Thursday, May 26, 2022
HomeUttar Pradeshhearing of the case of molesting a 5-year-old girl took place in...

hearing of the case of molesting a 5-year-old girl took place in 13 days : साल की बच्ची से छेड़खानी के केस की 13 दिन में हुई सुनावई


शादाब रिज़वी, अमरोहा: उत्तर प्रदेश के अमरोहा जिले में पांच साल की अनुसूचित जाति की बच्ची से छेड़खानी के आरोपी को अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश विशेष पॉक्सो एक्ट प्रथम ने 13 दिन में ही सुनवाई कर साढ़े तीन साल की सजा सुनाई है। 23 हजार का जुर्माना भी लगाया है। दोषी गिरफ्तारी के बाद से जेल में बंद है।

घटना अमरोहा जिले के बछरायूं की हैं। एक किसान अपनी पत्नी संग इसी साल 14 अप्रैल को गेहूं की कटाई कर रहा था। उसकी पांच साल की बेटी पास में ही पेड़ की छांव में खेल रही थी। आरोप है कि बछरायूं का ही शमसुद्दीन बेटी को उठाकर ले गया। छेड़खानी करने लगा। रोने पर किसान की पत्नी और दूसरे खेतों पर काम करने वाले पहुंच गए। आरोपी जान से मारने की धमकी देकर भाग गया था।

15 अप्रैल को किसान शमसुद्दीन के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी। पुलिस ने आरोपी शमसुद्दीन को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। पुलिस उपाधीक्षक मंडी धनौरा ने जांच कर 29 अप्रैल 2022 को आरोप पत्र तैयार कर लिया था। 30 अप्रैल को अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश विशेष पोक्सो एक्ट प्रथम अवधेश कुमार सिंह की अदालत में आरोप पत्र पहुंचा था।

एक मई को रविवार का अवकाश था। न्यायालय ने दो मई को पीड़िता के बयान दर्ज किए। मुकदमे को सीधे ट्रायल पर ले लिया। अभियोजन पक्ष की तरफ से विशेष लोक अभियोजक पॉक्सो एक्ट बसंत सिंह सैनी ने पैरवी की। 12 मई (बृहस्पतिवार) को दोनों पक्षों के अधिवक्ताओं के बीच बहस हुई।

13 मई शुक्रवार को न्यायालय ने शमसुद्दीन को दोषी करार दिया और साढ़े तीन साल की सजा सुनाई। 23 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है। न्यायालय ने जुर्माने की आधी राशि पीड़िता को देने के आदेश दिए हैं। अमरोहा में 13 दिन के भीतर किसी दोषी को सजा मिलने का यह पहला मामला है।



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments