Monday, October 2, 2023
HomePradeshUttar Pradesh  कल्याण सिंह की द्वितीय पुण्यतिथि के अवसर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन

  कल्याण सिंह की द्वितीय पुण्यतिथि के अवसर श्रद्धांजलि सभा का आयोजन

गृह एवं सहकारिता मंत्री, भारत सरकार एवं प्रदेश
के मुख्यमंत्री ने स्व0 श्री कल्याण सिंह जी को श्रद्धांजलि दी
स्व0 श्री कल्याण सिंह जी में वैचारिक कर्मठता, प्रशासनिक क्षमता, संगठन
दक्षता और पिछड़ों व गरीबों के प्रति असीम संवेदनशीलता थी : केन्द्रीय गृह मंत्री
बाबूजी ने सदैव पिछड़े वर्ग को आगे बढ़ाने का कार्य किया
श्रद्धेय श्री कल्याण सिंह जी की द्वितीय पुण्यतिथि के अवसर
पर आज हम सभी ’हिन्दू गौरव दिवस’ का शुभारम्भ कर रहे : मुख्यमंत्री
 प्रदेश में सुरक्षा और सुशासन का माहौल किस प्रकार का होना
चाहिए, वर्ष 1991 में बाबू जी के नेतृत्व में बनी सरकार के
समय प्रदेशवासियों को इस बात का एहसास हुआ था
’वन डिस्ट्रिक्ट-वन प्रोडक्ट’ योजना से
जनपद अलीगढ़ को वैश्विक मान्यता प्राप्त हो रही
बाबूजी ने अपना जीवन एकात्म मानववाद के अनुसार जिया
राज्य सरकार ने स्व0 श्री कल्याण सिंह जी की प्रथम पुण्यतिथि के अवसर पर
उ0प्र0 के सबसे बड़े कैंसर संस्थान का नाम उनके नाम पर करने का कार्य किया
प्रधानमंत्री जी की प्रेरणा और मार्गदर्शन से जनपद बुलन्दशहर में बाबूजी के
नाम पर राजकीय मेडिकल कॉलेज के निर्माण का कार्य युद्धस्तर पर चल रहा
बाबूजी ने सदैव गरीबों और पिछड़ों के उद्धार के लिए कार्य किया : श्री ब्रजेश पाठक
आज हम सभी का सौभाग्य है कि बाबूजी द्वारा किये गये कार्यों के चलते
भव्य श्रीराम जन्मभूमि मन्दिर का निर्माण हो रहा : श्री केशव प्रसाद मौर्य
श्रद्धांजलि सभा में अतिथियों द्वारा स्व0 श्री कल्याण
सिंह जी को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गयी
लखनऊ :  
गृह एवं सहकारिता मंत्री, भारत सरकार  अमित शाह  एवं प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ   ने  द अलीगढ़ में प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं राजस्थान व हिमाचल प्रदेश के पूर्व राज्यपाल स्व0 श्री कल्याण सिंह जी की द्वितीय पुण्यतिथि के अवसर उन्हें श्रद्धांजलि दी।
इस अवसर पर केन्द्रीय गृह मंत्री ने श्रद्धांजलि सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि स्व0 श्री कल्याण सिंह जी में वैचारिक कर्मठता, प्रशासनिक क्षमता, संगठन दक्षता और पिछड़ों व गरीबों के प्रति असीम संवेदनशीलता थी। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने श्रीराम जन्मभूमि मन्दिर का शिलान्यास किया तो स्व0 बाबूजी ने कहा कि मेरा जीवन धन्य हो गया और लक्ष्य भी पूरा हो गया। उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनने पर स्व0 कल्याण सिंह जी ने तीन बातों को लक्ष्य बनाया। श्रीराम जन्मभूमि आन्दोलन को गति देना, गरीब कल्याण के विचार को धरातल पर उतारना और सामाजिक सद्भाव स्थापित करते हुए जातिवाद को समाप्त कर करोड़ों पिछड़े वर्ग के लोगों का कल्याण करना। आज प्रधानमंत्री जी स्व0 कल्याण सिंह जी के इन लक्ष्यों को आगे ले जा रहे हैं।
केन्द्रीय गृह मंत्री   ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने करोड़ों गरीबों को गैस कनेक्शन, बिजली कनेक्शन, शौचालय, पेयजल, स्वास्थ्य एवं खाद्यान्न सुविधाएं प्रदान करने के साथ ही, अन्य योजनाओं के माध्यम से गरीब कल्याण के लक्ष्य को पूरा किया है। बाबूजी ने सदैव पिछड़े वर्ग को आगे बढ़ाने का कार्य किया। प्रधानमंत्री जी ने भी राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा, नीट की परीक्षा, नवोदय विद्यालय एवं सैनिक स्कूलों में आरक्षण की सुविधा प्रदान की। उन्होंने पिछड़ा समाज के उद्यमियों के लिए नेशनल पेंशन फण्ड की स्थापना की।
केन्द्रीय गृह मंत्री   ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने कोर्ट में निर्णय आने के बाद भव्य श्रीराम जन्मभूमि मन्दिर निर्माण के लिए भूमि पूजन किया। कोर्ट के निर्णय के परिणामस्वरूप प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में वर्ष 2024 के प्रारम्भ में 550 वर्ष बाद श्रीरामलला अपने भव्य मन्दिर में विराजमान होंगे। प्रधानमंत्री जी ने गरीब कल्याण, पिछड़ों का सम्मान और राम मन्दिर के अधूरे कार्य को विगत 09 वर्षां में अंजाम तक पहुंचाने का कार्य किया है।
केन्द्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्री श्री पीयूष गोयल ने कहा कि प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व एवं केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह जी की रणनीति के चलते धारा 370 को हटाकर कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग बनाया गया। अब देश विश्व गुरू बनने की ओर अग्रसर है।
मुख्यमंत्री   ने कहा कि श्रद्धेय श्री कल्याण सिंह जी की द्वितीय पुण्यतिथि के अवसर पर आज हम सभी ’हिन्दू गौरव दिवस’ का शुभारम्भ कर रहे हैं। प्रदेश में सुरक्षा और सुशासन का माहौल किस प्रकार का होना चाहिए, वर्ष 1991 में बाबू जी के नेतृत्व में बनी सरकार के समय प्रदेशवासियों को इस बात का एहसास हुआ था। आज विश्व उद्यमिता दिवस एवं नाग पंचमी पर्व का अद्भुत संगम है। प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व में देश के उद्यमियों ने आज भारत को मेक इन इण्डिया के एक बेहतरीन केन्द्र के रूप में स्थापित किया है। उत्तर प्रदेश विशेष रूप से सौभाग्यशाली है कि वर्ष 1991 में बाबूजी ने यहां के उद्यमियों को एक नई पहचान देने के लिए जनपद अलीगढ़ में तालानगरी की स्थापना की थी।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में प्रदेश सरकार ने राज्य के परम्परागत उद्यम को बढ़ावा देने और प्रदेश के इण्डस्ट्री सेक्टर को नई पहचान दिलाने के लिए ’वन डिस्ट्रिक्ट-वन प्रोडक्ट’ योजना शुरू की। इस योजना से जनपद अलीगढ़ की पहचान को वैश्विक मान्यता प्राप्त हो रही है। स्व0 बाबूजी पं0 दीनदयाल उपाध्याय जी के एकात्म मानववाद के सम्बन्ध में कहते थे कि ’पेट को आहार, मन को प्यार, मतिष्क को विचार, और आत्मा को संस्कार’ इन चारों का समुच्चय ही एकात्म मानववाद है। बाबूजी ने अपना जीवन एकात्म मानववाद के अनुसार जिया। इन संस्कारों के परिणामस्वरूप ही बाबूजी ने अपने लिए राजगद््दी का उपभोग करने के स्थान पर त्याग को चुना। आज अयोध्या में भगवान श्रीराम का भव्य मन्दिर बन रहा है।
मुख्यमंत्री  ने कहा कि जब अपार जनसमूह की ताकत एक साथ होती है, तो बड़े से बड़े कार्य को आसानी से होने में देर नहीं लगती। आज जहां अयोध्या में भव्य श्रीराम मन्दिर बन रहा है, वहीं काशी में श्री काशी विश्वनाथ धाम और प्रदेश भर में विकास की अनेक बड़ी परियोजनाएं, जिनकी कभी कल्पना भी नहीं की गयी थी, वह आज मूर्त रूप ले रही हैं। राज्य सरकार ने स्व0 श्री कल्याण सिंह जी की प्रथम पुण्यतिथि के अवसर पर उत्तर प्रदेश के सबसे बड़े कैंसर संस्थान का नाम उनके नाम पर करने का कार्य किया। प्रधानमंत्री जी की प्रेरणा और मार्गदर्शन से जनपद बुलन्दशहर में बाबूजी के नाम पर राजकीय मेडिकल कॉलेज के निर्माण का कार्य युद्धस्तर पर चल रहा है। अगले सत्र में इस मेडिकल कॉलेज में प्रवेश की प्रक्रिया सम्पन्न होकर बुलन्दशहर और इसके आस-पास के नौजवानों को अध्ययन की सुविधा प्राप्त होगी।
इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री श्री ब्रजेश पाठक ने बाबूजी को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि उन्होंने सदैव गरीबों और पिछड़ों के उद्धार के लिए कार्य किया। प्रधानमंत्री जी श्रीराम जन्मभूमि मन्दिर का निर्माण पूरा कराकर बाबूजी के सपने को साकार कर रहे हैं।
उप मुख्यमंत्री   केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि आज हम सभी का सौभाग्य है कि बाबूजी द्वारा किये गये कार्यों के चलते भव्य श्रीराम जन्मभूमि मन्दिर का निर्माण हो रहा है।
लोक निर्माण मंत्री श्री जितिन प्रसाद ने कहा कि बाबूजी ने देश की राजनीति में अपने विचार एवं संकल्प से अमिट छाप छोड़ी है। यहां उमड़ा अपार जनसमूह इस बात का प्रतीक है कि बाबूजी ने निःस्वार्थ भाव से जनसेवा की है।
परिवहन मंत्री श्री दयाशंकर सिंह ने बाबूजी के साथ अपने अनुभव बताते हुए कहा कि लखनऊ यूनिवर्सिटी में विद्यार्थी परिषद के अध्यक्ष पद की शपथ बाबूजी ने ही दिलाई और उनके राजनैतिक जीवन की शुरूआत हुई।
गन्ना विकास एवं चीनी मिलें मंत्री श्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने कहा कि भव्य श्रीराम जन्मभूमि मन्दिर निर्माण की बुनियाद का श्रेय बाबूजी को ही जाता है, वह सदैव अपनी बात पर अडिग रहते थे।
इससे पूर्व, श्रद्धांजलि सभा में वैदिक मंत्रोच्चार के बीच अतिथियों द्वारा श्रद्धेय बाबूजी श्री कल्याण सिंह जी के चित्र पर श्रद्धासुमन अर्पित करते हुए भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गयी।
इस अवसर पर केन्द्रीय एवं राज्य सरकार के विभिन्न मंत्री सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण तथा शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments