Uttar Pradesh

लखीमपुर खीरी के दोषियों पर अगर नहीं हुई कार्यवाही तो करेंगे आत्मदाह- के.के. शर्मा

लखनऊ।   लखीमपुर खीरी किसान नरसंहार सरकार द्वारा सुनियोजित नरसंहार है और यह किसी भी मामले में जलियाँवाला बाग नरसंहार से कम नहीं है। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी  (एन.सी.पी.) और इसके माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष, श्री शरद पवार इस दुर्भाग्यजनक घटना पर खेद व्यक्त कर चुके हैं और इसकी निंदा कर चुके हैं। सरकार किसानों पर कितना भी जुल्म कर ले, वो उनकी आवाज को नहीं दबा पायेगी। यह जानकारी (एन.सी.पी.)के राष्ट्रीय महासचिव श्री के.के. शर्मा ने प्रदेश कार्यालय में आयोजित पत्रकार वार्ता में देते हुए कहा कि एन.सी.पी. की माँग है कि 15 दिन के भीतर अगर दोषियों को गिरफ़्तार नहीं किया जाता तो आज से 15 दिन बाद मैं स्वंय राष्ट्रीय महासचिव के के शर्मा, पार्टी के प्रदेश, अध्यक्ष श्री उमाशंकर यादव, राष्ट्रीय कोऑर्डिनेटर श्री पारसनाथ तिवारी, प्रदेश महासचिव श्री अब्दुल बासित विधानसभा के सामने लोक भवन पर आत्मदाह कर लेंगे।
पत्रकार वार्ता में श्री शर्मा ने कहा कि आज देश का अन्नदाता, मेहनतकश किसान काफी डरा हुआ है। यह वही महान देश भारत है जो कृषि प्रधान देश कहलाता है और जहाँ का किसान दुखी है। लखीमपुर खीरी नरसंहार इसका जीता जागता उदाहरण है। नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी के माननीय राष्ट्रीय अध्यक्ष, श्री शरद पवार जी को किसानों की काफी चिन्ता है। उनके द्वारा किसानों के हित में अनेक कार्य किए गए। केन्द्रीय कृषि मंत्री रहते उन्होंने किसानों के 70,000 करोड़ रूपए माफ किए थे। उन्होंने किसानों के हित में आयात-निर्यात से सम्बन्धित भी कई साहसिक फैसले लिए थे।
इस मौके पर प्रदेश अध्यक्ष उमाशंकर यादव ने कहा कि राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एन.सी.पी.)किसानों के साथ आखिरी दम तक रहेगी। किसी भी व्यक्ति या किसान का जीवन अमूल्य है। लखीमपुर खीरी में जिन किसानों का नरसंहार हुआ है, जब तक उन्हें पूर्ण रूप से न्याय नहीं मिलेगा तब तक राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एन.सी.पी.) उनके हित में लड़ाई लड़ती रहेगी और एन.सी.पी. किसानों को न्याय दिलाकर ही दम लेगी। समाज अच्छी तरह से जानता है कि किसी के जीवन का मूल्य 45 लाख या 50 लाख रुपए नहीं हो सकता, जीवन अमूल्य है। हमने स्वयं अपने प्रदेश के पदाधिकारियों के साथ जाकर दिनांक 4 अक्टूबर, 2021 को लखीमपुर खीरी का दौरा किया था और वहाँ की स्थिति का आकलन किया था।
इस मौके पर विधि विभाग चेयरमैन श्री गंगा सिंह, अनुसूचित जाति/जनजाति  प्रदेश अध्यक्ष श्री महेश गौतम, प्रदेश महासचिव श्री नवीन निश्चल निगम, प्रदेश महासचिव रामप्रीत शर्मा, प्रदेश उपाध्यक्ष श्री श्रवण कुमार अवस्थी, व अन्य लोग महजूद थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button