Sunday, October 2, 2022
HomeIndiaWarship Taragiri: भारतीय नौसेना होगी और ताकतवर, बेड़े में आज शामिल हो...

Warship Taragiri: भारतीय नौसेना होगी और ताकतवर, बेड़े में आज शामिल हो रहा जंगी जहाज ‘तारागिरी‘, जानिए इसके फीचर्स


Image Source : REPRESENTATIVE IMAGE
Warship Taragiri

Highlights

  • इसकी गति 28 समुद्री मील
  • मैक्सिमम 59 किमी प्रतिघंटा की गति
  • कुल 7 जहाज अभी हैं निर्माणाधीन

Warship Taragiri: भारतीय सेना लगातार मजबूत हो रही है। आईएनएस विक्रांत को हाल ही में पीएम मोदी ने लॉन्च किया। अब दुश्मनों को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए भारतीय नौसेना को एक और ताकतवर जंगी जहाज मिलने जा रहा है। भारतीय सेना को आधुनिक हथियारों से सुसज्जित किया जा रहा है। मिसाइल और हेलिकॉप्टर्स भी जंगी बेड़े में शामिल हो रहे हैं। भारत के पहले स्वदेशी विमानवाहक पोत आईएनएस विक्रांत को दो सितंबर को ही भारतीय नौसेना को सौंपा गया है। विक्रांत की भव्य कमीशनिंग पर उत्साह अभी खत्म भी नहीं हुआ है और देश 11 सितंबर को भारतीय नौसेना का स्वदेशी स्टील्थ फ्रिगेट ‘तारागिरी‘ लॉन्च होने के लिए तैयार है। लॉन्चिंग इवेंट मुंबई के मझगांव डॉक शिपबिल्डर्स लिमिटेड में होगा।

प्रोजेक्ट 17ए फ्रिगेट्स का पांचवा जहाज

पश्चिम नौसेना कमान के फ्लैग आफिसर कमांडिंग वाइस एडमिरल अजेंद्र बहादुर सिंह लॉन्चिंग प्रोग्राम के चीफ गेस्ट होंगे। तारागिरी, यह नाम गढ़वाल में स्थित हिमालय के एक पहाड़ी श्रृंखला के नाम पर रखा गया है। यह प्रोजेक्ट 17ए फ्रिगेट्स का पांचवा जहाज है। यह जहाज पी17 फ्रिगेट्स शिवालिक क्लास का उन्नत संस्करण हैं और यह बेहतर स्टील्थ फीचर्स अत्याधुनिक हथियार और सेंसर और प्लेटफॉर्म मैनेजमेंट सिस्टम से लैस है। तारागिरी पूर्ववर्ती तारागिरी, लिएंडर क्लास एएसडब्ल्यू फ्रिगेट का पुनर्निर्माण है। पूर्ववर्ती तारागिरी जहाजों ने 16 मई 1980 से 27 जून, 2013 तक तीन दशकों के दौरान राष्ट्र के प्रति अपनी शानदार सेवा में कई चुनौतीपूर्ण ऑपरेशन देखे हैं।

कुल 7 जहाज अभी हैं निर्माणाधीन

पीए 17ए कार्यक्रम के तहत, एमडीएल में 04 और जीआरएसई में 03 समेत कुल सात जहाज निर्माणाधीन हैं। 2019 और 2022 के बीच अब तक चार पी17ए प्रोजेक्ट शिप लॉन्च किए जा चुके हैं।पी17ए जहाजों को भारतीय नौसेना के युद्धपोत डिजाइन ब्यूरो द!वारा इन हाउस डिजाइन किया गया है।भारतीय नौसेना के तीसरे स्टील्थ फ्रिगेट तारागिरी को प्रोजेक्ट 17ए के तहत तैयार किया जा रहा है। इस युद्धपोत में करीब 75 फीसदी स्वदेशी उपकरणों का इस्तेमाल किया गया है।

युद्धपोत ‘तारागिरी‘ की क्या है खासियत

भारतीय नौसेना में शामिल हो रहा तारागिरी जहाज 3510 टन वजनी है। तारागिरी 149 मीटर लंबा और 17.8 मीटर चौड़ा है और यह दो गैस टर्बाइन व दो मुख्य डीजल इंजनों के मेल से संचालित किया जाएगा। 

कितनी है इस जंगी जहाज की स्पीड

 इसकी गति 28 समुद्री मील ;लगभग 52 किमी प्रति घंटेद्ध से अधिक होगी। आईएनएस तारागिरी का डिस्प्लेसमेंट 6670 टन है। यह मैक्सिमम 59 किमी प्रतिघंटा की गति से समंदर की लहरों को चीरते हुए दौड़ सकता है। इस स्वदेशी युद्धपोत पर 35 अधिकारियों के साथ 150 लोग तैनात किए जा सकते हैं।

Latest India News





Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments