Sunday, October 2, 2022
HomeUttar PradeshUP Madarsa Survey: In the ABP C Voters Survey said that the...

UP Madarsa Survey: In the ABP C Voters Survey said that the Bharatiya Janata Party will benefit from the UP Madrasa survey in the Lok Sabha elections 2024


लखनऊ: उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर रणनीति तैयार की जाने लगी है। अखिलेश यादव और नीतीश कुमार की पोस्टर पॉलिटिक्स ने यूपी की राजनीति को गरमाया है। विपक्षी दल अपना माहौल बनाने में लगे हैं। वहीं, भारतीय जनता पार्टी अपनी अलग रणनीति पर काम करती दिख रही है। इन तमाम राजनीतिक उठापटक के बीच यूपी सरकार की ओर से पिछले दिनों जारी हुआ आदेश इस समय राष्ट्रीय स्तर पर खूब चर्चा में है। यह है यूपी के मदरसों का सर्वेक्षण आदेश। यूपी सरकार के इस आदेश के खिलाफ एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी खुलकर विरोध में उतर चुके हैं। वहीं, कांग्रेस मदरसों के सर्वेक्षण पर समहति तो जताती दिख रही, लेकिन सरकार की मंशा पर भी सवाल खड़े कर चुकी है। बसपा प्रमुख मायावती के बयान सामने आ चुका है। लेकिन, एक सवाल उठ रहा था कि क्या यूपी सरकार की इस कवायद का कोई राजनीतिक अर्थ भी निकलेगा। इसका जवाब एबीपी सी-वोटर्स की ओर से कराए गए सर्वे में साफ हो गया है। इसका फायदा भाजपा को चुनावों में मिलने की बात कही गई है।

मदरसा सर्वेक्षण को लेकर बढ़ रही राजनीति से भारतीय जनता पार्टी फायदे में जाती दिख रही है। सर्वे का रिजल्ट तो कुछ यही कह रहा है। सर्वे में लोगों से सवाल किया गया था कि मदरसों के सर्वे कराने से वर्ष 2024 के लोकसभा चुनाव में भाजपा को फायदा होगा? इस पर 60 फीसदी लोगों ने माना कि इस सर्वे का लोकसभा चुनाव के मैदान में भाजपा को फायदा होगा। वहीं, 40 फीसदी लोगों ने माना है कि मदरसा सर्वेक्षण से चुनाव में भाजपा को फायदा नहीं होगा। सर्वे में 6222 लोगों से सवाल किया गया। लोकसभा चुनाव को आधार बनाते हुए यह सर्वे न्यूज चैनल की ओर से कराया गया था।
नीतीश पर भरोसा काहे नइखे? 2024 में PM मोदी के सामने टिक पाएंगे बिहार CM, जान लीजिए देश का सियासी मूड
मदरसा सर्वे पर योगी को घेर रहे विपक्षी
यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को विपक्षी पार्टियां अपने निशाने पर लिए हुए हैं। इसका कारण मदरसों का सर्वे कराया जाना है। पिछले दिनों इस्लामिक संगठनों की ओर से इसका विरोध किया गया है। दिल्ली में भी बैठक का आयोजन कर यूपी सरकार की मंशा पर सवाल खड़े किए गए। वहीं, समाजवादी पार्टी से लेकर एआईएमआईएम तक इस मामले में योगी सरकार को घेर चुकी है। असदुद्दीन ओवैसी ने सीधा हमला सीएम योगी पर बोला है।

मदरसा सर्वे पर गरमाई राजनीति के बीच सी-वोटर्स सर्वेक्षण में लोगों से तीन सवाल किए गए। लोगों से पूछा गया कि उत्तर प्रदेश में मदरसों का सर्वेक्षण कराया जाना सही है या गलत। दूसरा सवाल सवाल था कि क्या यूपी की तरह देश भर में मदरसों का सर्वे कराया जाना चाहिए? सबसे बड़ा सवाल यह था कि क्या मदरसों के सर्वे से 2024 के चुनाव में भाजपा को फायदा होगा?
2024 के लिए क्या है देश का सियासी मूड, जानें पीएम मोदी को कितना टक्कर दे पाएगा विपक्ष
यूपी में मदरसों के सर्वे के सही या गलत वाले सवाल पर लोगों की प्रतिक्रिया सरकार के समर्थन में आई है। 69 फीसदी लोगों ने माना है कि मदरसों के सर्वे होना चाहिए। वहीं, 31 फीसदी लोग मदरसा सर्वेक्षण के खिलाफ रहे। वहीं, देश भर में मदरसा सर्वे कराए जाने संबंधित सवाल पर 75 फीसदी लोगों ने इसकी जरूरत बताई है। वहीं, 25 फीसदी लोग मदरसा सर्वे कराए जाने को लेकर अपनी असहमति जताते हैं। लोकसभा चुनाव 2024 में भाजपा को फायदा होगा या नहीं, इस सवाल पर 60 फीसदी लोगों ने इसे माना है। हालांकि, इस मामले में एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी सीएम योगी आदित्यनाथ की मंशा पर लगातार सवाल खड़े कर रहे हैं।



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments