Monday, May 17, 2021
Home Desh Adar Poonawala ने कोरोना कोविशिल्ड वैक्सीन का उत्पादन ब्रिटेन में शुरू किया।

Adar Poonawala ने कोरोना कोविशिल्ड वैक्सीन का उत्पादन ब्रिटेन में शुरू किया।


सरकार के बयान के मुताबिक सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने यूके में वैक्सीन बिजनस में 240 मिलियन पाउंड का निवेश किया है

अदार पूनावाला

लंदन सरकार के सहयोग से शुरू किया वैक्सीन उत्पादन (फोटो क्रेडिट: न्यूज नेशन)

हाइलाइट

  • कंपनियों ने कहा कि सरकार ने केवल कम संख्या में काम किया
  • सरकार का कहना है कि कंपनियां नहीं कर पा रही हैं
  • इस बीच अदर पूनावाला ने लंदन में शुरू किया वैक्सीन उत्पादन

नई दिल्ली / लंदन:

भारत (भारत) बढ़ते हुए कोरोना कहर (कोरोना वायरस) के बीच टीकाकरण पर राजनीति भी तेज होती रही है। 1 मई से 18 प्लस के लोगों को वैक्सीनेशन (टीकाकरण) अभियान के बाद तो कोरोना वैक्सीन की किल्लत को लेकर काफी कुछ कहा-सुना जा रहा है। इस रार के बीच सीरम इंस्टूट्यूट के अदार पूनावाला ने सरकार को ही कठघरे में खड़ा करते हुए बयान दे दिया कि कोरोना केस घटते देख वैक्सीन का नंबर ही नहीं दिया। हालांकि सरकार ने कहा है कि पर्याप्त संख्या दी गई है, लेकिन कंपनियां केवल सप्लाई नहीं कर पा रहीं। इस बीच अदार पूनावाला (अदार पूनावाला) भारी दबाव का एक और आरोप लगाया ब्रिटेन चले गए। अब पता चला है कि उन्होंने वहां वैक्सीन का उत्पादन भी शुरू कर दिया है।

अदार ने सरकार पर कम संख्या देने का एक और आरोप लगाया
गौरतलब है कि अदर ने कहा था कि जनवरी में जब केस घटने लगे तो सरकार ने कोरोना संक्रमण को हल्के में ले लिया और वैक्सीन के डिलीवरी मिलने बंद हो गए। इस कारण से सेरम इंस्टीट्यूट ने टीके बनाने की क्षमता को बढ़ाया नहीं। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में भी ये दावा किया गया कि सरकार ने पर्याप्त वैक्सीन के आवेदन नहीं दिए हैं। इसी तरह सरकार का बयान आया है कि वैक्सीन के भर्ती दिए गए हैं, लेकिन कंपनियां वैक्सीन की सप्लाई नहीं कर पा रही हैं। यहां तक ​​कि दूसरे चरण के भर्ती की भी पूरी वैक्सीन आपूर्ति नहीं हो पाई हैं।

यह भी पढ़ें: ऑक्सीजन की कमी से 23 मौत होने के बाद कनार्टक सरकार ने दी जांच के आदेश

सरकार ने कंपनियों पर कम आपूर्ति का लगाया आरोप
भारत सरकार के मुताबिक पिछले महीने ही 160 मिलियन वैक्सीन का नंबर दे दिया गया था, जिसे इन तीन महीनों में हिसार किया जाना है। सरकार ने 28 अप्रैल को 110 मिलियन कोविशील्ड वैक्सीन (सीरम इंस्टीट्यूट की) और 50 मिलियन कोविक्सिन (भारत बायोटेक की) का नंबर दे दिया है। सरकार ने ये भी कहा है कि 28 अप्रैल को ही सीरम इंस्टीट्यूट को 1732 .5 करोड़ रुपये और भारत बायोटेक को 787.5 करोड़ रुपये का पूरा भुगतान एडवांस में ही कर दिया गया है। सरकार ने कहा है कि ऐसे में ये कहना गलत होगा कि सरकार ने नई भर्ती नहीं दी थी। सरकार ने ये भी कहा है कि उस और पेमेंट के बावजूद अभी भी कंपनियां दूसरी संख्या को भी पूरा हिसार नहीं कर पाई हैं। सेराम इंस्टीट्यूट ने 100 मिलियन डोज के नंबर में से अब तक 87.4 मिलियन डोज हिसार की हैं और भारत बायोटेक ने 8.81 मिलियन नंबर हवार किए हैं, जिन्हें 20 मिलियन डोज का नंबर दिया गया था।

यह भी पढ़ें: कोरोना के मामलों में गिरावट, 24 घंटे में 3.57 लाख नए बीमार, 3449 मौतें

वैक्सीन बिजनस में पूनावाला का 240 मिलीयन पाउंड का निवेश
अब सरकार और वैक्सीन कंपनियों के दावों-प्रदावों के बीच ब्रिटिश सरकार का एक बयान आया है। बोरिस जोन्सन सरकार ने एक बयान में कहा है कि यूके के पीएम ने यूके-इंडिया की नई ट्रेड डील के तहत 1 अरब पाउंड की घोषणा की है, जिससे देश में लगभग 6500 से भी अधिक आर्थिक सृजन होगा। सरकार के बयान के मुताबिक सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने यूके में वैक्सीन बिजनस में 240 मिलियन पाउंड का निवेश किया है, जिसके तहत एक नई सेल्स ऑफिस भी खोला जाएगा। ऐसे में अब ये भी सवाल उठने लगे हैं कि वाकई धमकियों से डर कर पूनावाला ब्रिटेन भागे थे या फिर ये अपने बिजनस को बड़ा करने का बहाना था?



संबंधित लेख

पहली प्रकाशित: 04 मई 2021, 10:33:09 पूर्वाह्न

सभी के लिए नवीनतम भारत समाचार, न्यूज नेशन डाउनलोड करें एंड्रॉयड तथा आईओएस मोबाईल ऐप्स।






Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments