Thursday, October 22, 2020
Home Desh सुखबीर सिंह बादल कहते हैं कि यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि किसानों...

सुखबीर सिंह बादल कहते हैं कि यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि किसानों की चिंताओं पर विचार नहीं किया गया – सुखबीर सिंह बादल ने कहा- बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि किसानों के विचारों पर विचार नहीं किया गया


सुखबीर सिंह बादल ने कहा- बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि किसानों की भावनाओं पर विचार नहीं किया गया

सुखबीर सिंह बादल (फाइल फोटो)

चंडीगढ़:

शिरोमणि अकाली समूह (शिअद) प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने शुक्रवार को कहा कि यह ‘पूर्ण बहुत दुःखपूर्ण है’है कि भाजपा नीत केंद्र सरकार ने कृषि से संबंधित तीन राज्योंय किसानों पर किसानों के विचारों पर विचार किया था। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी के किसानों की आशंकाएं सरकार के संज्ञान में आई थीं। साथ ही, भाजपा के साथ गठबंधन अब भी जारी रखने के विषय पर उन्होंने कहा कि पार्टी नेतृत्व जल्द ही बैठक करेगा और इस बारे में कोई अंतिम निर्णय नहीं करेगा। बादल ने संसद में हलवाईयों के खिलाफ मतदान नहीं करने के बारे में कांग्रेस की भी आलोचना की।

यह भी पढ़ें

उन्होंने लोकसभा में वार्तायकों पर बल्ले के दौरान विपक्षी पार्टी के सदन से वाकआऊट कर जाने के संदर्भ में यह बात कही। उल्लेखनीय है कि पंजाब में कांग्रेस की सरकार है। इन किसानों के जरिये किसानों के लिए फसल की बेहतर कीमत सुनिश्चित करने के बारे में कृषि उपज की बिक्री से जुड़े नियमों को समाप्त करना है। कई किसान संगठनों और विपक्षी दलों ने कहा है कि ये कदम फसल की ‘'न्यूनतम समर्थन मूल्य' '(MSP) व्यवस्था को तहस-नहस करने की दिशा में हैं। बादल की पत्नी हरसिमरत कौर बादल ने बृहस्पतिवार को नरेंद्र मोदी सरकार से इस्तीफा देते हुए कहा था कि उसने विधेयक को लेकर प्रकट की गई टिप्पणियों पर गौर नहीं किया।

बादल ने पीटीआई-भाषा से संवादों पर कहा, ‘-यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है। '' हरसिमरत ने चार पृष्ठों के अपने इस्तीफे में कहा कि उन्होंने विधेयक का रूप दिये गये कृषि अध्यादेशों को लेकर किसानों की कल्पना पर विचार करने और उनका समाधान करने के लिए केंद्रीय मंत्रियों को मनाने की कोशिश की थी। उन्होंने लिखा, कि ‘मुझे यही आश्वासन दिया जा रहा है कि चूंकि अध्यादेश एक अस्थायी व्यवस्था होती है इसलिए संसद में इस मुद्दे को विधान का रूप देते समय मेरी सहमति और अनुरोध का हल कर देगा। '' शिअद ने लोकसभा में आवश्यक वस्तु (संशोधन) विधेयक, किसान उत्पाद व्यापार और व्यापार (और एवं संवर्द्धन) विधेयक, और मूल्य आश्वासन पर किसान (सशक्तीकरण और संरक्षण) समझौता और कृषि सेवाएं विधेयक के खिलाफ लोकसभा में दांव लगाया।

शिअद प्रमुख और फिरोजपुर से सांसद बादल ने कहा कि उन्होंने किसानों की चिंताओं को दो महीने तक सरकार के संज्ञान में लाने की कोशिश की थी। उन्होंने कहा, किसान प्रत्येक मैं प्रत्येक किसान संगठन और किसान नेता से मिला। हमारी कोशिश यह थी कि उनके जो कुछ भी सुझाव हैं उन्हें इस विधेयक में शामिल किया जाना चाहिए। '' बादल ने कहा, ‘‘ लेकिन वे (सरकार) इस पर राजी नहीं हुए। '' इसके बाद पार्टी ने सरकार को चेतावनी देने वाले को प्रवर समिति के पास भेजने के लिए मनाने की कोशिश की। उन्होंने हरसिमरत के नील से इस्तीफे का जिक्र करते हुए कहा, ‘में तब अंत में, हमारे पास कोई विकल्प नहीं बचा था। '' उन्होंने पूछा, ‘‘ यदि आप किसी व्यक्ति के लिए विधेयक का अनुमोदन तैयार करते हैं और वह नाखुश है तो ऐसे विधेयक का क्या उपयोग है? '

वह किसानों से परामर्श करने पर जोर देते हुए यह बात कही। यह पूछे जाने पर कि क्या अकाली दल 25 सितंबर को पंजाब बंद के किसानों के आह्वान का समर्थन करेगा, बादल ने कहा कि उनकी पार्टी किसानों के साथ है, किसानों के लिए और किसानों के लिए लड़ेगी। बादल ने पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह पर '' दोहरा खेल''खेलने का आरोप लगाते हुए दावा किया कि कांग्रेस नेता कृषि पर उच्चाधिकार समिति का हिस्सा थे और उनकी सरकार ने कृषि अध्यादेशों को तैयार करने में हिस्सा लिया था।

VIDEO: मैं उस कानून का हिस्सा नहीं बन सकता जो किसान विरोधी हो: हरसिमरत कौर बादल

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने साझा नहीं किया है, यह सिंडीकेट ट्वीट से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

राहुल गांधी ने फिर चीन-भारत के मुद्दे पर प्रधान मंत्री पर निशाना साधा – राहुल गांधी ने चीन-भारत गतिरोध को लेकर प्रधानमंत्री पर फिर...

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी- फाइल फोटोनई दिल्ली: कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने चीन-भारत सैन्य गतिरोध के लिए नरेंद्र मोदी पर अपना...

दिवाली पर भारत में लॉन्च होगी निसान मैग्नेट, जानिए क्या होगी कीमत SUV: निसान मैग्नेट इंडिया में दिवाली पर होगी लॉन्च, जानें क्या होगी...

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कार निर्माता निसान (निसान) की आगामी सभी कॉम्पैक्ट एसयूवी मैग्नाइट (मैग्नेट) लंबे समय से चर्चा में है।...

Recent Comments