Thursday, June 30, 2022
HomeIndiaLakhimpur Kheri violence: यूपी पुलिस ने सिद्धू समेत 20 से 25 लोगों...

Lakhimpur Kheri violence: यूपी पुलिस ने सिद्धू समेत 20 से 25 लोगों को लखीमपुर खीरी जाने की इजाज़त दी


Image Source : PTI
Congress leader Navjot Singh Sidhu with supporters, marches towards Uttar Pradesh’s Lakhimpur Kheri district, from Mohali on Thursday.

Lakhimpur Kheri violence News: यूपी पुलिस ने नवजोत सिंह सिद्धू, मंत्रियों और विधायकों को लखीमपुर खीरी जाने की इजाज़त दे दी है। अब नवजोत सिंह सिद्धू, मंत्रियों और विधायकों समेत कुल 20 से 25 लोग लखीमपुर खीरी जा सकेंगे। सभी को यूपी पुलिस इस्कॉर्ट करती हुई लखीमपुर खीरी लेकर जाएगी। ये जानकारी कैबिनेट मिनिस्टर अमरिंदर राजा वडिंग ने दी है। साथ ही उन्होंने ये भी बताया कि सब अपनी गाड़ियों में लखीमपुर खीरी जाएंगे, जिसे यूपी पुलिस इस्कॉर्ट करेगी।

नवजोत सिंह सिद्धू सिद्धू ने आरोपी की गिरफ्तारी की मांग 

पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू ने उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हिंसा के दौरान किसानों की मौत के मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा के बेटे की गिरफ्तारी की मांग करते हुए कहा कि यदि शुक्रवार तक कार्रवाई नहीं हुई तो वह भूख हड़ताल पर बैठेंगे। लखीमपुर खीरी में रविवार को चार किसानों को कथित तौर पर गाड़ी से कुचलकर मारने के सिलसिले में अजय मिश्रा के बेटे पर मामला दर्ज किया गया है। हालांकि मिश्रा ने आरोपों को खारिज करते हुए मामले में अपने बेटे की संलिप्तता से इनकार किया है। सिद्धू ने किसानों के मारे जाने के खिलाफ गुरुवार को पंजाब से लखीमपुर खीरी के लिए विरोध मार्च शुरू किया।

राज्य सरकार के मंत्री, विधायक और कांग्रेस कार्यकर्ता समेत बड़ी संख्या में पार्टी नेता यहां मोहाली में जमा हुए और अपने-अपने वाहनों में लखीमपुर खीरी के लिए रवाना हो गये। मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी भी कुछ देर के लिए सिद्धू के साथ शामिल हुए। सिद्धू ने 28 सितंबर को पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था लेकिन यह स्पष्ट नहीं हुआ कि क्या उनका इस्तीफा वापस ले लिया गया है। गुरुवार को मार्च निकालने से पहले सिद्धू ने लखीमपुर खीरी की घटना को लेकर उत्तर प्रदेश की भाजपा नीत सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि पंजाब कांग्रेस और पार्टी विधायक मजबूती से किसानों के साथ खड़े हैं।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के अधिकारियों ने मामले में प्राथमिकी दर्ज होने के बाद भी मिश्रा के बेटे के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं की। उन्होंने कहा, ‘‘यह लड़ाई हमारे किसानों के लिए है। अगर उत्तर प्रदेश पुलिस केंद्रीय मंत्री के बेटे को गिरफ्तार नहीं करती तो मैं भूख हड़ताल पर जाऊंगा। यह मेरा वचन है।’’ बाद में उन्होंने कहा, ‘‘अगर कल (शुक्रवार) तक गिरफ्तारी नहीं हुई या वह जांच में शामिल नहीं होते तो मैं भूख हड़ताल पर बैठूंगा।’’ सिद्धू ने कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वद्रा और राहुल गांधी को ‘लोकतंत्र का रक्षक’ बताया। इससे पहले पंजाब कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष सुखविंदर सिंह ने कहा कि लखीमपुर खीरी जाने के रास्ते में उन्हें जहां भी रोका गया, वे वहीं धरने पर बैठ जाएंगे। कांग्रेस नेता सुंदर शाम अरोड़ा ने कहा कि वे रास्ते में रोके जाने पर गिरफ्तारी देने को तैयार हैं। 





Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments