Wednesday, April 14, 2021
Home Desh 1.25 लाख से अधिक नए कोविद -19 मामलों में भारत की रिपोर्ट,...

1.25 लाख से अधिक नए कोविद -19 मामलों में भारत की रिपोर्ट, कई राज्यों ने लागू किया रात कर्फ्यू


महामारी की शुरुआत से ही अब तक ऐसा पहली बार हुआ है, जब एक दिन में 1 लाख 26 हजार से अधिक नए मामले सामने आए हैं।

कोरोना इंडिया

एक दिन में अब तक सबसे अधिक 1.26 लाख से अधिक प्रकरण आए। (फोटो क्रेडिट: न्यूज नेशन)

हाइलाइट

  • एक दिन में सामने आया 1.26 लाख से ज्यादा केस
  • कोरोना लहर बढ़ रही है पीक की ओर
  • पंजाब, यूपी सहित कई राज्यों में नाइट कर्फ्यू शामिल हैं

नई दिल्ली:

केंद्र सरकार और कुछ राज्यों में कोरोना वैक्सीन (कोरोना वैक्सीन) की कमी को लेकर छिड़ी रार के बीच भारत में कोरोनावायरस (कोरोना वायरस) की दूसरी लहर का कहर काफी विकराल होता दिखाई दे रहा है। बीते 24 घंटे में एक दिन में सामने आया कोरोनावायरस के मामलों ने सारे रिकॉर्ड ध्वस्त कर दिए और सबसे अधिक 1.26 लाख का आंकड़ा पारो लिया। महामारी की शुरुआत से ही अब तक ऐसा पहली बार हुआ है, जब एक दिन में 1 लाख 26 हजार से अधिक नए मामले सामने आए हैं। बुधवार को लगातार दूसरे दिन कोरोनावायरस के सबसे अधिक मामले दर्ज किए गए। मंगलवार को जहां 1 लाख 15 हजार से अधिक केस सामने आए थे, वहीं बुधवार को यह आंकड़ा करीब 1 लाख 26 हजार से ज्यादा हो गया। कोरोना के बढ़ते इस कहर को देखते हुए अब पाबंदियां लौट आई हैं। कहीं लॉकडाउन (कोरोना लॉकडाउन) तो कहीं नाइट कफ़्यू (नाइट कर्फ्यू) का ऐलान हो गया है।

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में नौ अप्रैल से 19 अप्रैल तक पूर्ण लॉकडाउन का ऐलान किया गया। वहीं पंजाब सरकार ने राज्यव्यापी नाइट कर्फ्यू को 30 अप्रैल तक बढ़ा दिया। यहाँ तक उसुरु ने भी शहर में व्यापक पूल और जिम सेंटरों को बैन कर दिया है। इसके अलावा गुरुवार से उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ, कानपुर सहित कई शहरों में नाइट कर्फ्यू का ऐलान किया गया है। देश में कोरोना की दूसरी लहर ने कोरोना की पहली लहर के पीक को पार कर लिया है, जहां सितंबर 2020 में 93 हजार के आसपास केस आते थे, वहीं अभी देश में औसतन 100761 नए दैनिक मामले सामने आ रहे हैं। इसका मतलब है कि दूसरी लहर अपने पीक की ओर बढ़ रही है।

यह भी पढ़ें: कोरोना के बिगड़े हालात, लखनऊ, कानुपर और वाराणसी में आज से नाइट कर्फ्यू

मुंबई, चंडीगढ़ के बाद दिल्ली में भी नाइट कर्फ्यू का ऐलान किया जा चुका है। दिल्ली में 30 अप्रैल तक पाबंदियां लागू की गई हैं। कोरोना की वजह से सबसे अधिक हालत खराब महाराष्ट्र की है, जहां भारत के कुल कोरोना मामलों में आधा का योगदान इसी राज्य का है। यही कारण है कि महाराष्ट्र के कई शहरों में प्रशासन ने नाइट कर्फ्यू से लेकर वीकेंड लॉकडाउन तक को लागू किया है। इसके अलावा, राजस्थान और गुजरात में भी सरकार ने नाइट कर्फ्यू का ऐलान किया है।

यह भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट महाराष्ट्र सरकार और अनिल देशमुख की अर्जी पर आज सुनवाई करेगा

महाराष्ट्र के बाद छत्तीसगढ़ भारत का दूसरा सबसे बड़ा हॉटस्पॉट बनकर उभरा है, जहां कोरोनावायरस के लगातार केस सामने आ रहे हैं। यही कारण है कि रायपुर जिले में 11 दिनों का पूर्ण लॉकडाउन लगाया गया है। रायपुर में मंगलवार तक 76 हजार से अधिक केस दर्ज किए गए हैं और 1000 से अधिक लोगों की मौतें हो चुकी हैं। बीते 6 दिनों में रायपुर में दस हजार से अधिक मामले आए हैं और 93 लोगों की मौत हुई है। भारत में बढ़ते कोरोना केसों के बीच केंद्र सरकार ने आगाह किया कि अगले चार सप्ताह बेहद महत्वपूर्ण हैं और लोगों को महामारी की दूसरी लहर का मुकाबला करने में सहयोग करना चाहिए। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्ष वर्धन ने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि लोगों ने स्पष्ट रूप से एहतियात को तिलांजलि दे दी है।



संबंधित लेख

पहली प्रकाशित: 08 अप्रैल 2021, 07:28:19 पूर्वाह्न

सभी के लिए नवीनतम भारत समाचार, न्यूज नेशन डाउनलोड करें एंड्रॉयड तथा आईओएस मोबाइल क्षुधा।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments