Tuesday, August 11, 2020
Home Desh राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने की पीएम मोदी से अपील, रोकें...

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने की पीएम मोदी से अपील, रोकें तमाशा – रेजिस्टर करें पर अशोक गेहलोत ने पीएम मोदी से कहा- बंद करवाएं यह तमाशा


राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (अशोक गहलोत) – फाइल फोटो

नई दिल्ली:

रेटेड में जा रहे सियासी ड्रामे का अंत अभी तक नहीं हुआ है। राज्यपाल द्वारा 14 अगस्त से विधानसभा का सत्र बुलाए जाने को मंजूरी दिए जाने के बाद गेहलोत खेम के विधायक जैसलमेर पहुंच गए हैं। सीएम अशोक गहलोत ने बीते दिन विधायकों की खरीद-फरोख्त को लेकर दावा करते हुए कहा था, 'जब से विधानसभा सत्र बुलाने की घोषणा हुई है, मूल्यांकन में खरीद-फरोख्त (विधायकों की) का रेट बढ़ गया है। इससे पहले पहले किश्त 10 करोड़ और दूसरे किश्त 15 करोड़ रुपये थे। अब यह असीमित हो गया है। सब लोग जानते हैं कि कौन लोग खरीद-फरोख्त कर रहे हैं। '

यह भी पढ़ें

पायलट खेमे की मान्यता का मामला, विधानसभा अध्यक्ष के बाद कांग्रेस के शेफ व्हिप भी सुप्रीम कोर्ट पहुंचे

अब नाराज के मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की है कि राज्य में ये जो भी शा तमाशा ’हो रहा है उसे बंद करवाएं हैं। अशोक गहलोत ने शनिवार को आरोप लगाया कि भाजपा उनकी सरकार को गिराने के लिए विधायकों की खरीद-फरोख्त का बड़ा खेल खेल रही है।

गेलोत ने जैसलमेर में मालिकों ने कहा, ‘इस दुर्भाग्य से इस बार भाजपा के वकीलों की खरीद-फरोख्त का खेल बड़ा है। वह कर्नाटक और मध्य प्रदेश का प्रयोग यहां कर रही है। पूरा गृह मंत्रालय इस काम में लग गया है। '' उन्होंने कहा, ‘में … हमें किसी की परवाह नहीं है। हमें लोकतंत्र की परवाह है। हमारी लड़ाई किसी से नहीं है … (हमारे) विचारधारा, नीतियों और कार्यक्रमों की लड़ाई है … लड़ाई यह नहीं होती है कि आप चेन हुई सरकार को गिरा दें। हमारी लड़ाई किसी व्यक्ति के खिलाफ नहीं है, हमारी लड़ाई लोकतंत्र को बचाने की है। ''

जैसलमेर से आगे पाकिस्तान, दूसरी ओर गुजरात, कहां जाएगा कांग्रेस विधायक: भाजपा प्रदेश अध्यक्ष

उन्होंने कहा, बार को मोदी को प्रधानमंत्री के रूप में दूसरी बार जनता ने मौका दिया जो बड़ी बात है। उन्हें यह कहना चाहिए कि जो कुछ तमाशा हो रहा है, वह उसे बंद कर देगा। ''

केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत द्वारा सरकार के खिलाफ ट्वीट किए जाने के बारे में गेहलोत ने कहा कि सिंह तो अपनी झेंप हटा रहे हैं जबकि अशिष्ट टैप मामले में उन्हें नैतिकता के आधार पर खुद ही इस्तीफा दे देना चाहिए।

उनके नेतृत्व से नाराज होकर अलग होने वाले सचिन पायलट और 18 अन्य कांग्रेस विधायकों की वापसी के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि यह फैसला पार्टी आलाकमान को करना है और अगर आलाकमान उन्हें माफ करता है तो वे भी बागियों को गले लगा लेंगे।

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने साझा नहीं किया है। यह सिंडीकेट ट्वीट से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

सूडान के पश्चिमी दारफुर में हिंसा 2,500 में चाड में हुई, संयुक्त राष्ट्र शरणार्थी एजेंसी |

अनुसार शरणार्थियों के लिए संयुक्त राष्ट्र उच्चायुक्त के कार्यालय (UNHCR), Adré के चाडियन सीमावर्ती शहर में पहुंचने वालों में से 80 प्रतिशत से...

राजस्थान राजनीतिक संकट: क्या अशोक गहलोत और सचिन पायलट विधानसभा सत्र से पहले मिलेंगे? – ..तो इस कारण से विधानसभा सत्र से पहले अशोक...

विधानसभा सत्र के पहले सीएम गेहलोत और सचिन पायलट की मुलाकात हो पाना मुश्किल हैजयपुर: राजस्थान राजनीतिक संकट: कांग्रेस और सचिन पायलट के...

Recent Comments