Thursday, August 5, 2021
Home Pradesh Uttar Pradesh यूपी पंचायत चुनव 2021: दूसरे चरण के नामांकन का आज अंतिम दिन,...

यूपी पंचायत चुनव 2021: दूसरे चरण के नामांकन का आज अंतिम दिन, जानें समय और नियम


लखनऊ। यूपी पंचायत चुनाव (यूपी पंचायत चुनाव) का बिगुल बज चुका है। इस बार पहले चरण के नामांकन (नामांकन) के बाद दूसरे चरण की प्रक्रिया जारी है। इसके तहत 7 अप्रैल यानी बुधवार से लखनऊ सहित 20 जिलों में ग्राम प्रधान, ग्राम पंचायत, क्षेत्र पंचायत और जिला पंचायत सदस्य के पदों के लिए नामांकन दाखिल करने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। जबकि गुरुवार यानी 8 अप्रैल को नामांकन करने का अंतिम दिन है।

बता दें कि उत्तर प्रदेश के त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों के लिए उमीदवार सुबह 8 बजे से शाम 5 बजे तक न सिर्फ नामांकन पत्र खरीदेंगे बल्कि अपना परचा भरेंगे। इसके बाद 9 अप्रैल और 10 अप्रैल को नामांकन पत्रों की जांच होगी। सुबह 8 बजे से कार्य की समाप्ति तक नामांकन पत्रों को जांचा जाएगा।

11 अप्रैल को ले वापस नामांकन करेंगे
यूपी पंचायत चुनाव के दूसरे चरण की प्रक्रिया के तहत 11 अप्रैल को नामांकन वापस लेने का प्रत्याशियों को समय मिलेगा। सुबह 8 बजे से दोपहर 3 बजे तक प्रत्याशी अपना नामांकन वापस ले सकते हैं। इसके बाद 11 अप्रैल को ही दोपहर 3 बजे के बाद से कार्य समाप्त होने तक प्रतीक चिन्ह का आवंटन किया जाएगा। बता दें कि दूसरे चरण का आयोजन 19 अप्रैल सुबह 7 बजे से शुरू होकर शाम 6 बजे तक चलेगा। इसके बाद यूपी पंचायत चुनाव के 2 मई को नतीजे आएंगे।ये दूसरे चरण में 20 जिले हैं

बता दें कि दूसरे चरण में 20 जिलों में मतदान होना है, जिसमें मुजफ्फरनगर, बागपत, गौतमबुद्ध नगर, बिजनौर, अमरोहा, बदायूं, एटा, मैनपुरी, कन्नौज, इटावा, ललितपुर, चित्रकूट, प्रतापगढ़, लखनऊ, लखीमपुर खीरी, सुल्तानपुर, गोंडा, गोंडा शामिल हैं। , वाराणसी और आजमगढ़ जिले शामिल हैं।

कोरोना प्रोटोकॉल को फोलो करना आवश्यक है
उत्तर प्रदेश राज्य निर्वाचन आयोग ने त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को बेहतर तरीके से पूरा करने के लिए दिशा-निर्देश जारी कर रखे हैं। कानून व्यवस्था के दृष्टिगत भी सभी व्यवस्थाजाम बेहतर किए जा रहे हैं। इसके साथ ही कोरोनावायरस संक्रमण को देखते हुए भी नामांकन भरे जाने वाली जगह पर कोविड -19 प्रोटोकॉल को फॉलो करने की कार्यक्षमता की लागू कर दिया गया है।

यूपी निर्वाचन आयोग के अपर निर्वाचन आयुक्त वेद प्रकाश वर्मा ने सभी जिला प्राधिकरणों को निर्देश दिया है कि नामांकन के लिए विकास खण्ड मुख्यालय आने वाले किसानों के समर्थकों की भीड़ को नामांकन स्थल से दो सौ मीटर दूर ही रोक दिया जाए। साथ ही कहा कि नामांकन स्थल पर उम्मीदवार, उसके चुनाव अभिकर्ता, प्रस्तावक और मदद के लिए एक अन्य व्यक्ति को ही आने की अनुमति दी जानी चाहिए।

यदि कोई को विभाजित चेष्टा रोगी या उसके साथ बने रहना व्यक्ति चुनाव लड़ना चाहता है तो वह अपना नामांकन पत्र अपने प्रस्तावक या किसी अन्य दस्तावेजी व्यक्ति द्वारा रिटर्निंग ऑफिसर को प्रस्तुत कर सकता है। साफ है कि चुनाव लड़ने वाला रेगिटिंग व्यक्ति होल्डिंग ऑफिसर के समक्ष खुद नहीं आएंगे। इसके अलावा संवेदनशील क्षेत्रों में कानून व्यवस्था के मद्देनजर अधिक एहतियात बरतने के निर्देश दे दिए गए हैं। विशेष रूप से यूपी की सीमा से लगे हुए जिलों में पुलिस के जवानों के साथ ही दूसरी सुरक्षा एजेंसियों को भी सतर्क कर दिया गया है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा- ‘महिलाएं आनंद की वस्तु हैं’ पुरुष वर्चस्व की इस मानसिकता से सख्ती से निपटना जरूरी, पढ़ें मामला

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने एक महत्वपूर्ण आदेश में कहा है कि शादी का झूठा वादा कर यौन संबंध बनाना कानून में दुराचार का अपराध...

2020 से बेहतर हुई यूपी के खजाने की स्थिति, जुलाई में 12655 करोड़ आए : सुरेश खन्ना

प्रदेश में कोरोना संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण का सकारात्मक असर राज्य की आर्थिक गतिविधियों में नजर आने लगा है। चालू वित्तीय वर्ष के...

सदर अस्पताल प्रांगन में ऑक्सीजन प्लांट की भी शुरुआत हो जाएगी: सिविल सर्जन सिविल सर्जन की अध्यक्षता में स्वास्थ्य विभाग की मासिक समीक्षात्मक...

संवाददाता - धर्मेंद्र रस्तोगी बैठक में स्वास्थ्य विभाग के सभी कार्यक्रम की समीक्षा की गई अन्य प्रदेश से आने वाले सभी व्यक्तियों की जांच आवश्यक: किशनगंज, जिले में...

विश्व स्तनपान सप्ताह: स्वास्थ्यकर्मी स्तनपान को लेकर कर रहे जागरूक

संवाददाता - धर्मेंद्र रस्तोगी एनएफएचएस—5 की रिपोर्ट जिला में 42.4 फीसदी शिशु ही कर पाते हैं पहले घंटे में स्तनपान: नियमित स्तनपान से शिशुओं को गंभीर...

Recent Comments