Saturday, October 24, 2020
Home Pradesh Uttar Pradesh संगम में स्नान के लिए अब श्रद्धालुओं को देना होगा प्रवेश शुल्क

संगम में स्नान के लिए अब श्रद्धालुओं को देना होगा प्रवेश शुल्क


संगम स्नान के लिए जाने वालों को देना होगा प्रवेश शुल्क

संगम स्नान के लिए जाने वालों को देना होगा प्रवेश शुल्क

प्रयागराज समाचार: छावनी परिषद बोर्ड की बैठक में ही संगम क्षेत्र में बैरियर लगाने को लेकर निर्णय लिया गया था। छावनी परिषद ने अपनी आय बढ़ाने के लिए ये फैसला लिया था। जिसके बाद अब टेंडर जारी किया गया है।

  • News18Hindi
  • आखरी अपडेट:
    18 अक्टूबर, 2020, 10:51 पूर्वाह्न IST

प्रयागराज। उत्तर प्रदेश (उत्तर प्रदेश) के प्रयागराज (प्रयागराज) में अब संगम (संगम) में स्नान करने के लिए जाने वाले श्रद्धालुओं को कीमत अदा करनी होगी। छावनी परिषद ने बैरियर लगाकर चार पहिया वाहनों से प्रवेश शुल्क वसूलने का फैसला लिया है। इसके लिए छावनी परिषद ने शनिवार को टेंडर जारी किया है। इसके तहत प्रवेश शुल्क लेने के बाद श्रद्धालुओं को पार्किंग की सुविधा भी दी जाएगी।

आय में होगा इजाफा

गौरतलब है कि छावनी परिषद बोर्ड की बैठक में ही संगम क्षेत्र में बैटर लगाने को लेकर निर्णय लिया गया था। छावनी परिषद ने अपनी आय बढ़ाने के लिए ये फैसला लिया था। जिसके बाद अब टेंडर जारी किया गया है। छावनी परिषद की ओर से बड़े हनुमान मंदिर और रामघाट चौराहे पर बैराज लगाया जाएगा। चार पहिया वाहनों में सवार लोग यहां प्रवेश शुल्क देने के बाद आगे जाएंगे। छावनी परिषद को उम्मीद है कि आगामी माघ मेले और स्नान के अन्य दिनों में इससे अच्छी आमदनी होगी। बता दें कि छावनी परिषद पूर्व में भी संगम पर पार्किंग शुल्क वसूल किया गया है।

लाखों की संख्या में पहुंचते हैं श्रद्धालुबता दें कि हर साल संगम की रेती पर लगने वाले माघ मेले में लाखों की संख्या में श्रद्धालु स्नान करने के लिए पहुंचते हैं। अगले साल जनवरी में लगने वाले माघ मेले के लिए भी प्रशासन की तरफ से मंजूरी दे दी गई है। जिसके बाद छावनी परिषद को लगता है कि प्रवेश शुल्क से उसके आय में इजाफा होगा।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

यूरोपीय संघ के घरेलू पर्यटन में विदेशियों की तुलना में तेजी से वृद्धि हुई है ईयू का घरेलू पर्यटन विदेशियों की तुलना में तेजी...

ब्रसेल्स, 24 अक्टूबर (आईएएनएस)। यूरोपीय संघ के (ईयू) घरेलू पर्यटन में विदेशी पर्यटकों की तुलना में तेजी से वृद्धि हुई है,...

मैसूर के दशहरा, हाथी की सवारी पर कोरोना का प्रभाव इस बार शहर की सड़कों पर नहीं पड़ेगा। – मैसूर के दशहरी की भव्यता...

mysore dussehra 2020: दशहरा में जंबोइडिंग मैसूर राजमहल परिसर में ही निकाली जाएगीमैसूर: मैसूर के प्रसिद्ध शाही दशहरा (mysore dussehra) की भव्यता पर...

Recent Comments