Thursday, May 26, 2022
HomeUttar Pradeshराज ठाकरे के खिलाफ मोर्चा खोले बीजेपी सांसद बृज भूषण बैक फुट...

राज ठाकरे के खिलाफ मोर्चा खोले बीजेपी सांसद बृज भूषण बैक फुट पर अयोध्या में जुटा रहे भीड़, केशव मौर्य से भी नहीं मिला समर्थन BJP MP Brij Bhushan opened a front against Raj Thackeray, who came on the back foot did not even get support from Keshav Maurya


अयोध्या : कैसरगंज के सांसद बृज भूषण शरण सिंह ने इन दिनों राज ठाकरे के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है। उन्होंने मनसे प्रमुख राज ठाकरे को अयोध्या में राम लला के दर्शन न करने देने का ऐलान किया है। इतना ही नहीं उन्होंने ठाकरे को अयोध्या में पैर न रखने देने जैसी बड़ी बात कही है। उनका कहना है कि जब तक ठाकरे उत्तर भारतीयों पर किए गए हमलों को लेकर माफी नहीं मांग लेते उन्हें राम लला के दर्शन नहीं करने दिए जाएंगे। लेकिन अब इस मुद्दे में डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के एक ताजा बयान के बाद नया मोड़ आ गया है।

क्या बोले केशव मौर्य
वहीं सांसद बृज भूषण शरण सिंह भी इस मोर्चे को लेकर बैक फुट पर नजर आ रहे हैं। पहले आपको बताते हैं कि मामले में केशव प्रसाद मौर्य ने क्या बयान दिया। एक कार्यक्रम के दौरान जब यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य से पूछा गया कि, बीजेपी सांसद ने ऐलान किया है कि राज ठाकरे जब तक मांफी नहीं मांगते उन्हें रामलला का दर्शन नहीं करने दिया जाएगा…? इस पर केशव मौर्य ने कहा कि, ‘मैं नहीं जानता कि सांसद जी ऐसा क्यों बोले हैं, उन्होंने मुझे बताया नहीं। राम लला का दर्शन कोई भी आकर कर सकता है चाहें वो राज ठाकरे हों- अखिलेश यादव हो या मुलायम सिंह यादव।’

बैकफुट पर दिख रहे सांसद बृज भूषण

अब वापस चलते हैं सांसद बृज भूषण शरण के पास और जानने कि कोशिश करते हैं कि वो क्यों बैकफुट पर नजर आ रहे हैं। दरअसल राज ठाकरे के विरोध में मोर्चा खोले बृज भूषण गुरुवार को अयोध्या पहुंचे थे। मीडिया से बात करते हुए सांसद ने कहा कि वो संतों का समर्थन हासिल करने के लिए अयोध्या पहुंचे हैं। राज ठाकरे इतने घमंड से चूर हैं दो शब्द अपनी गलती सुधारने के लिए खेद प्रकट नहीं कर सकते। अब तो हम केवल इतना कह रहे हैं कि वे अपने यूपी बिहार विरोधी बयान के लिए संतों से ही माफी मांग लें। हम उनके विरोध की जगह स्वागत करने को तैयार हैं। राज ठाकरे को अगर उत्तर भारतीयों से माफी मांगने में शर्म आ रही है तो अयोध्या के संतों से ही माफी मांग लें। संत समाज माफ कर देगा तो भी हम अपना आंदोलन छोड़ देंगे।’

भीड़ जुटाने की जुगत में सांसद

सांसद को शायद लगने लगा है कि ये मोर्चा अब उनकी मान- प्रतिष्ठा की बात बन गया है लेकिन अबतक पार्टी से खुलकर सपोर्ट न मिलने के कारण ये हल्का भी पड़ता जा रहा है। शायद इसीलिए भीड़ जुटाने की जुगत में सांसद ने राज ठाकरे विरोधी मुहिम में उत्तर भारतीयों के अयोध्या आने पर होटल और धर्मशाला में 50% की छूट का ऐलान कर दिया है। साथ ही लोगों के लिए बस्ती, गोंडा के आसपास स्कूलों में रहने और खाने का प्रबंध करने की बात भी कही है।

क्या बोले आईजी
मामले में अयोध्या रेंज के आईजी केपी सिंह का कहना है कि राज ठाकरे व आदित्य ठाकरे के अयोध्या दौरे को लेकर टकराव की संभावनाओं पर प्रशासन नजर रख रहा है। लेकिन ऑफिशियल कार्यक्रम दोनों नेताओं का नहीं आया है। कार्यक्रम मिलने पर सुरक्षा व लॉ एंड आर्डर की समीक्षा की जाएगी। लेकिन अयोध्या में कानून व्यवस्था में खलल डालने की अनुमति किसी को नहीं दी जाएगी। चाहे वह कितना भी प्रभावशाली व्यक्ति क्यों न हो।

बता दें कैसरगंज अयोध्या से बिल्कुल सटा है और उस इलाके में बृजभूषण अच्छा खासा अपना दबंग प्रभाव भी रखते हैं। ऐसे में क्या बृजभूषण शरण सिंह इस बार यूपी सरकार को अपनी हैसियत दिखा देना चाहते हैं और कहीं ना कहीं अपनी इसी ताकत के बदौलत आगे की अपनी सियासत को सुरक्षित करना चाहते हैं। माना जा रहा है कि सांसद की चेतावनी को बीजेपी हल्के में नहीं ले सकती। अब ऐसे में ये देखने वाली बात होगी कि ऊंट किस करवट बैठेगा।



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments