Monday, August 8, 2022
HomeUttar Pradeshakhilesh das nephew in lakhimpur violce: person injured in the violence claim...

akhilesh das nephew in lakhimpur violce: person injured in the violence claim that former congress mp akhilesh das nephew ankit das was also present in the convoy पूर्व कांग्रेस सांसद अखिलेश दास का भतीजा भी था काफिले में मौजूद, हिंसा में घायल शख्‍स ने किया दावा


हाइलाइट्स

  • लखीमपुर खीरी हिंसा से जुड़ा एक और वीडियो सामने आया
  • घायल शख्‍स का दावा- काफिले में अंकित दास भी मौजूद थे
  • पूर्व कांग्रेस सांसद अखिलेश दास के भतीजे हैं अंकित दास

लखीमपुर खीरी
लखीमपुर हिंसा को लेकर लगातार नए-नए खुलासे हो रहे हैं। इस मामले में अब एक नया वीडियो सामने आया है। इसमें एक घायल शख्‍स पुलिस के सामने दावा कर रहा है कि काफिले में पूर्व कांग्रेस सांसद अखिलेश दास के भतीजे अंकित दास भी अपनी फार्च्‍यूनर गाड़ी में सवार थे। लखनऊ के हुसैनगंज में रहने वाले इस युवक का कहना है कि हम लोग अंकित दास की गाड़ी में बैठे हुए थे।

एक न्‍यूज चैनल की रिपोर्ट के मुताबिक, इस वीडियो में शख्‍स बता रहा है कि वह अंकित दास के साथ लिखा-पढ़ी का काम करता है। वह पांच लोगों के साथ लखनऊ से लखीमपुर के कार्यक्रम में शामिल होने आया था। काफिले में उनके आगे थार जीप सड़क पर खड़े लोगों को कुचलती हुई जा रही थी। अंकित दास की काले रंग की फॉर्च्‍यूनर गाड़ी उस जीप के पीछे-पीछे चल रही थी। इसी दौरान बाहर खड़ी भीड़ ने उन लोगों पर हमला बोल दिया। थार जीप किसकी थी और उसमें कौन लोग सवार थे, इस बारे में शख्‍स ने जानकारी से इन्‍कार कर दिया।

Lakhimpur Violence: ‘नहीं भागता तो उपद्रवी मेरी जान भी ले लेते… नहीं सोचा था दोस्‍त को मरते हुए देखूंगा’ चश्‍मदीद सुमित ने बयां की आपबीती
थार जीप में बैठे ड्राइवर और बीजेपी नेता को भीड़ ने मार डाला
गौरतलब है कि थार जीप के ड्राइवर और उसमें बैठे शुभम मिश्रा नाम के बीजेपी नेता की भीड़ ने लाठियों से पीट कर हत्‍या कर दी थी। जीप में बैठे एक अन्‍य बीजेपी नेता सुमित जायसवाल ने मौके से भागकर अपनी जान बचाई। इस संबंध में एक वीडियो भी वायरल हुआ है जिसमें सुमित जीप का दरवाजा खोलकर भागता हुआ नजर आ रहा है। सुमित का कहना है कि अगर वह मौके से नहीं भागता तो लोग उसको भी पीटकर मार डालते।

Lakhimpur Violence: क्या सुमित जायसवाल को गिरफ्तार करने से डर रही है यूपी पुलिस? दें अपनी राय
मंत्री के बेटे समेत 14 पर हो चुकी है एफआईआर
लखीमपुर हिंसा मामले में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हुई है। यूपी सरकार ने हर किसान के परिवार को 45 लाख रुपये का मुआवजा और सरकारी नौकरी की मांग मंजूर कर ली है। पुलिस केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा समेत 14 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर चुकी है। हालांकि अभी तक किसी की भी गिरफ्तारी नहीं हुई है। विपक्षी दल लगातार सरकार पर दबाव बनाए हुए हैं।

लखीमपुर हिंसा में नया खुलासा

लखीमपुर हिंसा में नया खुलासा



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments