Friday, March 5, 2021
Home Desh IIT खड़गपुर के दीक्षांत समारोह में बोले पीएम मोदी नरेन्द्र मोदी नए...

IIT खड़गपुर के दीक्षांत समारोह में बोले पीएम मोदी नरेन्द्र मोदी नए इको सिस्टम में नए लीडरशिप की जरूरत iit खड़गपुर दीक्षांत समारोह नवीनतम अपडेट pm modi to address 66 वा दीक्षांत समारोह


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार को आईआईटी खड़गपुर में डॉ। श्यामा प्रसाद मुखर्जी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज एंड रिसर्च का वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए उद्घाटन किया। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि 21 वीं सदी के भारत की स्थिति भी बदल गई है, ज़रूरतें भी बदल गई हैं और अवसर भी बदल रहे हैं। उन्होंने कहा कि अब आईआईटी के मायने बदल रहे हैं। डॉ। श्यामा प्रसाद मुखर्जी इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज एंड रिसर्च एक सुपर स्पेशलिटी अस्पताल है, जिसे भारतीय इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजीज खड़गपुर ने शिक्षा मंत्रालय के सहयोग से तैयार किया है। इस मौके पर पश्चिम बंगाल के राज्यपाल, केंद्रीय शिक्षा मंत्री और केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री भी मौजूद थे। पश्चिम मेदिनीपुर जिले के बलरामपुर में निर्मित इस अस्पताल में 650 बेड हैं। जानते हैं इससे जुड़ी बड़ी अपडेट हैं

सरकार ने मैप्स और जियोस्पेटिअल डाला को कंट्रोल से मुक्त कर दिया है। इस कदम से स्टार्टअप को बहुत मजबूती मिलेगी। इस कदम से आत्मनिर्भर भारत का अभियान भी और तेज होगा। इस कदम से देश के युवा वर्ग को और इनोवेटर्स को नई आजादी मिलेगी।

इंटरनेट ऑफ थिंग्स हो या फिर मॉडर्न कंस्ट्रक्शन टेक्नॉलॉजी, IIT खड़गपुर प्रशंसनीय काम कर रहा है। कोरोना से लड़ाई में भी आपके सॉफ्टवेयर समाधान देश के काम आ रहे हैं। अब आपको स्वास्थ्य टेक के फ्यूचरिस्टिक सलुशन्स को लेकर भी बूम से काम करना है।

आज भारत उन देशों में से है जहां सोलर पावर की कीमत प्रति यूनिट बहुत कम है। लेकिन घर-घर तक सोलर पावर पहुंचाने के लिए अब बहुत मुश्किलें हैं। भारत को इस तरह के नोट्स चाहिए जो इनयर्नमेंट को कम से कम नुकसान पहुंचाए, ड्यूरेबल हो और लोग बहुत आसानी से उसका इस्तेमाल कर पाएं।

पीएम मोदी बोले- ऐसे समय मे जब दुनिया क्लाइमेट चेंज की चुनौतियों से जूझ रही है, भारत ने इंटरनेशनल सोलर अलायन्स का विचार दुनिया के सामने रखा और इसे मूर्त रूप दिया। आज दुनिया के कई देश भारत द्वारा शुरू किए गए इस अभियान से जुड़ रहे हैं।

पीएम मोदी बोले- आप सभी, विज्ञान, टेक्नॉलॉजी और इनोवेशन के जिस मार्ग पर चले गए हैं, वहाँ जल्दबाज़ी के लिए कोई स्थान नहीं है। आपने जो सोचा है, आप जो इनोवेशन पर काम कर रहे हैं, संभव है उसमें आपको पूरी सफलता नहीं मिली है। लेकिन आपकी असफलता को भी सफलता ही माना जाएगा, क्योंकि आप भी उसे कुछ सीखेंगे।

पीएम मोदी बोले- आप अपने सामर्थ्य को पहचानकर आगे बढ़ें, पूरे आत्मविश्वास से आगे बढ़ें, निस्वार्थ भाव से बढ़ें।

प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि जीवन के जिस मार्ग पर अब आप आगे बढ़ रहे हैं, निश्चित रूप से आपके सामने कई सवाल आए हैं। ये रास्ता सही है, गलत है, नुकसान तो नहीं होगा, समय बर्बाद तो नहीं होगा? ऐसे बहुत से सवाल आएंगे।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

दिल्ली रेलवे स्टेशन पर 1 साल बाद प्लेटफॉर्म टिकट की बिक्री शुरू, चुकाने की 3 गुना कीमत होगी

प्लेटफार्म टिकट की बिक्री पिछले साल लॉकडाउन में ट्रेनों के बंद होने के बाद से ही ठप थीनई दिल्ली: रेलवे ने दिल्ली रेलवे...

शेयर बाजार: सेंसेक्स 598 अंकों की गिरावट, 15000 के पार बंद हुआ निफ्टी

आज सप्ताह के चौथे दिन गुरुवार को शेयर बाजार में गिरावट के साथ लाल निशान पर बंद हुआ। बीएसई इंडेक्स सेंसेक्स 598.57...

PF डिपॉजिट पर 8.5 प्रतिशत ब्याज, शेफ लेबर कमिश्नर बोले- 5 करोड़ खाताधारकों को फायदा मिलेगा

वित्त मंत्रालय की मंजूरी के बाद निर्णय को लागू किया जाएगा। (प्रतीकात्मक चित्र)खास बातेंपीएएफ डिपोजिट पर 8.5 प्रतिशत ब्याज'5 करोड़ अकाउंटर्स को...

अडानी पोर्ट्स खरीदेगा गंगावरम पोर्ट में भाग, 22 प्रति क्लाइमे कंपनी के शेयर

अडानी पोर्ट्स (अदानी पोर्ट्स) गंगावरम पोर्ट में 31.5 प्रतिशत हिस्सा खरीदेगी। भारत के सबसे बड़े निजी बंदरगाह ऑपरेटर अडानी पोर्ट्स एंड...

Recent Comments