Saturday, December 5, 2020
Home Desh लव जिहाद पर कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने दोयम दर्जे का हमला...

लव जिहाद पर कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने दोयम दर्जे का हमला किया, कहा- लोगों को बेवकूफ बनाने का खेल – लव जेहाद पर भाजपा का दोहरा खेल, एक तरफ सम्मान तो दूसरा पक्ष कड़े कानून का ढोंग: दिग्विजय सिंह का हमला


'लव जेहाद' पर भाजपा का दोहरा खेल, एक तरफ सम्मान तो दूसरा पक्ष कड़े कानून का ढोंग: दिग्विजय सिंह का हमला

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने बीजेपी पर 'लव जेहाद' पर दोहरा चरित्र अपनाने का आरोप लगाया है

नई दिल्ली:

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह (दिग्विजय सिंह) ने भारतीय जनता पार्टी (भारतीय जनता पार्टी) पर 'लव जेहाद' (लव जिहाद) पर दोहरा चरित्र अपनाने का आरोप लगाया गया है। उन्होंने कहा कि बीजेपी एक तरफ लव जेहाद के खिलाफ कई राज्यों में कड़े कानून लाने की बात कर रही है और कोशिश कर रही है, दूसरी तरफ पार्टी ऐसा करने वालों को पार्टी के अंदर ही पद देकर सम्मानित करती है। सिंह ने कहा कि बीजेपी जनता को मूर्ख बनाने का खेल कर रही है। उन्होंने ट्वीट किया है, "वह भाजपा का दोहरा चरित्र है, जो भाजपा नेता है, और कथित" लव जेहाद "करते हैं क्या उन्हें भाजपा पदों से सम्मानित करती है .. और जनता को मूर्ख बनाने के लिए क़ानून लाना चाहती है .."

यह भी पढ़ें

इस ट्वीट के साथ ही दिग्विजय सिंह ने आचार्य प्रमोद का एक ट्वीट भी साझा किया है, जिसमें अंतर धार्मिक विवाह करने पर बीजेपी शासित राज्य उत्तराखंड द्वारा प्रोत्साहन राशि देने की बात कही गई है। आचार्य प्रमोद ने भी लिखा है, "पूरे देश में लव जेहाद के" ख़िलाफ़ "क़ानून और देव भूमि" उत्तराखंड "में, भाजपा का" दोगला "चरित्र।"

दिग्विजय की नीतीश कुमार से अपील, 'भाजपा की विचारधारा को छोड़कर तेजस्वी को आशीर्वाद कृपया'

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उत्तराखंड सरकार का समाज कल्याण विभाग अंतरजातीय और अंतरधार्मिक विवाह करने वाले जोड़ों को 50,000 रुपये नकद राशि राशि दे रहा है। बशर्ते उनकी शादी वैध रूप से पंजीकृत होनी चाहिए। बता दें कि उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार अगले विधान सभा सत्र में लव जेहाद के खिलाफ 'उत्तर प्रदेश विधि विरुद्ध धर्म निर्धारण प्रतिषेध कानून -2020' लाने जा रही है। पांच वर्षों का सामूहिक धर्म पालन और 10 वर्ष की सजा का प्रावधान किया जा रहा है।

जदयू ने लव जिहाद पर गिरिराज सिंह के बयान से किया, भाजपा नेता ने बिहार में कानून बनाने की मांग की।

Newsbeep

मध्य प्रदेश में भी शिवराज सिंह चौहान सरकार ऐसी ही कानून लाने की तैयारी में है। कानून का ड्राफ्ट तैयार हो गया है। एमपी फ्रीडम ऑफ रिलीजन एक्ट 2020 ड्राफ्ट के मुताबिक धर्म निर्धारण प्रदान करने के लिए पांच साल की सजा का प्रावधान किया गया है। ड्राफ्ट के मुताबिक ऐसी शादी को रद्द करने का भी अधिकार फैमिली कोर्ट को दिया गया है।

वीडियो- मुकाबला: शादी के फैसलों पर सरकारी पहरा?



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

किसान चर्चा से पहले प्रधानमंत्री आवास पर महत्वपूर्ण बैठक, अमित शाह-राजनाथ सिंह मौजूद: सूत्र

नई दिल्ली: केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन शनिवार को भी जारी है। कृषि कानूनों पर गतिरोध को खत्म...

Recent Comments