Saturday, September 24, 2022
HomeUttar Pradeshmirzapur latest news: Mirzapur mein ek saal mein 6 bachchon ki hatya:...

mirzapur latest news: Mirzapur mein ek saal mein 6 bachchon ki hatya: मिर्जापुर में एक साल में 6 बच्चों की हत्या


हाइलाइट्स

  • अभी कुछ दिन पहले ही 3 बच्चों के जंगल से कंकाल मिले थे
  • 3 बच्चों के कंकाल मिलने के बाद मां का भी शव बरामद हुआ था
  • किसी भी मामले में पुलिस अभी तक आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर पाई है

मनीष सिंह, मिर्जापुर
यूपी के मिर्जापुर में हुई चार मौतों का खुलासा करने में पुलिस नाकाम रही है। 11 दिन बीतने के बाद भी अभी तक उसके हाथ कोई ठोस सुराग हाथ नहीं लगे हैं। हालांकि, घटना की तह तक जाने के लिए पुलिस एक दर्जन से ज्यादा लोगों से पूछताछ भी कर चुकी है।

हलिया थाना क्षेत्र के हर्रा के जंगल में 3 मासूम बच्चियों के कंकाल मिलने के बाद मां का भी शव फांसी पर लटकता पाया गया था। पुलिस ने पिता की तहरीर पर मां को ही आरोपी मानते हुए उस पर बच्चियों को गायब करने का मुकदमा दर्ज किया था।

जंगल मे मिले 3 कंकाल पिता ने की अपनी बेटियों के रूप में पहचाना
जानकारी के मुताबिक, 16 अगस्त को पिता देवीदास ने अपनी लड़कियों के गाएब होने की सूचना पुलिस को दी थी। 24 सितंबर को देवीदास के साले ने हलिया के हर्रा के जंगल मे तीन कंकाल और कपड़े मिलने की सूचना पुलिस को दी थी। कपड़ों के आधार पर देवीदास ने अपनी लड़कियों के रूप में शिनाख्त की थी, लेकिन जिस दिन लड़कियों के कंकाल मिले थे, उसके तीन दिन बाद मां का भी शव जंगल मे फांसी से लटकता पाया गया था।

मां के ऊपर बेटियों के गायब करने का मुकदमा दर्ज
पुलिस के अनुसार, देवीदास का कहना था कि उसकी पत्नी बेटियों को लेकर कहीं चली गई थी, फिर अकेले ही वपास लौट आई थी। बताया था कि बेटियां गायब हो गई हैं। इधर जब कंकाल की पुष्टि हुई तो देवीदास की तहरीर पर पुलिस ने मां को आरोपी मानते हुए उस पर मुकदमा दर्ज किया गया था, लेकिन उसका भी शव मिलने से मामला सुलझने के बजाय उलझ गया।

3 बच्चों की हत्या का आजतक नहीं हो सका खुलासा
यही नहीं 1 दिसंबर 2020 को लालगंज के बामी गांव में एक ही परिवार के तीन मासूम बच्चों के शव तालाब किनारे पाए गए थे। जिसको पहले डूबने से मौत माना गया था, लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर हत्या किए जाने कि पुष्टि हुई थी, लेकिन तब से लेकर आज तक इस घटना का खुलासा पुलिस नहीं कर सकी है, जबकि घटना का लगभग 1 साल भी होने वाला है ।

विंध्याचल मंदिर में वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी पर लगा प्रतिबंध
….आखिर कब होगा खुलासा?
अपर पुलिस अधीक्षक महेश सिंह अत्रि ने बताया कि कंकाल को टेस्ट कराने के लिए लैब भेज दिया गया है। उसकी रिपोर्ट आने पर कार्रवाई की जाएगी। वहीं, बामी गांव में घटी घटना के बारे में कहा कि अभी फ़ाइल क्लोज नहीं हुई है। आपको बता दें कि दोनों ही घटनाएं एएसपी महेश सिंह के क्षेत्र में ही आती है, लेकिन इन दोनों घटनाओं का कब खुलासा होगा इसका इंतजार है।

2



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments