Thursday, January 20, 2022
HomeUttar Pradeshलड़की हूं लड़ सकती हूं: लड़की हूं लड़ सकती हूं

लड़की हूं लड़ सकती हूं: लड़की हूं लड़ सकती हूं


आरबी लाल, बरेली
प्रियंका गांधी की ‘लड़की हूं लड़ सकती हूं‘ थीम पर उत्तर प्रदेश के बरेली शहर में आयोजित मैराथन में दौड़ीं छात्राओं के बीच भगदड़ मचने के मामले में प्रशासन ने कांग्रेसियों पर मुकदमा दर्ज कराया है। कांग्रेस जिलाध्यक्ष और पार्टी के अज्ञात कार्यकर्ताओं पर प्रशासन ने महामारी फैलाने और धारा 144 के उल्लंघन पर शहर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया है।

भगदड़ में चोटिल हो गई थीं 30 से ज्यादा छात्राएं
असल में कांग्रेसियों ने लड़की हूं लड़ सकती हूं थीम पर मंगलवार 4 जनवरी को सुबह बरेली शहर के बिशप मंडल इंटर कॉलेज में छात्राओं के मैराथन का आयोजन किया था। इसमें जिले के विभिन्न कॉलेजों से लगभग 10 हजार छात्राओं को बुला लिया गया था। इन सबको दौड़ में हिस्सा लेकर पुरस्कार जीतने थे। प्रथम पुरस्कार के रूप में स्कूटी और अन्य पुरस्कार दिए जाने का ऐलान कांग्रेस की ओर से किया गया था। आयोजन में अव्यवस्था इस कदर हावी रही कि जैसी ही दौड़ शुरू हुई, वैसे ही छात्राओं में भगदड़ मच गई और वे एक-दूसरे के ऊपर गिर पड़ीं। नतीजतन 30 से ज्यादा छात्राएं चोटिल हुईं। इनमें से तीन को अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। वहीं, इस आयोजन की कवरेज करने पहुंचे मीडिया कर्मियों से भी कांग्रेसियों ने बदलसूकी की। इस पर कांग्रेस नेत्री और बरेली की पूर्व मेयर सुप्रिया ऐरन ने खेद व्यक्त किया था। हालांकि, उन्होंने भगदड़ की घटना को बहुत ज्यादा तूल न दिए जाने की बात भी कही थी।

कांग्रेसियों ने अनुमति 200 छात्राओं की ली थी
कांग्रेस ने यह मैराथन तब कराया, जब कोरोना संकट बढ़ रहा है। बरेली के सिटी मजिस्ट्रेट राजीव पांडे ने बरेली शहर कोतवाली में दर्ज कराई गई रिपोर्ट में कहा है कि आयोजकों को सशर्त महिला मैराथन के आयोजन की अनुमति दी गई थी कि इसमें सामाजिक दूरी का पालन कराने, मास्क और सैनिटाइजर की व्यवस्था की जाएगी। धारा 144 के प्रतिबंधों का पालन करने की भी हिदायत दी गई थी। अनुमति 200 लोगों की मांगी गई थी, लेकिन हजारों छात्राओं को बुला लिया गया। साथ ही अनुमति के नियम व शर्तों का पालन नहीं किया गया है। सिटी मजिस्ट्रेट ने कांग्रेस जिलाध्यक्ष मिर्जा अशफाक सकलैनी और अन्य कांग्रेसियों पर धारा 144 के उल्लंघन और महामारी अधिनियम की धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है।

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण ने भी मांगी रिपोर्ट
कांग्रेस के मैराथन में भगदड़ की घटना पर स्वत: संज्ञान लेकर मंगलवार को ही राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने डीएम बरेली से इस मामले की रिपोर्ट तबल की और मामले में जिम्मेदार लोगों पर एफआईआर दर्ज करने के आदेश दिए थे। इसके बाद ही प्रशासन ने रिपोर्ट दर्ज कराई।



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments