स्थिति थी कि बरेली सहित प्रदेश के अन्य स्थानों में कफ्र्यू लगता था। विगत 07 वर्षों में बरेली में कहीं कफ्र्यू नहीं लगा। आज कफ्र्यू की जगह कावड़ यात्रा संचालित होती है।
मुख्यमंत्री   ने कहा कि विगत 06 वर्षों में प्रदेश सरकार ने 06 लाख सरकारी नौकरी युवाओं को प्रदान की है। एक करोड़ 75 लाख से अधिक नौजवानों को निजी क्षेत्र में नौकरी दी है। दम तोड़ते एम0एस0एम0ई0 सेक्टर को पुनर्जीवित करके उसे एक ब्राण्ड बनाने का कार्य किया गया है। आज पूरे देश में ओ0डी0ओ0पी0 की बात हो रही है। पहले बेटी स्कूल और मार्केट नहीं जा पाती थी, क्योंकि शरारती लोगों को प्रश्रय मिलता था। जो लोग बहन और बेटी की सुरक्षा के लिए खतरा बने हुए थे, आज उत्तर प्रदेश पुलिस उनके लिए खतरा बनी हुई है। आज हर व्यक्ति के चेहरे पर खुशी देखने को मिलती है। उत्तर प्रदेश आज देश का सबसे प्रोग्रेसिव स्टेट बनकर उभरा है।
ज्ञातव्य है कि आज जिन परियोजनाओं का लोकार्पण किया गया, उनमें 133.28 करोड़ रुपये की लागत से बरेली स्मार्ट सिटी लि0 द्वारा लगभग 14 कि0मी0 की सड़कों का निर्माण एवं 114.03 करोड़ रुपये की लागत से अण्डरग्राउण्ड इलेक्ट्राॅनिक केबिल, 400 सीटेड ऑडीटोरियम आदि अन्य विभिन्न विकास कार्य, बरेली विकास प्राधिकरण द्वारा 137.39 करोड़ रुपये की लागत से महानगर के प्रमुख मार्गों का चैड़ीकरण, सुदृढ़ीकरण, डिवाइडर आदि का कार्य, लोक निर्माण विभाग द्वारा 71.54 करोड़ रुपये की लागत से विभिन्न मार्गों का चैड़ीकरण/सुदृढ़ीकरण का कार्य सम्मिलित हैं।
शिलान्यास की गई परियोजनाओं में 2275.48 करोड़ रुपये की लागत से मुख्यमंत्री शहरी विस्तारीकरण/नये शहर प्रोत्साहन योजना के अन्तर्गत 238.0000 हेक्टेयर क्षेत्रफल में प्रस्तावित ग्रेटर बरेली आवासीय योजना, 16.72 करोड़ रुपये की लागत से नगर निगम द्वारा हॉटमिक्स सड़क निर्माण, तालाब का सौन्दर्यीकरण आदि कार्य सम्मिलित हैं।
इस अवसर पर वित्त मंत्री श्री सुरेश कुमार खन्ना, पशुधन एवं दुग्ध विकास मंत्री श्री धर्मपाल सिंह, वन एवं पर्यावरण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री अरुण कुमार सक्सेना सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण तथा शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
कार्यक्रम के उपरान्त, मुख्यमंत्री जी ने सर्किट हाउस में नाथ कॉरिडोर के मॉडल का अवलोकन किया। बरेली विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष ने मुख्यमंत्री जी को कॉरिडोर के बारे में विस्तार से जानकारी दी।
मुख्यमंत्री जी ने जनपद बरेली भ्रमण के दौरान बरेली स्मार्ट सिटी के अन्तर्गत स्पोट्र्स स्टेडियम प्रांगण में निर्मित मल्टी स्पोट्र्स इण्डोर स्टेडियम का उद्घाटन किया। उन्होंने बैडमिण्टन कोर्ट पर वित्त मंत्री श्री सुरेश कुमार खन्ना के साथ बैडमिण्टन भी खेला।
उल्लेखनीय है कि इस मल्टी स्पोर्टस इण्डोर स्टेडियम का निर्माण 10.69 करोड़ रुपये की लागत से किया गया है। इण्डोर स्टेडियम में बास्केट बाॅल, बैडमिण्टन, वॉलीबाॅल, जूडो, जिम्नास्टिक व टेबिल टेनिस आदि खेल की सुविधाएं उपलब्ध करायी गई हैं। इसमें अन्तरराष्ट्रीय स्तर के खेल उपकरण लगाए गए हैं। इसमें बरेली शहर के युवाओं को राष्ट्रीय एवं अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर प्रतिभाग करने हेतु अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त संसाधन मिलेंगे।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments