Wednesday, April 14, 2021
Home Desh रोहिंग्याओं पर SC का फैसला, प्रक्रिया के पालन के बिना वापस नहीं...

रोहिंग्याओं पर SC का फैसला, प्रक्रिया के पालन के बिना वापस नहीं भेज दिया जाएगा


सुप्रीम कोर्ट (सुप्रीम कोर्ट) ने रोहिंग्या मुसलमानों की वापसी पर वर्तमान में बिना, प्रक्रिया के पालने के बिना वापस नहीं भेजा। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि वर्तमान में इन रोहिंग्याओं की रिहाई नहीं होगी।

उच्चतम न्यायालय

सुप्रीम कोर्ट (फोटो साभार: फाइल)

नई दिल्ली:

सुप्रीम कोर्ट (सुप्रीम कोर्ट) ने हिरासत में लिए 168 रोहिंग्या शरणार्थियों (रोहिंग्या शरणार्थियों) को म्यांमार वापस भेजने पर फैसला सुनाया है। सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि, रोहिंग्याओं को नियत प्रक्रिया का पालन किया जाए बिना म्यांमार नहीं जाएगा। सुप्रीम कोर्ट (सुप्रीम कोर्ट) ने रोहिंग्या मुसलमानों की वापसी पर वर्तमान में बिना, प्रक्रिया के पालने के बिना वापस नहीं भेजा। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि वर्तमान में इन रोहिंग्याओं की रिहाई नहीं होगी। इन सभी को अभी तक पूरी प्रक्रिया होने तक केंद्र में बने रहना होगा।

आपको बता दें कि कुछ रोहिंग्याओं को लेकर वकील प्रशांत भूषण ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर इस बात की मांग की थी कि इन लोगों को रिहा कर भारत में ही स्वतंत्र रूप से रहने दिया जाए। प्रशांत भूषण की इस याचिका पर केंद्र सरकार ने इसका कड़ा विरोध किया था। वहीं प्रशांत भूषण की इस मांग का विरोध करते हुए सल्लिसीटर जनरल तुषार मेहता ने सुप्रीम कोर्ट में अपनी दलीलें रखीं।

तुषार मेहता ने कहा कि जिस अंतर्राष्ट्रीय समझौते के आधार पर यह फैसला आया, उस पर भारत ने कोई हस्ताक्षर नहीं किए हैं। भारत सरकार ने अपने राष्ट्रीय मूल्यों और राष्ट्री संप्रभुता के लिए कई आंतरिक धारणाओं से दूरी बना रखी है। सॉलिसीटर जनलर तुषार मेहता ने आगे बताया कि रोहिंग्याओं को लेकर भारत सरकार की म्यांमार सरकार से बातचीत जारी है। म्यांमार सरकार की ओर से अभी तक इस मामले पर कोई आधिकारिक ऐलान नहीं किया गया है। म्यांमार के किसी आधिकारिक फैसले के बाद ही इन लोगों को वापस भेजा जाएगा।



संबंधित लेख

पहली प्रकाशित: 08 अप्रैल 2021, 03:11:54 अपराह्न

सभी के लिए नवीनतम भारत समाचार, न्यूज नेशन डाउनलोड करें एंड्रॉयड तथा आईओएस मोबाइल क्षुधा।



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

टिक-टैक के मालिक झांग इमिंग की किस्मत बदली, दुनिया की अरबपतियों की लिस्ट में शामिल हैं

पिछले एक साल के दौरान टिक-टैक को दुनिया भर में डेटा सिक्योरिटी को आलोचना का शिकार होना पड़ रहा है। भारत जैसे...

मार्च की तिमाही में इन्फोसिस का मुनाफा 17.5 प्रतिशत बढ़ा

सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र की प्रमुख कंपनी इन्फोसिस ने बुधवार को कहा कि मार्च 2021 में चौथी तिमाही के दौरान उसका शुद्ध लाभ 17.5...

Recent Comments