Uttar Pradesh

Noida News: कैंब्रिज से MBA कर चुके आशीष ने रची थी ठगी की वर्चुअल कॉइन स्कीम, 12 गिरफ्तार – noida police up stf busted coin scheme thuggery gang in noida

नोएडा
निवेश और बेरोजगारों को रोजगार के नाम पर नोएडा के सेक्टर 62 स्थित एक फोर स्टार होटल में गुरुवार को ठगी की स्कीम की लॉन्चिंग थी। सैकड़ों लोग जमा हुए थे और स्वागत चल रहा था। लॉन्चिंग के साथ जश्न का दौर शुरू होने ही वाला था कि फिल्मी अंदाज में यूपी एसटीएफ औक नोएडा पुलिस की होटल में एंट्री हुई। एसटीएफ ने ठगी शुरू करने के लिए बनी कंपनी के डायरेक्टर सहित इससे जुड़े 12 लोगों को दबोच लिया।

आरोपियों में शामिल आशीष लंदन की कैंब्रिज यूनिवसिटी से एमबीए कर चुका है। उसने ही इस तरीके से ठगी की योजना बनाई थी। एसटीएफ के मुताबिक आरोपी हजारों लोगों से इस स्कीम में ठगी कर विदेश भागने वाले थे। इनमें 7 आरोपी लखनऊ की बड़ी ठग कंपनी शाइन सिटी में पूर्व में काम कर चुके थे। इनके कब्जे से दो एसयूवी व कई मोबाइल-लैपटॉप बरामद हुए हैं।

अपनी एक्सचेंज लॉन्च करने वाले थे
एसटीएफ से मिली जानकारी के मुताबिक, आरोपी अपना वर्चुअल केक कॉइन और इसके नाम से एक्सचेंज लॉन्च करने वाले थे। इसके लिए इन्होंने कॉइन केक प्राइवेट लिमिटेड नाम से कंपनी बनवाकर रजिस्ट्रेशन करवाया था। तैयारी यह थी कि एक केक कॉइन को, जो वर्चुअल होगा, 5 रुपये में बेचेंगे। एक व्यक्ति 1 हजार केक कॉइन खरीदकर कॉइन केक एक्सचेंज का सदस्य बनेगा। इसको दो लोगों को चेन सिस्टम के तहत जोड़ना होगा।

उन दोनों की तरफ से जमा किए 10 हजार रुपये पर 30 प्रतिशत कमीशन मिल जाएगी। इन दोनों को दो-दो सदस्य जोड़कर चेन आगे बढ़ानी होगी। ऐसे तेजी से सैकड़ों लोगों की रकम आरोपियों के पास पहुंच जाती। एसटीएफ की साइबर क्राइम यूनिट को इसकी सूचना मिली। एसटीएफ नोएडा के अपर पुलिस अधीक्षक राजकुमार मिश्रा की टीम ने साइबर क्राइम यूनिट व सेक्टर 58 थाना नोएडा की पुलिस के साथ होटल में छापेमारी कर लॉन्चिंग रुकवाई और आरोपी पकड़े।

पहले दिन 80 लोगों से शुरू होनी थी स्कीम
पहले दिन 80 लोग इससे जुड़ने वाले थे। इनको होटल में बुलाया गया था। ये सभी 5-5 हजार रुपये जमा करने वाले था। इसके आगे अपने परिवारीजन और रिश्तेदारों को इसी स्कीम में जोड़ने की तैयारी में थे। पकड़े गए आरोपी में एक विक्रम यादव निवासी जियामऊ लखनऊ पूर्व में शाइन सिटी के एक धोखाधड़ी के केस में वॉन्टेड था। अन्य आरोपियों में मंजीत सिंह निवासी निवासी अमृतसर पूर्व असोसिएट शाइन सिटी, शैलेश कुमार पूर्व असोसिएट शाइन सिटी, संदीप सोलोमन कानपुर का निवासी है।

मुजफ्फरनगर निवासी निशांत कुमार कॉइन केक एक्सचेंज का डायरेक्टर था। धीरज निगम निवासी कानपुर भी पूर्व में शाइन सिटी के साथ जुड़ा था। अरविंद कुमार मिश्र निवासी देवघर झारखंड, इंद्रजीत निवासी सुल्तानपुर पूर्व असोसिएट शाइन सिटी, पूजा कनौजिया निवासी आलमबाग पूर्व असोसिएट शाइन सिटी को गिरफ्तार किया गया है।

दुबई में बैठे राशिद नसीम से लिया था ठगी का आइडिया
शाइन सिटी लखनऊ का डायरेक्टर राशिद नसीम दर्जनों धोखाधड़ी के केस दर्ज होने के बाद दुबई भाग गया है। आरोपी आशीष कुमार ने एसटीएफ को बताया कि उसने लंदन की कैंब्रिज यूनिवर्सिटी से फॉरेन ट्रेड ऐंड मार्केट इन्वेस्टमेंट में एमबीए किया हुआ है। शाइन सिटी में वह टेक्निकल हेड था, तब राशिद नसीम ने शाइन वर्चुअल कॉइन लॉन्च किया था।

उसने बताया था कि वुर्चअल कॉइन के नाम पर कैसे फ्रॉड कर सकते हैं। शाइन सिटी बंद होने पर उसी के आइडिया पर आशीष ने शाइन सिटी के पूर्व मैनेजर विक्रम यादव के साथ मिलकर ठगी की योजना बनाई।

1 साल में था रकम दोगुनी करने का लालच
एसटीएफ की टीम ने होटल में मौजूद कई निवेशकों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। एसटीएफ के मुताबिक, पूछताछ में इन लोगों ने बताया है कि कॉइन केक एक्सचेंज की सदस्यता के तौर पर जमा होने वाली 5 हजार केक कॉइन खरीद कर 5 हजार रुपये की धनराशि अगले 1 साल में दो गुना करने का लालच भी दिया गया था।

एसटीएफ ने यह केस सेक्टर-58 थाने में दर्ज करवाया है। एसीपी-2 रजनीश वर्मा ने इसकी पुष्टि की। एसीपी ने बताया कि एसटीएफ के इस ऑपरेशन में थाना पुलिस शामिल रही।


Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button