Monday, May 17, 2021
Home Pradesh Uttar Pradesh वाराणसी समाचार: कोरोना रोगियों के इलाज़ के लिए बाबा विश्वनाथ ने अपना...

वाराणसी समाचार: कोरोना रोगियों के इलाज़ के लिए बाबा विश्वनाथ ने अपना ख़जाना खोला


कोरोना मरीजों के लिए बाबा विश्वनाथ ने नोटबंदी की

कोरोना मरीजों के लिए बाबा विश्वनाथ ने नोटबंदी की

वाराणसी समाचार: वाराणसी में विराजमान काशी पुराधिपति संपूर्ण विश्व का मंगल करने वाले है। इसी लोकमंगल की भावना के तहत श्री काशी विश्वनाथ मंदिर न्यास ने मानव कल्याण के लिए अपना ख़जाना खोल दिया है।

वाराणसी। ऐसी मान्यता है कि काशी बाबा विश्वनाथ (बाबा विश्वनाथ) के त्रिशूल पर बसी है और स्वयं भोलेनाथ काशी (काशी) में विराजते है। को विभाजित के संकट काल में देवाधिदेव महादेव के मंदिर ने काशी वासियों के जीवन रक्षा के लिए अपना ख़जाना ख़ोल दिया है। मरीजों को ऑक्सीजन, उनके घरों तक दवा, मेडिकल उपकरण पहुंचाने के साथ और बाबा विश्वनाथ मंदिर से सेवादार को विभाजित मरीजों की दिन रात सेवा में लगे हुए हैं। श्री काशी विश्वनाथ मंदिर न्यास कि ओर से दान दाताओं से प्राप्तोस्टे से कोरोना संकट काल में मानव सेवा का कार्य किया जा रहा है। सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देशन और निगरानी व प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मार्गदर्शन में उनके ड्रीम प्रोजेक्ट निर्माणाधीन श्री काशी विश्वनाथ धाम के पूर्ण हो जाने पर ऐसे ही जन कल्याण के कार्यों को और तीव्र गति से आगे बढ़ाया जाएगा। वाराणसी में विराजमान काशी पुराधिपति संपूर्ण विश्व का मंगल करने वाले है। इसी लोकमंगल की भावना के तहत श्री काशी विश्वनाथ मंदिर न्यास ने मानव कल्याण के लिए अपना ख़जाना खोल दिया है। बाबा ने अपने भक्तों को को विभाजित से बचाने के लिए अपने कोष के प्रयोग की अनुमति दी है। श्री काशी विश्वनाथ मंदिर ट्रस्ट के मुख्य कार्यपालक अधिकारी सुनील वर्मा ने बताया कि विश्वनाथ मंदिर में आयेेल्से के पैसों को को लाभांश महामारी के समय कोरोना पीड़ितों के इलाज़ के लिए ख़र्च किया जा रहा है। दीनदयाल अस्पताल में लगे ऑक्सीजन प्लांट में दान दाता के अलावा जो भी अतरिक्त खर्च आ रहा है वह खर्च भी श्री काशी विश्वनाथ मंदिर न्यास में करेगा। इसके अलावा कोरोना में इस्तमाल होने वाली दवाओं की किट, होमी भाभा कैंसर अस्पताल में मेडिकल उपकरण व बेसिलेशनू में संविदा पर 3 कर्मचारी भी मंदिर की ओर से भेजे गए हैं। भारत के 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग श्री काशी विश्वनाथ मंदिर ट्रस्ट ने मानव सेवा का सबसे बड़ा धर्म खेलया है। लोग अक्सर भगवान के स्वरुप पर उनके अस्तित्व पर सवाल उठाते रहते हैं, लेकिन ऐसे संकट के समय में भगवान बिना जाति, धर्म, पंथ को देखे निस्वार्थ भाव से सिर्फ मनुष्य की मदद करते हैं। ‘नर सेवा नारायण सेवा’ का मंत्र ही उस भगवान के प्रति सच्ची भक्ति है। श्री काशी विश्वनाथ मंदिर ट्रस्ट यही सेवाभाव संदेश पूरे देश के लिए प्रेरणादायक है।








Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments