Sunday, June 26, 2022
HomeUttar PradeshDropadi Murmu president candidate: uttar pradesh will decide the victory of nda...

Dropadi Murmu president candidate: uttar pradesh will decide the victory of nda candidate draupadi murmu for the post of president राष्‍ट्रपति पद के लिए NDA प्रत्‍याशी द्रौपदी मुर्मू की जीत तय करेगा UP, यहां समझिए वोटों का गणित


लखनऊ: देश की राजनीतिक तस्वीर का स्वरूप तय करने वाला उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में राष्ट्रपति चुनाव में भी अहम भूमिका निभाएगा। राष्ट्रपति चुनाव को लेकर विपक्ष की गोलबंदी यूपी में कारगर साबित नहीं होगी। राष्ट्रपति के पद के लिए बीजेपी के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू (Dropadi Murmu) को जिताने के लिए यूपी से ही सबसे ज्‍यादा वोट मिलेंगे। इसकी वजह है कि देश भर के मतदाता जनप्रतिनिधियों के कुल वोटों 10,86,431 का 14.86 प्रतिशत हिस्सा यूपी के पास है। इस कारण बसपा, सपा और कांग्रेस के विरोध के बाद भी द्रोपदी मुर्मू को 1,19,084 वोटों की बढ़त यूपी से हासिल हो जाएगा, जो राजग उम्मीदवार की जीत का आधार बनेगी।

अगले महीने होने वाले राष्ट्रपति चुनाव को लेकर अब पूरी तस्वीर साफ हो गई है। NDA ने ओडिशा की आदिवासी नेता और झारखंड की पूर्व राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित किया है। जबकि विपक्ष ने पूर्व वित्तमंत्री और पुराने भाजपाई यशवंत सिन्हा पर दांव खेला है। अब राष्ट्रपति चुनावों को लेकर राज्यों से मिलने वाले वोटों के गणित को देखें तो द्रौपदी मुर्मू के सामने यशवंत सिन्हा कमजोर दिखाई दे रहे हैं। वोट पड़ने के पहले ही चुनावी गणित के लिहाज से वह रेस से बाहर होते दिख रहे हैं।

जानिए कैसे तय है मुर्मू की जीत
बीजेपी के वरिष्ठ नेता विजय पाठक के अनुसार, द्रौपदी मुर्मू की जीत तय है। पाठक इसका गणित समझाते हैं। उनके मुताबिक, राष्ट्रपति चुनाव में सभी राज्यों के लोकसभा और राज्यसभा सदस्यों के वोट का मूल्य बराबर है, जो कि 700 है। वहीं विधायकों के वोट का मूल्य आबादी की गणना के अनुसार तय होता है। इस गणित के आधार पर राजग के पास अभी कुल 5,26,420 मत हैं। राष्ट्रपति चुनाव जीतने के लिए मुर्मू को 5,39,420 मतों की जरूरत है।

बीजद ने दिया अपना समर्थन
अगर चुनावी समीकरणों को देखें तो ओडिशा से आने के कारण सीधे तौर पर मुर्मू को बीजू जनता दल (बीजद) का समर्थन मिल रहा है यानी बीजद के 31,000 मत भी उनके पक्ष में पड़ेंगे। ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक पहले ही द्रौपदी मुर्मू को समर्थन दे चुके हैं। इसके अलावा अगर वाईएसआर कांग्रेस भी साथ आती है तो उसके भी 43,000 मत उनके साथ होंगे। इसके अलावा आदिवासियों के नाम पर राजनीति करने वाली झारखंड मुक्ति मोर्चा के लिए मुर्मू का विरोध करना मुश्किल है। झामुमो दबाव में आई तो मुर्मू को करीब 20000 वोट और मिल जाएंगे।

यूपी से इसलिए ज्‍यादा वोट पाएंगीं एनडीए प्रत्‍याशी
अब आते हैं यूपी पर। इस राज्य के विधायकों के वोट का मूल्य 208 है। यहां 80 लोकसभा सदस्य, 31 राज्यसभा सदस्य और 403 विधायक हैं। इस तरह लोकसभा सदस्यों के मतों का कुल मूल्य 56,000 होता है। लोकसभा सदस्यों में सर्वाधिक 62 सांसद बीजेपी के हैं। बसपा के पास दस, सपा के पास तीन और कांग्रेस के पास सिर्फ एक सांसद है। इसी प्रकार राज्यसभा की 31 सीटों का कुल मूल्य 21,700 होता है। 25 सीटों के साथ बीजेपी सबसे आगे है। सपा के पास पांच और बसपा के पास एक सांसद है।

इसी तरह से विधायकों के वोटों की संख्या भी सबसे अधिक बीजेपी के पास है। यूपी के 403 विधायकों के वोट का मूल्य 83,824 होता है। इसमें से बीजेपी गठबंधन के 273 वोट का मूल्य 56,784 होता है। 125 विधायकों वाले सपा गठबंधन के वोटों का मूल्य 26,000 है। कांग्रेस और जनसत्ता के दो दो विधायक हैं और बसपा का एक विधायक है। इस आधार पर मतो का गणित देखें तो द्रौपदी मुर्मू को यूपी से 1,19,084 मत मूल्य की बढ़त मिलेगी। जबकि सपा और कांग्रेस के 32,716 मत मूल्य जरूर विपक्ष के प्रत्याशी यशवंत सिन्हा को मिलेंगे।



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments