Monday, August 8, 2022
HomeUttar PradeshUP वालों को बड़ी राहत, AC चलाते हैं तो जान लीजिए अब...

UP वालों को बड़ी राहत, AC चलाते हैं तो जान लीजिए अब हर महीने बिजली बिल में कितनी होगी बचत – if you run ac in up, then know now how much will be the savings in electricity bill every month


लखनऊ: महंगाई की मार झेल रही जनता को उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने थोड़ी राहत दी है। घरेलू उपभोक्ताओं को ये राहत बिजली बिल में 7 रुपए का स्‍लैब वापस लेकर दी है। इस वर्ष के लिए बिजली दरों में कोई वृद्धि नहीं की गई है। वहीं उत्तर प्रदेश विद्युत नियामक आयोग ने अधिकतम स्लैब सीमा को कम किया है। इसका सबसे फायदा एयर कंडीशनर यानी एसी चलाने वालों को होगा। अगर आपके घर में एसी लगा है, तो हर महीने आपकी जेब में अच्छा पैसा बचने लगेगा।

नए स्लैब के मुताबिक, घरेलू बिजली की अधिकतम दर साढ़े 6 रुपए प्रति यूनिट होगी।हर माह 500 यूनिट से अधिक बिजली इस्तेमाल करने वाले उपभोक्ताओं का बिल अब पहले की तुलना में कम आएगा। ऐसे घरेलू उपभोक्ताओं को अब 7 रुपये प्रति यूनिट के बजाय 6.50 रुपये प्रति यूनिट के हिसाब से बिजली बिल देना होगा।

शनिवार को राज्य विद्युत नियामक आयोग ने नई बिजली दरें घोषित कर दीं। गौलतलब है कि जिन घरों में 10 से 12 घंटे तक एसी चलाता है आम तौर पर वे उपभोक्ता हर माह 600 यूनिट से ज्यादा बिजली खर्च कर ही देते हैं। नए टैरिफ में नियामक आयोग ने स्लैबों की संख्या घटा दी है। पहले अलग-अलग श्रेणी के उपभोक्ताओं के लिए 80 स्लैब थे। इन्हें घटाकर 59 कर दिया गया है। कुल 15 में 9 श्रेणियों के स्लैब में बदलाव किया गया है।

7 रुपये प्रति यूनिट के स्लैब को किया गया खत्म
उत्तर प्रदेश में पहले बिजली के दर की स्लैब 80 थीं, जिनको घटाकर 59 कर दिया गया है। इससे घरेलू उपभोक्ताओं से साथ व्यावसायिक उपयोग करने वालों को भी काफी राहत मिलेगी। ज्यादा बिजली खर्च करने वाले शहरी घरेलू उपभोक्ताओं को राहत मिलेगी. अब सात रुपये यूनिट नहीं देना होगा। शहरी घरेलू बीपीएल उपभोक्ताओं को 100 यूनिट तक 3 रुपये यूनिट से बिजली मिलेगी।

पुराना स्लैब सिस्टम

स्लैब (यूनिट में) बिजली दर (रु.R/यूनिट)
0-150 5.50
151-300 6.00
301-500 6.50
500 से अधिक 7.00

शहरी उपभोक्ताओं के लिए नई स्लैब

स्लैब (यूनिट में) बिजली दर (रु.R/यूनिट)
0-100 5.50
101-150 5.50
151-300 6.00
300 यूनिट से ऊपर 6.50

कैसे होगा फायदा?
मान लीजिए आपके घर में अगर दो एसी लगे हैं और हर महीने 600 यूनिट की खपत होती है तो इस हिसाब से पहले आपको 7 रुपए प्रति यूनिट के हिसाब से लगभग 4200 रुपए बिल आता था। अब सरकार के नए स्लैब के मुताबिक हर महीने 6.50 रुपए प्रति यूनिट के हिसाब से अब 3900 रुपए बिजली का बिल आएगा, मतलब सीधे-सीधे आपको लगभग 300 रुपए की सीधी बचत होगी।

यूनिट पहले बिल अब बिल बचत
600 4200 3900 300
700 4900 4550 350

3 साल पहले की गई थी बढ़ोत्तरी
शहरी घरेलू और ग्रामीण घरेलू श्रेणी के बीपीएल वर्ग के उपभोक्ताओं के लिए 100 यूनिट तक 3 रुपये प्रति यूनिट की दर को पहले की तरह बरकरार रखा गया है। यह तीसरा साल है, जब राज्य विद्युत नियामक आयोग ने दरों में कोई बढ़ोतरी नहीं की है। इससे पहले 3 सितंबर, 2019 को बिजली दरे बढ़ाई गई थीं।

क्यों बदले गए स्लैब?
पहले यूपी सरकार 150 यूनिट तक 2.70 रुपये प्रति यूनिट की सब्सिडी पावर कॉर्पोरेशन को देती थी। स्लैब बदलने के बाद अब 100 यूनिट तक 2.70 रुपये प्रति यूनिट और 101 से 150 यूनिट तक 2 रुपये प्रति यूनिट की सब्सिडी दी जाएगी। यानी पावर कॉरपोरेशन को घाटा कम करने के लिए राजस्व वसूली बढ़ानी होगी।

बढ़ी है बीपीएल उपभोक्ताओं की संख्या
पहले यूपी में 100 यूनिट प्रति माह से कम बिजली खर्च करने वालों की संख्या 19 लाख थी। राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष अ‌वधेश कुमार वर्मा के मुताबिक सौभाग्य योजना के 1.20 करोड़ उपभोक्ताओं को इस कैटिगरी में जोड़ा गया है। अब इस श्रेणी में उपभोक्ताओं की संख्या 1.39 करोड़ हो गई है। 100 यूनिट तक बिजली प्रति माह इस्तेमाल करने पर इन्हें 3 रुपये प्रति यूनिट की दर से बिजली बिल देना पड़ता है।



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments