Wednesday, April 14, 2021
Home Pradesh Uttar Pradesh यूपी पंचायत चुनाव: चुनाव में हिंसा फैलाने वालों की खैर नहीं, पुलिस...

यूपी पंचायत चुनाव: चुनाव में हिंसा फैलाने वालों की खैर नहीं, पुलिस ने 3 जिलों से 1632 लोगों को गिरफ्तार किया


पुलिस ने पंचायत चुनाव के दौरान पश्चिमी यूपी में हिंसा को रोकने के लिए पुख्ता योजना तैयार कर रही है।

पुलिस ने पंचायत चुनाव के दौरान पश्चिमी यूपी में हिंसा को रोकने के लिए पुख्ता योजना तैयार कर रही है।

पुलिस ने पंचायत चुनाव के दौरान पश्चिमी यूपी में हिंसा को रोकने के लिए पुख्ता योजना तैयार कर रही है। इसके लिए तीन जिलों के 1632 लोगों को चिन्हित किया गया है। इन पर 110 जी की कार्रवाई होगी। ये अपराध की पहली श्रेणी की कार्रवाई मानी जाती है।

  • News18Hindi
  • आखरी अपडेट:25 फरवरी, 2021, 7:41 AM IST

मेरठ। पंचायत चुनाव में हिंसा की घटनाओं से निपटने के लिए पुलिस 110 जी की कार्रवाई करेगी। मेरठ, बागपत और मुजफ्फरनगर जिले में शातिर लोगों पर कार्रवाई की जा रही है। पुलिस ने तीनों जिलों में ऐसे 1632 लोगों को चिह्नित किया है। पंचायत चुनाव के संभावित प्रत्याशी अपने-अपने दावे ठोक रहे हैं। पुलिस को इस तरह का इनपुट मिल रहा है कि मेरठ, बागपत और मुजफ्फरनगर में हिंसा हो सकती है। बागपत में पहले ही कई लोगों की हत्या हो चुकी है।

एडीजी ने मेरठ, मुजफ्फरनगर, शामली, सहारनपुर, बागपत, गाजियाबाद, हापुड़, बुलंदशहर के पुलिस अधीक्षकों को निर्देश दिए हैं कि पंचायत चुनाव में हिंसा करने वालों को चिह्नित किया जाए। बागपत में 632, मेरठ में 518, मुजफ्फरनगर में 482 को लोगों की सूची बना ली गई है। इन पर 110 जी की कार्रवाई होगी। उनके खिलाफ पहले भी मुचलका पाबंद की कार्रवाई होती रही है। बावजूद इसके वह सुधर नहीं रहे हैं।

इस बार प्रमुख और सभी पूर्व प्रधान मुचलके में पाबंद हो रहे हैं। मेरठ जिले में यह कार्रवाई सभी थाना पुलिस द्वारा पूरी कर ली गई है। एसपी देहात का कहना है कि प्रधान और पूर्व प्रधानों पर मुचलके की कार्रवाई हो गई है। अब सभी संभावित प्रत्याशियों पर भी मुचलके पाबंद की कार्रवाई थाने स्तर से किए जा रहे हैं।

एसपी देहात केशव कुमार ने बताया कि 110 जी की कार्रवाई अपराध की पहली श्रेणी है। पंचायत चुनाव या अन्य किसी भी चुनाव में मुचलका पाबंद पुलिस करती है। यह कार्रवाई हिंसा होने के अंदेशे को देखते हुए होती है। 110 जी की कार्रवाई चुनाव में बार-बार हिंसा करने वालों के खिलाफ की जा रही है। इसके बाद ही गुंडा एक्ट व गैंगेस्टर की कार्रवाई सुनिश्चित होती है। एडीजी मेरठ जोन राजीव सभरवाल ने बताया कि पुलिस पहले से ही प्रकट पंचायत चुनाव को लेकर पुलिस पहले से ही चेतावनी दे रही है। शातिर अपराधियों पर गुंडा एक्ट और गैंगेस्टर की भी कार्रवाई की जा रही है।







Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments