Saturday, May 28, 2022
HomeBiharरामश्रेष्ठ बाबू जाति नहीं बल्कि जमात की चिंता करते थे, ग्रामीण इलाके में उच्च शिक्षा के...

रामश्रेष्ठ बाबू जाति नहीं बल्कि जमात की चिंता करते थे, ग्रामीण इलाके में उच्च शिक्षा के विकास के लिए उनका योगदान प्रेरणादायी – डॉ.ध्रुव कुमार सिंह

ध्रुव कुमार सिंहमुजफ्फरपुरबिहार,  

आदर्श बिहार छात्र संघ के विश्वविद्यालय इकाई द्वारा आरएसएस कॉलेज, चोचहां के संस्थापक सचिव शिक्षाविद व समाजसेवी स्व.राम श्रेष्ठ सिंह की पुण्यतिथि मनाई गई. इस अवसर पर आयोजित श्रद्धांजलि सभा में प्रदेश महामंत्री डॉ.ध्रुव कुमार सिंह ने शिक्षा के क्षेत्र में रामश्रेष्ठ बाबु के योगदान के साथ ही उनके सामाजिक सरोकारों को याद करते हुए कहा की रामश्रेष्ठ बाबु जाति नहीं बल्कि जमात की चिंता करने वाले समाजसेवी थे। उन्होंने सभी वर्गो की हित के लिए कार्य किया। डॉ.सिंह ने कहा की राम श्रेष्ठ बाबू को समाज के लिए प्रेरणास्रोत थें। उन्होंने कहा कि राम श्रेष्ठ बाबू समाज के हर वर्ग का ख्याल रखते थे। वंचितों एवं पिछड़े समाज के लोगों को अपने बच्चों को पढ़ाने के लिए सदा प्रेरित करते रहते थे।इस मौके पर विभिन्न सामाजिक, राजनीतिक व साहित्यिक क्षेत्र के लोगों ने उनके चित्र पर माल्यार्पण किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए विश्वविद्यालय अध्यक्ष डॉ.अनिल कुमार धवन ने मुजफ्फरपुर और वैशाली की सीमावर्ती सुदूर ग्रामीण इलाके में महाविद्यालय की स्थापना कर इलाके के हजारों गरीब गुरबा विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा का रास्ता दिखाया.इस मौके पर उन्हें श्रद्धांजलि देने वालों में महानगर अध्यक्ष डॉ.विनोद कुमार दत्ता,डॉ.अनिल कुमार,डॉ.धर्मेन्द्र कुमार सिंह, डॉ.पंकज पुरषोत्तम,संतोष कुमार,मो.फैज़,कृष्णा कुमार,कुमार अमित विवेक नारायण सिंह सहित दर्जनों कार्यकर्त्ता उपस्थित थें.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments