Thursday, December 2, 2021
HomeUttar Pradeshbhagidari sankalp morcha: ek manch par honge akhilesh aur shivpal: एक मंच...

bhagidari sankalp morcha: ek manch par honge akhilesh aur shivpal: एक मंच पर होंगे अखिलेश और शिवपाल


वेद नारायण मिश्रा, मऊ
यूपी विधानसभा चुनाव 2022 के मद्देनजर पूर्वांचल की सीटों को साधने के फिराक में समाजवादी पार्टी (SP) और भागीदारी संकल्प मोर्चा के गठबंधन की विशाल जनसभा 27 अक्टूबर को होने जा रही है। जिसमें एसपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव, प्रसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव, एआईएमआईएम चीफ असद्दुद्दीन ओवैसी समेत कई छोटे दलों के नेता एक मंच पर इकट्ठे होकर चुनावी शंखनाद करेंगे। शनिवार को रैली स्थल का जायजा लेने हलधरपुर पहुंचे सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने मीडिया को यह जानकारी दी।

जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आते जा रहे हैं। सभी दल अपने-अपने जुगाड़ में लग गए हैं। काफी समय से बड़े साथी की तलाश कर रहे सुभासपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर को आखिर एसपी का साथ मिल ही गया। ओमप्रकाश राजभर ने शनिवार को पत्रकारों से बातचीत में बताया कि 27 अक्टूबर को एसपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के मौजूदगी में भागीदारी संकल्प मोर्चा और समाजवादी पार्टी के गठबंधन का ऐलान होगा। मोर्चा में शामिल सभी 12 दलों के सभी साथी 27 अक्टूबर को एक मंच पर होंगे और जनता के बीच पंचायत होगी और गठबंधन की घोषणा की जाएगी। उन्होंने एआईएमआईएम प्रमुख ओवैसी के शामिल होने की भी बात कही। शिवपाल यादव के शामिल होने के प्रश्न पर उन्होंने गोलमोल जवाब देते हुए कहा कि शिवपाल जी रथ लेकर निकले हैं, 27 तक इंतजार करिए।

मुख्तार अंसारी पर किए गए प्रश्न के जवाब में उन्होंने बीजेपी पर तीखा हमला करते हुए कहा कि मुख्तार अंसारी और अतीक मुसलमान हैं, इसलिए सब उनके ऊपर उंगली उठा देते हैं, जबकि इनसे भी बड़े अपराधी खुले घूम रहे हैं, अगर सरकार की हिम्मत है तो माफियाओं की सूची जारी करें। उन्होंने कहा कि ब्रजेश सिंह और अभय मिश्र के यहां बुलडोजर नहीं चलेगा। 9 हत्याओं के बाद भी अगर सुप्रीम कोर्ट डंडा नहीं उठाता तो शायद अभी तक गिरफ्तारी भी नहीं होती।
मिर्जापुर में एमडीएम में नमक-रोटी दिखाने वाले पत्रकार को जेल भेज दिया जाता है। बलिया में पाल की हत्या हुई और अपराधी को बचाया जा रहा है। हाथरस में बेटी की लाश 12:00 बजे रात में जलाई जाती है और अपराधी को बचाया जाता है। इटावा में एसपी को थप्पड़ मारने वाले को जिलाध्यक्ष बना दिया जाता है। बीजेपी ऐसी वाशिंग मशीन है कि इधर से अपराधी आते हैं, उधर से क्लीनचिट होकर निकलते हैं।

UP election 2022: रामभक्तों पर गोली, मऊ दंगे, अजीत राय हत्याकांड… सपा पर निशाना साध योगी ने बताए चुनावी मुद्दे!
मुख्तार अंसारी पर काफी नरम दिखे ओमप्रकाश राजभर
मुख्तार अंसारी पर ओमप्रकाश राजभर काफी नरम दिखे। उन्होंने कहा कि मुख्तार अंसारी की जनता पर पकड़ है। मुख्तार लोग जनता के दुख-सुख में शामिल होते हैं, तभी तो जनता ने उन्हें 5 बार से विधायक बनाया है और मुख्तार अंसारी को तो बीजेपी ही जितवाती है, मैं इसका गवाह हूं।

सुभासपा के टिकट से मुख्तार अंसारी के चुनाव लड़ने के प्रश्न पर उन्होंने कहा कि मुख्तार हमारी पार्टी से चुनाव नहीं लड़ेंगे। बाकी 27 अक्टूबर को हम जिले में एक बड़ी रैली करने वाले हैं। जिसमें गठबंधन के सभी 12 दल के नेता मंच साझा करेंगे। इस रैली में अखिलेश यादव और सभी बड़े नेता शामिल रहेंगे।



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments