Thursday, June 30, 2022
HomeUttar PradeshDussehra Festival: गंगा-जमुनी तहजीब की झलक, यहां मुस्लिम परिवार बना रहा रावण...

Dussehra Festival: गंगा-जमुनी तहजीब की झलक, यहां मुस्लिम परिवार बना रहा रावण का पुतला – ravana’s effigy is being built by a muslim family in jalaun


विशाल वर्मा, जालौन
बुराई पर अच्छाई की जीत का त्योहार दशहरा पूरे देश में बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। वहीं, जालौन में हरियाणा से आया मुस्लिम परिवार रावण, मेघनाथ और कुंभकर्ण का पुतला बनाकर आपसी भाईचारे और सौहार्द की अनूठी मिसाल कायम कर रहा है। परिवार के मालिक का कहना है कि मर्यादा पुरुषोत्तम श्रीराम की जन्मभूमि भले ही अयोध्या हो, लेकिन तमाम ऐसे लोग हैं, जिनकी रोजी रोटी रामलीला पर आश्रित है।

इस बार दशहरा के मौके पर युद्ध के बीच प्रभु श्रीराम 50 फीट के विशालकाय रावण के पुतले का दहन करेंगे। इसके लिए दशानन का पुतला जोरों से तैयार किया जा रहा है। मुखौटे से लेकर ज्यादातर काम पूरा हो चुका है। खास बात तो यह है कि जो कारीगर पुतले को बनाने में जुटे हुए हैं, वह मूल रूप से हरियाणा के रहने वाले हैं और मुस्लिम परिवार से ताल्लुक रखते हैं। परिवार का मकसद न सिर्फ इससे घर की रोजी रोटी चलाना हैं, बल्कि समाज में फैले भेदभाव की खाई को पाटने के लिए गंगा-जमुनी तहजीब का संदेश देना भी है। गफूर का कहना है कि भगवान श्रीराम राजनीति के लिए मुद्दा हो सकते हैं, लेकिन हमारे लिए तो अन्नदाता हैं। हमारी रोजी-रोटी उनसे ही जुड़ी हुई है।

गजब! खूब चला श्रम विभाग का अभियान, जालौन में मिले सिर्फ 9 बाल मजदूर
40 सालों से बना रहे हैं रावण का पुतला
हरियाणा के अब्दुल गफूर ने बताया कि रामलीला से उनका संबंध 40 वर्ष का है। यह उनके परिवार का पुश्तैनी काम है। पुतले को तैयार करने के लिए दिन-रात काम करते हैं। रावण, मेघनाथ और कुंभकर्ण के पुतले को तैयार होने में एक महीने का समय लग जाता है। इस बार रावण का कद 50 फीट का है। उनके इस काम में उनका बेटा राशिद और राशिद की पत्नी शयारा, बेटा कासिम, बेटी नाजिमी और भाई तौफीक भी बराबर साथ दे रहे हैं।



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments