Sunday, September 25, 2022
HomeUttar Pradeshmanish gupta murder case: manish gupta murder case latest news in hindi...

manish gupta murder case: manish gupta murder case latest news in hindi : मनीष गुप्ता मर्डर केस की ताजा खबर बताइए


हाइलाइट्स

  • सभी छह पुलिसकर्मियों पर 25-25 हजार रुपए का इनाम घोषित
  • फरार पुलिसवालों की गिरफ्तारी के लिए चल रही छापेमारी
  • जिन पुलिसकर्मियों पर यह इनाम घोषित किया गया है वह सभी निलंबित

गोरखपुर
उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में कानपुर के प्रापर्टी डीलर की हत्या (manish gupta murder case) में निलंबित और फरार चल रहे पुलिसकर्मियों पर इनाम घोषित किया गया है। गोरखपुर से थाना रामगढ़ ताल में तैनात सभी छह पुलिसकर्मियों पर 25-25 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया है। यह इनाम पुलिस उपायुक्त दक्षिण रवीना त्यागी ने घोषित किया है। जिन पुलिसकर्मियों पर यह इनाम घोषित किया गया है वह सभी निलंबित चल रहे हैं।

फरार पुलिसवालों की गिरफ्तारी के लिए चल रही छापेमारी
मनीष हत्याकांड की विवेचना भी आखिरी पड़ाव पर है। एसआईटी रिपोर्ट के साथ ही कानपुर पुलिस इस मामले में आरोपितों के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट भी दाखिल कर सकती है। जबकि फरार पुलिस वालों की गिरफ्तारियों को लेकर कानपुर पुलिस व क्राइम ब्रांच के साथ ही यूपी एसटीएफ की टीम ताबड़तोड़ छापामारी कर रही है।

3 अहम बयानों के आधार पर ही जांच
एसआईटी इस पूरे केस में 3 अहम बयान और 3 अहम चश्मदीदों को लेकर ही पूरे केस से जुड़ी चीजें खंगाल रही है। मुख्य बयानों में मनीष के घटना वाली रात मौजूद दोस्त हरबीर सिंह और प्रदीप सिंह और पत्नी मीनाक्षी शामिल हैं। जबकि चश्मदीदों में भी मनीष के दोनों दोस्त हरबीर और प्रदीप के अलावा होटल मैनेजर आदर्श पांडेय शामिल है।

Manish Gupta Murder News: होटल के 512 नंबर कमरे में मौत की रात का सीन रिक्रिएट कराएगी SIT
जांच में भी दोषी मिले इंस्पेक्टर और दरोगा!
वहीं, घटना के बाद से ही गोरखपुर पुलिस की ओर से इस मामले की जांच एसपी नार्थ मनोज कुमार अवस्थी ने भी बुधवार की शाम अपनी रिपोर्ट सौंप दी। एसपी नार्थ के मुताबिक उनकी जांच में भी पुलिस वाले ही दोषी पाए गए हैं।

Manish Gupta Murder: होटल के कमरे में गोरखपुर पुलिस, मौत से पहले मनीष गुप्ता का वो आखिरी फोन, उस रात हुआ क्या था?
अब तक 30 लोगों का बयान दर्ज
एसआईटी पिछले तीन दिनों से होटल, कर्मचारी, पुलिसकर्मी, मनीष गुप्ता के दोस्त, मेडिकल कालेज के डॉक्टर, कर्मचारी, मानसी हास्पिटल के डॉक्टर सहित 30 लोगों का बयान दर्ज कर चुकी है। सोमवार को जहां 9 लोगों का बयान दर्ज किया गया वहीं मंगलवार को 8 तो बुधवार को SIT ने 13 लोगों का बयान दर्ज किया है।

Manish Gupta Murder: सिर, चेहरे पर गंभीर चोटों के निशान, पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट से घिरी गोरखपुर पुलिस… मनीष गुप्ता कांड की पूरी कहानी
ये हैं दोषी पुलिसवाले
इनमें निरीक्षक जगत नारायण सिंह निवासी थाना मुसाफिरखाना जनपद अमेठी, एस आई अक्षय कुमार मिश्रा निवासी थाना नरही जनपद बलिया, उप निरीक्षक विजय यादव निवासी थाना बक्सा जनपद जौनपुर, उपनिरीक्षक राहुल दुबे निवासी थाना कोतवाली देहात जनपद मिर्जापुर, मुख्य आरक्षी कमलेश सिंह यादव निवासी थाना परिसर जनपद गाजीपुर, आरक्षी नागरिक पुलिस प्रशांत कुमार निवासी थाना सैदपुर जनपद गाजीपुर के नाम शामिल हैं।

कानपुर की दुकान में एक साथ मिले पत्नी-पत्नी और बच्चे के शव, हत्या की आशंका

.

.



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments