Monday, May 17, 2021
Home Pradesh Uttar Pradesh UPPSC PCS 2020: जब रावण की ससुराल में मेरठ सुनकर मुस्कुरा दी...

UPPSC PCS 2020: जब रावण की ससुराल में मेरठ सुनकर मुस्कुरा दी गई तो पीसीएस परीक्षा के इंटरव्यू में


उदित पंवार ने पांचवीं श्रेणी हासिल की है।

उदित पंवार ने पांचवीं श्रेणी हासिल की है।

यूपीपीएससी पीसीएस 2020 अंतिम परिणाम: यूपी पीसीएस 2020 के नतीजे आ चुके हैं। मेरठ के उदित पंवार को पांचवीं रैंक मिली हैं। पढ़ें

  • आखरी अपडेट:13 अप्रैल, 2021, 5:25 PM IST

यूपी पीसीएस 2020 का रिजल्ट घोषित हो चुका है। यूपी पीसीएस 2020 में मेरठ के उदित पंवार ने पांचवीं रैंक हासिल की है। उदित पवार ने न्यूज 18 से ख़ास बातचीत में कहा कि जब वो पीसीएस का इंटरव्यू दे रहे थे तो उनसे सबसे पहला सवाल पूछा गया था कि मेऱठ के रामायण और महाभारत वाले होने के बारे में बता रहे हैं। इस सवाल के जवाब में उदित ने कहा कि मेरठ का रामायण वाला प्रसंग ये है कि वो रावण की ससुराल है। और महाभारत के प्रसंग को लेकर उन्होंने हस्तिनापुर से रिलेटेड जवाब दिया। जैसे ही उदित ने कहा कि मेरठ मंदोदरी का मायका है। और रावण की सुसराल है। इंटरव्यूवर के चेहरे पर भी मुस्कान आ गई थी।

लाइनेनिल के माध्यम से संबंधित प्रश्न
उदित ने बताया कि इंटरव्यू में इसके अलावा मैकेनेकिल के से संबंधित सवाल पूछे गए थे। हालांकि कई सवालों के जवाब में उन्होंने साफ साफ कहा कि यह उत्तर उन्हें नहीं मालूम है। उदित ने बताया कि मैकेनिल केवी से संबंधित कई सवालों के जवाब वो नहीं दे पाए थे। यूपी पीसीएस 2020 में पांचवीं श्रेणी हासिल करने वाले इस युवा ने बताया कि जिस सवाल का जवाब उन्हें मालूम नहीं था वह साड़ी कह दिया था। उदित ने बताया की पीसीएस परीक्षा का इंटरव्यू तकरीबन बीस मिनट तक चला था। उदित कहते हैं कि इंटरव्यूवर की आँखों में मानों एक्सरे डाल होता है वह हर चीज़ पढ़ते हैं। 2016 में आईआईटी गुवाहाटी से ब्रटिंग वाले उदित का कहना है कि उन्होंने भले ही पीसीएस की परीक्षा में पांचवीं कक्षा हासिल की। ​​डेलकिन आईएएस की उनकी तैयारी जारी रहेगी।

कोई कोचिंग नहीं आपको ये जानकर और अच्छा लगेगा कि उदित को आईआईटी गुवाहाटी में सेलेक्शन ठीक इंटर करने के बाद हो गया था। उन्होंने न तो आईआईटीटी की परीक्षा की तैयारी करने के लिए कोई कोचिंग की। और न ही पीसीएस की परीक्षा पास करने के लिए कोई कोचिंग की। उन्होंने सारी पढ़ाई घर पर ही रहकर की.उदित ने बताया कि दो बार तो उन पीसीएस प्रिलिम्स का इम्तिहान भी नहीं क्वालीफाई कर पाए थे। और तीसरी बार जब इस परीक्षा को उन्होंने किया है तो प्रदेश में पांचवीं रैंक हासिल की है। उदित का कहना है कि असफलता से घबराना नहीं चाहिए। और पढ़ाई के घंटे नहीं देखना चाहिए, लेकिन अपने टार्गेट पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब उनकी पोस्टिंग होगी तो वो भ्रष्टाचार के खात्मे के लिए प्रयास करेंगे।

शुरुआत से ही मेधावी

उदित पंवार के पिता मेरठ की एक चीनी मिल में काम करते हैं। माँ गृहिणी हैं इस होनहार के माता-पिता बताते हैं कि उनका बेटा शुरु से ही मेधावी रहा है। और उसने आज उन्हें ना तोफा दिया है। उदित की बहन भी आईआईटी दिल्ली में केमिकल से बी कर रही हैं। जब से उदित की कामयाबी की ख़बर लोगों को पता चली। आसपडो’स वालों का तांता लगा हुआ है। आज नवरात्र के पहले दिन उदित के माता पिता व्रत वालों के लिए अलग मिठाई और बिना व्रत वालों के लिए लड्डू लेकर अपने ड्राइंग रुम में सुबह से बैठे हुए हैं। वास्तव में ऐसे होनहार पर सभी को नाज़ है।




सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं / प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स / करियर से जुड़ी जॉब अलर्ट, हर खबर के लिए परीक्षाएं- https://hindi.news18.com/news/career/





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments