Thursday, June 30, 2022
HomeUttar Pradeshfarmers death in lakhimpur kheri: Lakhimpur Kheri news: लखीमपुर खीरी में किसानों...

farmers death in lakhimpur kheri: Lakhimpur Kheri news: लखीमपुर खीरी में किसानों की गोली लगने से भी हुई मौत? जानें क्या कहती है पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट – no farmers died shot in lakhimpur kheri know what is postmortem report


हाइलाइट्स

  • लखीमपुर खीरी घटना को लेकर पूरे प्रदेश में मचा भूचाल
  • हिंसा में आठ लोगों की हुई मौत, किसानों ने फायरिंग का भी लगाया था आरोप
  • पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में पुष्टि, किसी भी किसान की गोली लगने से नहीं हुई मौत

लखीमपुर खीरी
यूपी के लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में कहा जा रहा था कि गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी के बेटे आशीष मिश्र ने किसानों पर गाड़ियां चढ़वा दीं। हालांकि सोमवार को यहां धरना स्थल पर मौजूद किसानों में से ज्यादातर का दावा है कि यहां केवल गाड़ियां ही नहीं चढ़वाई गईं, बल्कि गोली भी चलाई गईं। कुछ किसानों ने लोगों की गोली लगने से मौत का दावा किया था, हालांकि पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के अनुसार किसी की भी मौत गोली लगने से नहीं हुई है।

रविवार को घटना के समय मौजूद रहे तमाम लोगों ने दावा किया कि एक किसान की गोली लगने से मौके पर ही मौत हो गई। इस घटना का किसानों ने एक वीडियो भी दिखाया जिसमें एक शख्स बंदूक लेकर लोगों के पीछे भाग रहा है। हालांकि यह इसी घटना का वीडियो ही यह स्पष्ट नहीं है।
कहलाते हैं टेनी महाराज…जानें लखीमपुर खीरी में दबदबा रखने वाले मंत्री अजय मिश्रा की पूरी कहानी

जिला प्रशासन से बनी थी यह सहमति
सोमवार को तिकुनिया पार्क में जुटे किसानों ने घटना का मंजर बयान किया। उन्होंने बताया कि रविवार को किसान डेप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को काला झंडा दिखाने के लिए हैलिपैड के पास मौजूद थे। हालांकि जब यह तय हुआ कि वह सड़क मार्ग से आएंगे तो डीएम और एसएसपी ने आकर कहा कि अगर किसान काफिले के सामने न आएं तो इसी रास्ते के सामने से उनका काफिला निकलवा दिया जाए।

लखीमपुर हिंसा का खौफनाक वीडियो वायरल, किसानों को कुचलकर चली गई जीप?

रूट बदलने की गुजारिश
किसानों का आरोप है कि कुछ किसान नेताओं ने रूट बदलवाने की गुजारिश की, जिसपर प्रशासन ने सहमति दी। किसानों ने बताया कि इसके बाद मंच से ही घोषणा हुई कि डेप्युटी सीएम का रूट बदल गया है। हमें अब वापस चलना है। किसान वापस जाने लगे थे। इस बीच तीन गाड़ियां तेज रफ्तार से उस पतली सी सड़क पर आईं और किसानों पर गाड़ियां चढ़ा दी गईं। किसानों का दावा है कि एक गाड़ी में मंत्री का बेटा भी था।

‘आंदोलन कमजोर तो साजिश रची, मैं और मेरा बेटा 4 किमी दूर थे’, लखीमपुर हिंसा पर घिरे मंत्री अजय मिश्रा की सफाई

ड्राइवर को पीटकर मार डाला
निघासन के पास मिले कुछ लोगों ने बताया कि किसानों ने ड्राइवर को पीटकर मार डाला। ये लोग भी रविवार को घटना स्थल पर होने का दावा कर रहे हैं। लोगों का आरोप है कि हरिओम भाजपा कार्यकर्ता है और मंत्री व उसके बेटे के लिए गाड़ी चलाता है।

पिटाई का वीडियो हुआ वायरल
किसानों ने उसे लाठी और डंडे से रविवार को इतना पीटा की उसकी मौत हो गई। इस घटना से जुड़ा एक विडियो भी ये लोग दिखाते हैं, जिसमें एक व्यक्ति को पीटा जा रहा है। विडियो में पीटा जा रहा युवक छोड़ देने की गुजारिश भी कर रहा है। वहीं विडियो में गोलियां चलने की भी आवाजें आ रही हैं।

लखीमपुर खीरी



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments