Sunday, November 27, 2022
HomeUttar PradeshAshish Mishra Arrested: UP Police arrested Ashish Mishra In Lakhimpur Violence Case:...

Ashish Mishra Arrested: UP Police arrested Ashish Mishra In Lakhimpur Violence Case: यूपी पुलिस ने आशीष मिश्रा को गिरफ्तार किया


हाइलाइट्स

  • केंद्रीय मंत्री के बेटे आशीष मिश्रा गिरफ्तार, 12 घंटे तक चली पूछताछ
  • वीडियो और शपथपत्र देकर कहा, मैं नहीं था घटनास्थल पर
  • जांच समिति आरोपी आशीष मिश्रा के दावों से संतुष्ट नहीं हुई

लखनऊ/लखीमपुर
लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा उर्फ टेनी के बेटे आशीष मिश्रा उर्फ मोनू को आखिरकार शनिवार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। लखीमपुर स्थित पुलिस लाइंस में जांच समिति आशीष से 12 घंटे से ज्यादा समय तक पूछताछ करती रही। आशीष ने कई वीडियो क्लिप और शपथ पत्र देकर दावा किया कि वह घटनास्थल पर मौजूद नहीं थे। सूत्रों के मुताबिक जांच टीम उनके दावों से संतुष्ट नहीं हुई और आखिरकार लखीमपुर पुलिस ने उनको गिरफ्तार कर लिया।

12 पेन ड्राइव में वीडियो पेश किया
पुलिस ने मंत्री के घर पर नोटिस चस्पा कर शनिवार सुबह 11 बजे आने को कहा था। हालांकि, आशीष इससे 24 मिनट पहले 10.36 बजे ही पुलिस लाइंस स्थित क्राइम ब्रांच के दफ्तर पहुंच गए। आशीष ने जांच समिति को 12 पेनड्राइव में कई वीडियो, फोटो और करीब एक दर्जन शपथ पत्र दिए। शपथ पत्र में लोगों ने कहा है कि घटना वाले दिन सुबह से शाम तक आशीष बनबीरपुर गांव में दंगल कार्यक्रम में थे। वह महेंद्रा थार में नहीं थे। बताया जा रहा है कि तीन अक्टूबर को हुई घटना के बाद आशीष अपनी राइस मिल पर गए थे। पुलिस थार से मिले 315 बोर के मिस्ड कारतूसों की भी जांच कर रही है। जानकारी के मुताबिक टीम को शक है कि ये कारतूस आशीष के 315 बोर के लाइसेंसी असलहे के हैं। जांच टीम ने शासन से फरेंसिक टीम की मांग की है। समिति सभी विडियो की गहनता से जांच और विश्लेषण कर रही है।

लंबी पूछताछ के बाद हमने पाया कि वे (आशीष मिश्रा) सहयोग नहीं कर रहे, विवेचना में कई बातें बताना नहीं चाहते। इसलिए हम उन्हें गिरफ्तार कर रहे हैं, उन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा।

पर्यवेक्षण समिति के अध्यक्ष DIG उपेंद्र अग्रवाल

जांच समिति दावों से संतुष्ट नहीं
सूत्रों के मुताबिक आशीष ने जांच टीम के सामने अपने पक्ष में जो भी बयान दिए, उसे साबित करने के लिए वह साक्ष्य नहीं पेश कर सके। आशीष ने हरिओम को थार का ड्राइवर बताया, जबकि थार के ड्राइवर ने सफेद शर्ट और हरिओम ने पीली शर्ट पहनी थी। जानकारी के मुताबिक आशीष ने घटना वाले दिन सफेद शर्ट पहन रखी थी। इस कारण माना जा रहा है कि थार आशीष खुद चला रहे थे। आशीष ने दंगल में मौजूद होने के संबंध में जो भी साक्ष्य और विडियो पेश किए, उनसे भी जांच समिति संतुष्ट नहीं दिखी।

Lakhimpur Kheri: लखीमपुर खीरी में किसानों को कुचलने वाली जीप का नहीं था बीमा, केंद्रीय मंत्री के नाम पर था रजिस्ट्रेशन
दोस्त की तलाश में हुई छापेमारी
पुलिस की दो टीमों ने आशीष के दोस्त अंकित दास की तलाश में लखनऊ के दो और लखीमपुर में एक जगह छापेमारी की। हिंसा के दौरान जलाई गई फॉर्च्युनर गाड़ी अंकित की बताई जा रही है। पुलिस अंकित के ड्राइवर कल्लन को हिरासत में लेकर घटना के संबंध में पूछताछ कर रही है। वहीं, तीसरी गाड़ी स्कॉर्पियो लखीमपुर के ठेकेदार अबरार की है। अबरार घटना के समय पीजीआई में भर्ती थे। पुलिस का कहना है कि आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पूछताछ कर फरेंसिक साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं।

आशीष पर लगी हैं ये धाराएं
आशीष मिश्रा के खिलाफ आईपीसी की धारा 147, 148, 149 (दंगों से संबंधित), 279 (लापरवाही से गाड़ी चलाना), 338 (किसी शख्स को चोट पहुंचाना जिससे उसकी जान को खतरा हो), 304-ए (लापरवाही से मौत), 302 (हत्या) और 120 बी (आपराधिक साजिश रचना) के तहत केस दर्ज हुआ है।

‘कोई भी कानून से ऊपर नहीं…’, लखीमपुर खीरी हिंसा मामले पर बोले BJP चीफ नड्डा
मांगें न मानीं तो रेल रोकेगा किसान मोर्चा
किसान नेताओं ने बेटे के अलावा केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के गिरफ्तारी की भी मांग की है। संयुक्त किसान मोर्चा ने कहा कि 11 अक्टूबर तक मांगें न मानी गईं तो लखीमपुर से शहीद किसान यात्रा निकाली जाएगी और दशहरे पर पीएम और केंद्रीय गृह मंत्री के पुतले फूंकेंगे। राकेश टिकैत, योगेंद्र यादव समेत कई किसान नेताओं ने ऐलान किया कि 18 अक्टूबर को रेल रोकी जाएगी और 26 अक्टूबर को लखनऊ में महापंचायत होगी।

Ashish-Kumar



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments