Wednesday, December 7, 2022
HomeUttar Pradeshdimple yadav may file nomination for mainpuri byelection 2022 akhilesh meeting in...

dimple yadav may file nomination for mainpuri byelection 2022 akhilesh meeting in saifai- मैनपुरी उपचुनाव के लिए कल पर्चा दाखिल कर सकती हैं डिंपल यादव सैफई में बैठक में जुटे अखिलेश

मैनपुरी: समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव के निधन के बाद खाली हुई मैनपुरी लोकसभा सीट (Mainpuri Loksabha Seat) पर डिंपल यादव (Dimple Yadav) चुनाव लड़ने जा रही हैं। 5 दिसंबर को होने वाले चुनाव के लिए सपा और सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी ने कमर कस ली है। प्राप्त जानकारी के अनुसार डिंपल कल यानी सोमवार के दिन पर्चा दाखिला कर सकती हैं। वहीं अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने मीटिंग का दौर शुरू कर दिया है।

मैनपुरी में सपा के नए जिलाध्यक्ष बने आलोक शाक्य पार्टी की तरफ से अधिकृत पर्चा खरीद चुके हैं। डिंपल आज लखनऊ से सैफई पहुंच रही हैं। वहीं मिशन मैनपुरी में जुटे अखिलेश यादव घर पर स्थानीय नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ बैठक कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि डिंपल की जीत को ऐतिहासिक बनाने के लिए पूरा यादव कुनबा इस बार उपचुनाव में जोर लगाएगा।
मैनपुरी में इतनी भी आसान नहीं डिंपल की राह, शिवपाल रुठे तो निकलेगी साइकल की हवा, X- फैक्टर क्यों हैं चाचा?
सपा का मजबूत किला माने जाने वाले मैनपुरी लोकसभा में डिंपल की जीत को तय माना जा रहा है। ऐसा माना जा रहा है कि मुलायम के निधन की सहानुभूति लहर और सपा का गढ़ होने की वजह से अखिलेश यादव की पत्नी को चुनाव जीतने में कठिनाई का सामना नहीं करना पड़ेगा। हालांकि डिंपल के सामने बीजेपी जैसी मजबूत राजनीतिक पार्टी है, जो छोटे से चुनाव को भी मिशन मोड में लड़ती है। वहीं चर्चा यह भी है कि भगवा खेमे से मुलायम की छोटी बहू अपर्णा यादव को टिकट दिया जा सकता है।

जातीय आंकड़ों पर निगाह डाले तो मैनपुरी संसदीय क्षेत्र में सर्वाधिक लगभग सवा चार लाख यादव मतदाता हैं। उसके बाद शाक्य मतदाताओं की संख्या करीब सवा तीन लाख है। क्षत्रिय 2.25 लाख और ब्राह्मण मतदाताओं की संख्या करीब एक लाख 10 हजार है। दलित वोटों में सबसे अधिक 1 लाख 20 हजार जाटव मतदाता हैं। क्षेत्र में लगभग एक लाख लोधी, 70 हजार वैश्य और 55 हजार मुस्लिम मतदाता हैं।
Mainpuri Byelection 2022: मैनपुरी में अखिलेश ने दे दिया सरप्राइज, लोकसभा उपचुनाव में डिंपल यादव को मैदान में उतारा
समाजवादी पार्टी पिछले चुनावों में यादव, शाक्य और मुस्लिम मतों के समीकरण पर चुनाव जीतती आई है। पूर्व विधायक आलोक शाक्य को जिले का नया अध्यक्ष बनाकर अखिलेश ने शाक्य बिरादरी को साधा है और साथ ही डिंपल के मैदान में उतरने से यादव फैमिली और जातीय समीकरण साधा गया है। उधर AIMIM के खेमे से अतीक अहमद की पत्नी को कैंडिडेट बनाए जाने की अपुष्ट खबरें आईं। बीजेपी भी ग्राउंड लेवल पर सर्वे और गुणा गणित में जुटी है। कर सकती है।


Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments