Wednesday, April 14, 2021
Home Desh राहुल गांधी कॉर्नर ओवर नॉर्थ साउथ स्टेटमेंट पार्टी में भी विभाजित राहुल...

राहुल गांधी कॉर्नर ओवर नॉर्थ साउथ स्टेटमेंट पार्टी में भी विभाजित राहुल गांधी के उत्तर / दक्षिण के बयान पर बंटे कांग्रेस नेता


हाइलाइट

  • राहत-दक्षिण पर दिए गए अपने बयान पर घिर रहे राहुल गांधी
  • बीजेपी लगातार सहयोगी, कांग्रेस नेता भी दो धड़ों में बंटे
  • कपिल सिब्बल और आनंद शर्मा ने कहा कि राहुल ही बताते हैं

नई दिल्ली:

राहुल गांधी (राहुल गांधी) के उत्तर-दक्षिण वाले बयान पर कांग्रेस के नेता विशेष रूप से जी -23 के सदस्य ने कथित तौर पर कहा है कि यह पूर्व पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी पर निर्भर है कि वह उत्तर + दक्षिण के अपने बयान को स्पष्ट करें। । कपिल सिब्बल और आनंद शर्मा (आनंद शर्मा) जैसे कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने कहा है कि राहुल गांधी ही इसे स्पष्ट कर सकते हैं, जबकि अन्य कांग्रेस प्रमुखों ने राहुल की टिप्पणी का बचाव किया है। आनंद शर्मा ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि कांग्रेस (कांग्रेस) के पास उत्तर के महान नेता रहे हैं और संजय गांधी, राजीव गांधी, सोनिया गांधी, कैप्टन सतीश शर्मा से लेकर राहुल गांधी तक कांग्रेस के नेताओं को चुनने के लिए पार्टी के साथठी लोगों की आभारी है।

राहुल ही बताते हैं, उन्होंने बयान क्यों दिया
राज्यसभा में पार्टी के उप नेता आनंद शर्मा ने कहा, ‘राहुल गांधी ने अपने किसी अनुभव के आधार पर टिप्पणी की है, मुझे किसी क्षेत्र के अपमान की बात मुझे नहीं दिखती। राहुल गांधी हीकरण दे सकते हैं। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने देश को एक समझा है, हमने कभी क्षेत्र, भाषा और धर्म के आधार पर लकीर नहीं खींची। ‘ कपिल सिब्बल ने कहा कि वह भाजपा ही है, जो देश को विभाजित कर रही है, लेकिन राहुल गांधी ने जो कहा है, वही इस बारे में बता सकते हैं कि उन्होंने किस संदर्भ में यह बयान दिया है।

यह भी पढ़ें: बेकार पड़ी 100 संपत्तियां बेचेगी मोदी सरकार, अगस्त तक हो सकती है

एक धड़ा कर बचाव कर रहा है
हालांकि राहुल गांधी के करीबी नेताओं ने खुलकर उनका आरक्षण किया है। कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा, ‘राहुल गांधी का अवलोकन भाजपा द्वारा विकसित की गई राजनीतिक संस्कृति के लिए है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी अपने ‘उत्तर-दक्षिण’ बयान को लेकर चौतरफा घिरते दिख रहे हैं। केरल में अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड के दौरे पर गए राहुल गांधी के बयान को लेकर भाजपा जहां सहयोगी है, वहीं कांग्रेस इसका बचाव कर रही है।

राहुल ने दिया था यह बयान
वायनाड के दौरे पर गए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने मंगलवार को तिरुअनंतपुरम में एक सभा में कहा था, ‘पहले के 15 साल मैं उत्तर भारत से सांसद थे। मुझे वहाँ दूसरी तरह की राजनीति का सामना करना पड़ता है। केरल आए मेरे लिए ताजगी भरे होने, क्योंकि यहां के लोग मुद्दों की राजनीति करते हैं और सिर्फ सत्यही नहीं, बल्कि मुद्दों की आधार तक हैं। ‘ कांग्रेस नेता की टिप्पणी ने उत्तर / दक्षिण बहस छेड़ दी, क्योंकि उन्होंने लोकसभा में अमेठी का प्रतिनिधित्व करने के 15 साल बाद केरल के वायनाड से लोकसभा सदस्य के रूप में अपने कार्यकाल को ताजगी भरा बताया।

यह भी पढ़ें: सरकार फिर से वार्ता को तैयार, किसानों के प्रस्ताव का इंतजार

बीजेपी के सहयोगी
राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे। पी। नड्डा ने मंगलवार को कहा कि कांग्रेस नेता को लोगों को विभाजित करने की आदत है। नड्डा ने ट्वीट किया, ‘कुछ ही दिन पहले वह (गांधी) पूर्व में थे, देश के पश्चिमी भाग के खिलाफ जहर उगल रहे थे। आज दक्षिण में वह उत्तर के खिलाफ जहर उगल रहे हैं। राहुल गांधी अब बांटो और राज करो की राजनीति नहीं करेंगे। लोगों ने इस तरह की राजनीति को खारिज कर दिया है। ‘ केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी, ​​जिन्होंने 2019 में पिछले लोकसभा चुनाव में अमेठी में राहुल गांधी को चुना था, ने ट्वीट किया, ‘बधाई दी। दुनिया उनके बारे में कहती है, जो ज्ञान से अधिक खिलवाड़ करते हैं। ‘



संबंधित लेख



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments