Thursday, November 26, 2020
Home Pradesh Uttar Pradesh वन विभाग ने वर्षों पुराने मंदिर के निर्माण कार्य को बंद कर...

वन विभाग ने वर्षों पुराने मंदिर के निर्माण कार्य को बंद कर दिया, आक्रोशित ग्रामीणों ने प्रदर्शन किया


ग्रामीण हृदय नारायण भुइयां ने सन 2015 में चकडुमरा के सहिमनवा पहाड़ी पर मंदिर स्थापित किया था।

ग्रामीण हृदय नारायण भुइयां ने सन 2015 में चकडुमरा के सहिमनवा पहाड़ी पर मंदिर स्थापित किया था।

ग्रामीणों ने बताया कि उस पहाड़ी पर भगवान शंकर (भगवान शंकर), परम शक्ति मैया, शेषनाग, मैहर माई, लाखों बहन देवी, बजरंग गली, जटाधारी मैया, कंकाली मैया, शीतला मैया और शिवधनिया बाबा सहित कई देवी-देवताओं की मूर्तियां हैं।

रंगेश कुमार सिंह

सोनभद्र। उत्तर प्रदेश के सोनभद्र (सोनभद्र) में एक बड़ी खबर सामने आई है। यहां दुद्धी तहसील (दुद्धी तहसील) क्षेत्र के विंढमगंज रेंज में वन विभाग की टीम ने सार्वजनिक मन्दिर के निर्माण पर रोक लगा दी। इससे ग्रामीण आक्रोशित हो गए हैं। गुस्साए ग्रामीणों ने प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। जानकारी के मुताबिक, ग्राम पंचायत डुमरा के सहीमनवा पहाड़ी (साहि मनवा हिल) पर सार्वजनिक मन्दिर का निर्माण किया जा रहा है, जिसे वन विभाग ने रोक दिया है। कहा जा रहा है कि वन विभाग के कर्मचारियों ने मंदिर के केंद्रिंग को भी तोड़ दिया है। इससे नाराज ग्रामीण वन विभाग के कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।

ग्रामीणों का आरोप है कि वन विभाग अवैध खनन को रोक नहीं पाती है। और उल्टा उन अवैध खनन करने वालो से धन उगाही करता है। अब वर्षों पुराने मंदिर के छत व सीढ़ियों को गिराकर हमुरी दिखा रही है। इस घटना से ग्रामीण सहित दूर सरणी के भक्तों में आक्रोश प्रवृत्ति हैं। मंदिर की पुजेरिन शारदा देवी ने बताया कि पिछले 10 वर्षों से पहाड़ी पर वन देवी की पूजा पाठ अनवरत कर रही हूं। यहां पर भक्तों का तांता लगा रहता है। पिछले पांच साल पहले यहां शिव मन्दिर की स्थापना की गई थी। दुद्धी क्षेत्र के सैकड़ों भक्तों का आना- जाना यहाँ लगा रहता है। और उनकी सभी मुरादें भी पूरी तरह से होती हैं। उन्होंने बताया कि मंदिर का नया रूप में निर्माण चल रहा है। भक्तों की आस्था व सहयोग से मन्दिर की दीवार व पिलर पहले ही खड़ी हो चुकी थी। आज सुबह डोर लेबल पर ढलाई के लिए लगाई गई शेंटरिंग को वनकर्मियों ने खोला कर हटा दिया और काम रुकवा दिया। ऐसे में स्थानीय लोग फर में हैं।

उसने फोन नहीं उठायावहीं, ग्रामीणों ने बताया कि उक्त पहाड़ी पर भगवान शंकर, वन शक्ति मैया, शेषनाग, मैहर माई, लाखों बहन देवी, बजरंग गली, जटाधारी मैया, कंकाली मैया, शीतला मैया और शिवानीया बाबा सहित कई देवी-देवताओं की मूर्तियां हैं। ऐसे में मंदिर का निर्माण रोके जाने से हिन्दू संगठनों की भी आस्था पर ठेस पहुंच गई है। वहीं, वन क्षेत्राधिकारी विजेंद्र श्रीवास्तव से फोन पर वार्ता करने की कोशिश की गई लेकिन उन्होंने फोन नहीं उठाया।

2015 में चकडुमरा के सहिमनवा पहाड़ी पर मंदिर स्थापित किया गया था
ग्रामीण हृदय नारायण भुइयां ने सन 2015 में चकडुमरा के सहिमनवा पहाड़ी पर मंदिर स्थापित किया था। हृदय नारायण ने बताया कि मेरा परिवार परेशान था। मेरी पत्नी शारदा देवी को स्वप्न में सिद्ध का पेड़ दिखाई दिया। यहां आने के बाद वह उक्त स्थल पर पूजा अर्चना करने में लीन हो गया। जब अपनी पत्नी को हृदय नारायण घर ले गए तो वहाँ पागल जैसा व्यवहार करने लगा। धीरे- धीरे उक्त स्थल से ग्रामीणों का आस्था जगने लगी। उन्होंने बताया कि गढ़वा, डाल्टनगंज, रूमाना, मेराल, छत्तीसगढ़, इलाहाबाद और डेहरी आदि जगह से लोग मन्नत मांगने आते हैं।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

यूपी: 28 विदेशी कंपनियां करेंगी नौ हजार करोड़ का निवेश | उप्र: 28 विदेशी कंपनियां नौ हजार करोड़ का करेंगी निवेश

लखनऊ, 24 नवंबर (आईएएनएस)। कोरोना काल में जब वैश्विक स्तर पर संदेह छाई थी, उस समय उत्तर प्रदेश देशी-विदेशी कंपनियों की...

फारूक अब्दुल्ला ने भूमि घोटाले के आरोपों पर प्रतिक्रिया दी, 10 अंक – भूमि संरक्षण के आरोपों पर फारुक अब्बीदुल्ला बोले-झूठ फैलाया जा रहा...

फारुक अब्सीदुल्ला ने आरोपों को उनकी छवि प्रदान करने के समझौते पर दिया हैश्रीनगर: जम्ममू -श्सिर (जम्मू और कश्मीर)...

भोपल गैस पीड़ितों के लिए घातक COVID-19, यूनियन कार्बाइड से अधिक मुआवजा चाहता है – भोपाल के गैस पीड़ितों के लिए जानलेवा साबित हो...

भोपाल गैस त्रासदी के शिशु अभी भी कई आत्मसात नई समसयाओं का सामना कर रहे हैं (प्रतीकात्मक शब्द)खास बातेंगैस पीडिआतों के लिए कन्फरत...

कोरोनावायरस के मामले बढ़ने से एयलाइंस कंपनियों की बढ़ी मुश्किलें

यूरोप और अमेरिकी में कोरोनावायरस के मामलों में वृद्धि के साथ ही दुनिया भर की विमानन कंपनियों का वित्तीय परिदृश्य खराब हो रहा...

Recent Comments