Sunday, October 2, 2022
HomeUttar Pradeshश्रीकांत त्यागी ऐसे ही नहीं VIP... 0001 नंबर की फॉर्च्युनर-सफारी समेत 5...

श्रीकांत त्यागी ऐसे ही नहीं VIP… 0001 नंबर की फॉर्च्युनर-सफारी समेत 5 लग्जरी गाड़ियां, पत्नी को गनर – shrikant tyagi arrested from meerut vip numbered vehicles wife got gunner revealed


नोएडा: उत्तर प्रदेश के नोएडा की सोसाइटी में महिला के साथ गालीगलौच और अभद्रता के आरोपी श्रीकांत त्यागी को गिरफ्तार कर लिया गया। गालीबाज नेता की गिरफ्तारी के बाद उसकी ठाट के चर्चे अब खासे चर्चित हो रहे हैं। खुद को वीआईपी दिखाने के लिए वह तरह-तरह के प्रयास करता था। श्रीकांत त्यागी को लग्जरी गाड़ियों का शौक था और वह अपनी इन्हीं गाड़ियों से लोगों पर रौब जमाता था। उसके पास 2 फॉर्च्युनर, 2 सफारी और एक होंडा सिटी कार थी। सभी गाड़ियों के नंबर 0001 से शुरू होते हैं। मेरठ से मंगलवार को गिरफ्तार किए गए श्रीकांत त्यागी को देर शाम पुलिस ने डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में पेश किया। वहां से उसे 14 न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया।

नोएडा पुलिस ने फरार नेता के पांच वाहनों को सीज किया गया है। इसमें फॉर्च्युनर भी शामिल है। इस गाड़ी पर विधायक का स्टिकर लगा हुआ था। कार के अंदर से पुलिस को वॉकी टॉकी मिली है। पूछताछ में आरोपी ने बताया कि विधायक का स्टिकर स्वामी प्रसाद मौर्य से मिला था। पुलिस इसकी जांच कर रही है। कुछ गाड़ियां श्रीकांत के नाम पर हैं तो कुछ उसकी पत्नी के नाम पर हैं। गाजियाबाद से पत्नी को मिले गनर मामले की भी जांच की जा रही है।

गाड़ियों के नंबर के लिए लाखों किए खर्च
पुलिस आयुक्त ने कहा कि हमारी टीमें इसकी हर गतिविधि पर पैनी नजर बनाए हुए थीं। नकुल त्यागी, संजय, ड्राइवर राहुल इसके मुख्य साथी हैं। ये सभी त्यागी के साथ लंबे समय से जुड़े हुए थे। त्यागी के पास जो वाहन मिले हैं सभी की नंबर प्लेट 001 है। आरोपी ने सभी गाड़ियों के नंबर के लिए लाखों रुपये खर्च किए हैं। वह नीलामी में मोटी रकम देकर यह नंबर लेता था।

50 स्थानों पर दबिश, 250 सीसीटीवी जांच के बाद गिरफ्तारी
करीब 50 जगहों पर दबिश, 250 से अधिक सीसीटीवी कैमरों की फुटेज की जांच, 25 संदिग्धों से पूछताछ के बाद पुलिस ने महिला से अभद्रता के मामले में फरार कथित बीजेपी नेता श्रीकांत त्यागी को ड्राइवर और दो अन्य साथियों के साथ मेरठ से गिरफ्तार किया है। इसके साथ ही श्रीकांत के पांच वाहनों को पुलिस ने सीज किया है। फॉर्च्युनर भी शामिल है। इस गाड़ी पर विधायक का स्टिकर लगा हुआ था। कार के अंदर से पुलिस को वॉकी टॉकी मिली है। पूछताछ में आरोपी ने बताया कि विधायक का स्टिकर स्वामी प्रसाद मौर्य से मिला था।

पुलिस महानिदेशक उत्तर प्रदेश की तरफ से आरोपी की गिरफ्तारी के लिए लगी टीम को एक लाख रुपये का इनाम दिया गया है। साथ ही प्रमुख सचिव गृह की ओर से टीम को 2 लाख रुपये का इनाम दिया गया है। श्रीकांत त्यागी को 14 दिन के लिए न्यायिक हिरासत में भेजा गया है।

वायरल हुआ था अभद्रता का वीडियो

पुलिस कमिश्नर गौतमबुद्धनगर आलोक सिंह ने बताया कि शुक्रवार को सोसायटी में महिला से अभद्रता का विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। वीडियो में श्रीकांत त्यागी महिला से अभद्रता करते हुए दिख रहा था। महिला ने देर शाम इसकी शिकायत फेज 2 थाने में दी थी। इसके बाद से आरोपी श्रीकांत त्यागी फरार हो गया था। आरोपी की गिरफ्तारी के लिए नोएडा पुलिस की 12 टीमें लगाई गई थीं। इंटेलिजेंस सेल, सर्विलांस सेल और अन्य जनपदों की पुलिस के सहयोग से मंगलवार सुबह 10:30 पर आरोपी श्रीकांत त्यागी को उसके तीन अन्य साथियों के साथ गिरफ्तार कर लिया गया।

आरोपी के साथ ड्राइवर राहुल और दो अन्य साथी संजय और नकुल के रूप में हुई है। पुलिस आयुक्त ने कहा कि पूछताछ के दौरान आरोपी ने बताया कि महिला के साथ की गई अभद्रता के लिए वह खेद जताता है। उससे आवेश में गलती हो गई।

लगातार बदल रहा था लोकेशन
पुलिस कमिश्नर ने बताया कि पुलिस से बचने के लिए ये लोग पहले दिल्ली एयरपोर्ट की तरफ भागे थे। उस वक्त तक मामला काफी फैल चुका था। इसलिए फ्लाइट पकड़ने का प्लान छोड़कर निजी गाड़ियों से उत्तराखंड निकल गए। पुलिस को भ्रमित करने के लिए गाड़ी में लगे जीपीएस को बंद कर रहे थे। साथ ही, मोबाइल फोन को भी वह बात करने के बाद लगातार बंद कर देते थे। इस कारण पुलिस को उनकी लोकेशन नहीं मिल पा रही थी। दिल्ली से निकलने के बाद पहले हरिद्वार गए। उसके बाद ऋषिकेश और फिर रुड़की पहुंच। इसके बाद गाजियाबाद, मेरठ, हापुड़, मुजफ्फरनगर, अलीगढ़ घूमते रहे थे। इस दौरान करीब 15 कारों को बदला था।

सीसीटीवी बने पुलिस के लिए हथियार
पुलिस आयुक्त ने बताया कि दिल्ली से निकलने के बाद आरोपी की तस्वीर देहरादून और ऋषिकेश के कई टोल प्लाजा पर दिखी थी। जब तक वहां पुलिस की टीमें पहुंचती आरोपी उसके 15 मिनट पहले ही फरार हो जाते थे। फरार नेता को पकड़ने के लिए पुलिस की 12 टीमों को शहर से सटे सभी जनपदों में भेज दिया गया था। साथ ही, उनकी मदद के लिए पुलिस की सर्विलांस टीम नोएडा से इनको जोड़ा गया था। दूसरे जनपदों और इंटेलिजेंस की टीम को भी सर्विलांस के जरिए एक साथ जोड़ दिया गया था।

पुलिस की टीमें जहां भी छापामारी कर रही थीं और जो भी सूचनाएं मिल रही थी उसे मॉनिटरिंग सेल के पास भेजा जा रहा था। इस दौरान करीब 250 से अधिक सीसीटीवी कैमरा की जांच की गई है। इसके साथ ही 50 अधिक लोगों के काल का डिटेल वा 25 संदिग्धों से पूछताछ करने के बाद पुलिस आरोपियों तक पहुंचने में कामयाब हो गई है।

श्रीकांत को 5 और पत्नी को मिले थे 2 गनर
श्रीकांत त्यागी की राजनीति भले ही नोएडा में सक्रिय न हो, लेकिन दोनों पति-पत्नी 7 गनर की सुरक्षा के साथ चलते थे। श्रीकांत त्यागी के पास 5 गनर थे और उनकी पत्नी के साथ दो गनर चलते थे। 2019 में जब जिला प्रशासन को लोगों से बदसलूकी की शिकायतें मिलीं तब तत्कालीन डीएम के संज्ञान में आया कि श्रीकांत त्यागी पर अलग-अलग थानों में कई मुकदमे दर्ज हैं। इसके चलते तत्कालीन डीएम बीएन सिंह ने गाजियाबाद डीएम को उनकी सुरक्षा हटाने के लिए लेटर लिखा। साथ ही, रेजिडेंट्स की शिकायतों के आधार पर ओमेक्स ग्रैंड में हुए अतिक्रमण को हटाने के लिए अथॉरिटी लेटर लिखा था।

लेटर के बाद सिक्योरिटी तो हटा ली गई लेकिन अवैध निर्माण पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। जानकारी के मुताबिक, श्रीकांत ने 2017 के विधानसभा चुनाव में मुरादनगर सीट से दावेदारी की थी लेकिन नोएडा में वह कभी सक्रिय राजनीति में नजर नहीं आए। 2020 तक श्रीकांत के पास गनर रहे जो कि शासन से मिले निर्देश के आधार पर उसे उपलब्ध कराए गए थे। 24 फरवरी 2020 को पति-पत्नी में लखनऊ में विवाद हो गया और वहां केस भी दर्ज हुआ। उस समय श्रीकांत लखनऊ में एक फ्लैट किराये पर रहकर लेता था।

एक दिन अचानक से श्रीकांत की पत्नी उस फ्लैट पर पहुंच गई। वहां एक एनजीओ संचालिका के साथ श्रीकांत घर में थे। पति को किसी दूसरी महिला के साथ देख इनकी पत्नी आग बबूला हो गई और दोनों महिलाओं में मारपीट हो गई। इसके बाद दोनों ही महिलाओं ने वहां थाने में तहरीर दी।



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments