Wednesday, December 7, 2022
HomeUttar PradeshKhatauli Assembly: बीजेपी पर दूसरी बार खतौली ने जताया था भरोसा, कायम...

Khatauli Assembly: बीजेपी पर दूसरी बार खतौली ने जताया था भरोसा, कायम रहेगा सिलसिला या बाजी मारेगी RLD – khatauli by election 2022 bjp will face challange against sp rld to regain their assembly seat

मुजफ्फरनगरः उत्तर प्रदेश की खतौली विधानसभा सीट मुजफ्फरनगर जिले में आती है। साल 2022 के चुनाव में यहां से बीजेपी के विक्रम सैनी चुनाव जीते थे। दो साल की सजा होने के बाद सैनी की विधानसभा सदस्यता रद्द कर दी गई है। इसके बाद यहां उपचुनाव हो रहे हैं। सपा-आरएलडी ने मदन भैया को अपना उम्मीदवार भी घोषित कर दिया है। बीजेपी ने अभी यहां से उम्मीदवार नहीं उतारा है लेकिन चुनाव जीतने पर अपना पूरा जोर लगा रही है।

बीजेपी के लिए सीट बचाना चुनौती
इस विधानसभा सीट पर अभी भारतीय जनता पार्टी का कब्जा था। ऐसे में अपनी विधानसभा सीट बचाना बीजेपी के लिए बड़ी चुनौती होगी। साल 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी की इस सीट से जीत का बड़ा श्रेय खतौली विधानसभा सीट को ही जाता है। इस सीट पर बीजेपी को बंपर वोट मिले थे। खतौली विधानसभा क्षेत्र में कुल वोटर्स 312531 हैं। इनमें से 170048 पुरुष और 145468 महिला वोटर्स हैं। कुल वोटरों में लगभग 77000 मुसलमान, 57000 चमार, 27000 सैनी, 19000 पाल, 17000 कश्यप वोटर है। इसके अलावा यहां पर गुर्जर, जाट, ठाकुर, वैश्य वोट बैंक भी मजबूत है।

खतौली सीट का इतिहास
साल 1967 में सीपीआई के सरदार सिंह, 1986 में भारतीय क्रांति दल के वीरेंद्र वर्मा, 1974 में बीकेडी की फिर जीत हुई लेकिन इस बार लक्ष्मण सिंह विधायक बने। लक्ष्मण सिंह ने 1977 में फिर जीत दर्ज की लेकिन इस बार वह जनता पार्टी से जीते, कांग्रेस के धर्मवीर सिंह 1980 में जीते, 1985 में लोक दल के हरेंद्र सिंह मलिक, 1989 में जनता दल के धर्मवीर सिंह, 1991 और 1993 में बीजेपी के सुधीर कुमार बालियान जीते, 1996 में राजपाल सिंह भारतीय किसान कामगार पार्टी से जीते और 2002 में राष्ट्रीय लोक दल पार्टी से। 2007 में बीएसपी के योगराज सिंह, 2012 में आरएलडी के करतार सिंह भड़ाना और 2017 में बीजेपी के वीरेंद्र सिंह सैनी जीते।


Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments