Friday, February 23, 2024
HomePradeshUttar Pradeshखेल मंत्री द्वारा खेल साथी ऐप का शुभारंभ

खेल मंत्री द्वारा खेल साथी ऐप का शुभारंभ

इस मौके पर ई स्पोटर््स से संबंधित स्ट्रेटजिक पार्ट्नर शिप और एमओयू पर हस्ताक्षर

‘खेल साथी’ ऐप पर खिलाड़ी घर बैठे खेल गतिविधियों से संबंधित सभी जानकारियांे एवं सुविधाओं का लाभ ले सकते हैं- गिरीश चन्द्र यादव

आज से उत्तर प्रदेश में ई-स्पोर्ट्स का आगाज हो रहा

प्रदेश में ई-स्पोर्ट्स मील का पत्थर साबित होगा और अतिरिक्त रोजगार सृजन में मदद मिलेगी-डा0 नवनीत सहगल

लखनऊ:
उत्तर प्रदेश के खेल एवं युवा कल्याण राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री गिरीश चन्द्र यादव ने आज के0डी0सिंह बाबू स्टेडियम में खेल साथी ऐप का शुभारंभ किया। इस मौके पर अपर मुख्य सचिव, खेल एवं युवा कल्याण डा0 नवनीत सहगल ने सिंगापुर की प्रसिद्ध गेम कंपनी सी. लिमिटेड (गरीना) के मुख्य परिचालन अधिकारी श्री ये0 गैंग के साथ ई स्पोटर््स से संबंधित स्ट्रेटजिक पार्ट्नरशिप और एमओयू पर हस्ताक्षर किये।
इस अवसर पर श्री यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में खिलाड़ियों की सुविधा के लिए ‘खेल साथी’ ऐप शुरू किया गया है। इस मोबाइल ऐप पर खिलाड़ी घर बैठे खेल गतिविधियों से संबंधित सभी जानकारियांे एवं सुविधाओं का लाभ ले सकते है। उन्होंने कहा कि ई-स्पोर्ट्स के लिए किये गये अनुबंध से खिलाड़ियों को आगे बढ़ने का मार्ग प्रशस्त होगा। प्रदेश में ई-स्पोर्ट्स का बड़ा इन्फ्रास्ट्रक्चर मिलने से खेलों को बढ़ावा मिलेगा।
डा0 नवनीत सहगल ने कहा कि आज से उत्तर प्रदेश में ई-स्पोर्ट्स का आगाज हो रहा है। नई खेल नीति में ई-स्पोर्ट्स को शामिल करने के बाद उत्तर प्रदेश देश का पहला ऐसा राज्य बन गया, जिसके कार्यक्रम में प्रदेश भर के युवाओं को ई-स्पोर्ट्स के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में ई-स्पोर्ट्स मील का पत्थर साबित होगा और अतिरिक्त रोजगार सृजन में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में ई-स्पोर्ट्स को बढ़ावा देने के लिए निजी क्षेत्र के साथ अनुबंध किया गया है। यह कंपनी हीरानंदानी गु्रप के साथ मिलकर ग्रेटर नोएडा में ई-स्पोर्ट्स सेंटर की स्थापना करेगी और ई-स्पोर्ट्स गेम्स का आयोजन करायेगी। इस वर्ष प्रदेश में ई-स्पोर्ट्स का बड़ा टूर्नामंेट भी कराया जायेगा।
अपर मुख्य सचिव ने कहा कि “यूपी लगातार खेल की राजधानी बन रहा है। ई स्पोर्ट्स में हमारा उज्जवल भविष्य है और हम उत्साहित हैं कि यह पहली बार है, जब गरीना जैसे वैश्विक ब्रांड ने टूर्नामेंट की मेजबानी के लिए यूपी को चुना। उन्होंने कहा कि हमने हाल ही में सबसे सफल खेलो इंडिया – यूनिवर्सिटी गेम्स, एशियन यूथ हैंडबॉल चैम्पियनशिप, कॉमनवेल्थ वेटलिफ्टिंग चैम्पियनशिप, और आईटीएफ मेन्स का सफल आयोजन किया और अब सितंबर में डेविस कप और मोटोजीपी की मेजबानी के लिए हम अपने आप को तैयार कर रहे हैं। आज प्रदेश में खेल वास्तव में राज्य की सॉफ्ट पावर बन गया है।”

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments