Thursday, June 30, 2022
HomeUttar Pradeshयूपी हिंदी न्यूज: आजमगढ़ में बसपा विधायक उमाशंकर सिंह ने दावा किया...

यूपी हिंदी न्यूज: आजमगढ़ में बसपा विधायक उमाशंकर सिंह ने दावा किया कि बसपा के पक्ष में सपा नेता भीतरघात कर रहे हैं Samajwadi party leader helping bsp to win azamgarh lok sabha by election says bsp mla umashankar singh


आजमगढ़: आजमगढ़ लोकसभा उपचुनाव के लिए सभी दलों ने अपने-अपने प्रत्याशियों के लिए पूरी ताकत चुनाव प्रचार में झोंक दी है। बहुजन समाजवादी पार्टी से चुनाव लड़ रहे शाह आलम उर्फ गुड्डू जमाली के पक्ष में चुनाव प्रचार के लिए बसपा के एक मात्र विधायक उमाशंकर सिंह आजमगढ़ पहुंचे। उन्होंने प्रत्याशी के चयन में समाजवादी पार्टी और बीजेपी पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा कि सपा और बीजेपी के प्रत्याशी बाहरी है। साथ ही दावा किया कि बहुजन समाज पार्टी चुनाव जीत रही है। सपा और बीजेपी दूसरे और तीसरे नंबर के लिए लड़ रही है। उन्होंने कहा यहां सपा को बीजेपी की बी टीम भी कहा। दावा किया कि समाजवादी पार्टी के सीनियर लीडर भी भीतरघात कर रहे है और वो बसपा के पक्ष में लामबंद है।

अग्निपथ के सवाल पर बसपा बलिया के विधायक उमाशंकर सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार ने यह निर्णय जल्दबाजी में लिया है। साथ ही नौजवानों पर थोपने का काम किया। लेकिन नौजवानों को हिंसा नहीं करनी चाहिए।
Lucknow News:’छोड़कर भाग गए…’ सीएम योगी के तंज पर बोले अखिलेश- आजमगढ़ से समाजवादियों का रिश्ता अटूट
मुलायम सिंह और अखिलेश ने नहीं किया काम
उमाशंकर सिंह ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि वे क्षेत्र में लगातार लोगों के बीच जा रहे है। वहां एक ही बात लोग कह रहे है कि क्या समाजवादी पार्टी और बीजेपी के पास इस आजमगढ़ का कोई नेता नहीं था, जिसे टिकट दिया जा सके। उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 में मुलायम सिंह यादव यहां सांसद चुने गए, उनकी सरकार प्रदेश में थी। बावजूद वे ऐसा कोई काम नहीं किया। अखिलेश ने भी यही किया। अब फिर उन्होंने धर्मेन्द्र यादव को मैदान में उतार दिया। बीजेपी भी स्थानीय नेता को छोड़कर दिनेश लाल यादव निरहुआ को लेकर आ गई है। उन्होंने कहा कि शाह आलम ने कोरोना जैसी महामारी में अपने जिले के लोगों के लिए दिल खोल कर मदद भी की।

बीजेपी की बी टीम है सपा
उमाशंकर सिंह ने कहा कि धर्मेंद्र यादव का वोट बैंक यादव भी उनक के साथ नहीं है। धर्मेंद्र यादव यहां जीते तो आजमगढ़ उनकी हमेशा के लिए सीट हो जाएगी और फिर यहां के नेता संसद का मुंह नहीं देख पाएंगे। सपा के सीनियर लीडर खुद विरोध में है और भीतरघात कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी की बी टीम समाजवादी पार्टी है, क्योकिं समाजवादी पार्टी अपना वोट मांगने के बजाए केवल बसपा को बीजेपी की बी टीम बताती है। उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव को यह पता है कि अगर अल्पसंख्यक बसपा से जुडें तो फिर बसपा को पकड़ पाना आसान नहीं होगा।



Source link

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments