Wednesday, December 7, 2022
HomeUttar PradeshUP Election: रामपुर से आजम खान के परिवार को टिकट नहीं देंगे...

UP Election: रामपुर से आजम खान के परिवार को टिकट नहीं देंगे अखिलेश! BJP पूर्व सांसद के बेटे को मिलेगा मौका?

Rampur Byelection 2022 Latest Hindi News: आजम खान की विधानसभा सदस्यता जाने के बाद रामपुर में समाजवादी पार्टी नया उम्मीदवार तलाश रही है। वहीं चर्चा हो रही है कि सपा प्रमुख अखिलेश यादव इस बार आजम के परिवार को रामपुर से टिकट नहीं देंगे। इसके पीछे भी आजम खान की मर्जी बताई जा रही है।

 

हाइलाइट्स

  • आजम खान का परिवार रह सकता है रामपुर उपचुनाव से दूर
  • सपा रामपुर में हिंदू प्रत्याशी पर खेल सकती है दांव
  • रामपुर विधानसभा उपचुनाव को लेकर बदली बीजेपी, सपा की रणनीति
रामपुर: रामपुर विधानसभा सीट (Rampur Byelection 2022) लंबे अर्से से सपा के कब्जे में चली आ रही है, लेकिन आजम खान (Azam Khan) की सदस्यता रद्द होने के बाद यहां उपचुनाव होने जा रहे हैं। लिहाजा, बीजेपी (BJP) इस सीट पर कमल खिलाने की जुगत में लगी है, तो अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) भी नहीं चाहते कि साइकिल का पहिया थमे। यही वजह है कि दोनों दलों की रणनीति बदली-बदली नजर आ रही है। बीजेपी की बात की जाए तो इस बार वह मुसलमानों को करीब लाने की कोशिश कर रही है। इसके लिए पहली बार बीजेपी ने रामपुर में मुसलमानों का सम्मेलन आयोजित किया, जिसमें उन्हें भरोसा दिलाने का प्रयास हुआ कि वह उनकी दुश्मन नहीं, बल्कि हितैषी है। बीजेपी की रणनीति को देख सपा ने भी अपनी रणनीति में कुछ फेरबदल करने के संकेत दिए हैं। सपा पहली बार रामपुर (Rampur) विधानसभा सीट से किसी हिंदू प्रत्याशी को उतारने के प्रयास में है। चर्चा हो रही है कि बीजेपी से पूर्व सांसद नेता के बेटे को सपा रामपुर से टिकट दे सकती है।

सूत्रों की मानें तो आजम खान के ही कहने पर ऐसा हो रहा है। उन्होंने ही सपा प्रमुख अखिलेश यादव को कुछ नाम भी सुझाए हैं। आजम खान के करीबियों के अनुसार इस बार हो सकता है कि उनका परिवार उपचुनाव से दूर रहे। हालांकि, आगामी एक दो दिन में स्थिति साफ हो जाएगी। सपा के कददावर नेता आजम खान की सियासत को करीब 45 साल हो गए। वह रामपुर विधानसभा सीट से दस बार विधायक रह चुके हैं, तो सपा सरकार में ताकतवर मंत्री भी रहे हैं। एक बार राज्यसभा के सदस्य और बार एक रामपुर लोकसभा क्षेत्र से सपा के टिकट पर जीत हासिल कर चुके हैं। यदि सपा ने आजम खान के परिवार से बाहर किसी दूसरे या फिर हिंदू को प्रत्याशी बनाया, तो यह पहली बार होगा, जब आजम खान अपनी 45 साल की सियासत में चुनाव से दूर रहें।

आजम खान को मिली है तीन साल कैद की सजा

भड़काऊ भाषण देने के मामले में अदालत ने आजम खान को तीन साल कैद की सजा सुनाई है। इसी की वजह से उनकी विधायकी चली गई और अब यहां उपचुनाव हो रहा है। ऐसे में आजम खान खुद तो चुनाव नहीं लड़ पाएंगे, लेकिन सपा प्रत्याशी किसे बनाएंगे, यह फैसला उन्हीं को लेना है। आजम खान की विधायकी जाने के बाद कयास लगाए जा रहे थे कि उनकी पत्नी डॉ. तजीन फातिमा चुनाव मैदान में उतरें, लेकिन उनकी की सेहत सही नहीं है। वह बीमार भी हैं। लिहाजा, उनके चुनाव लड़ने की संभावना कम है।

जेल में बंद रहकर विधायक बने थे आजम खान

सपा के कददावर नेता आजम खान ने 2022 का विधानसभा चुनाव सीतापुर जेल में बंद रहकर लड़ा था। लेकिन, इसके बाद भी आजम खान चुनाव जीतने में कामयाब रहे थे। वह दसवीं बार विधायक बने थे।

कौन हो सकता है रामपुर से सपा का उम्मीदवार

रामपुर उपचुनाव में आजम खान और उनका परिवार चुनाव मैदान में नहीं उतरेगा, तो सबसे बड़ा सवाल कि आखिर कौन सपा का प्रत्याशी हो सकता है। अमित शर्मा के नाम की चर्चा चल रही है। दरअसल, अमित शर्मा पहले बीजेपी में ही थे, लेकिन बाद में सपा में चले गए। अमित शर्मा के पिता डॉ. राजेंद्र शर्मा बीजेपी से ही रामपुर के सांसद भी रहे हैं। ऐसे में उनका नाम सबसे मजबूत दावेदारों में माना जा रहा है।

आसपास के शहरों की खबरें

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए NBT फेसबुकपेज लाइक करें


Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments