Home India यूपीएल को तीसरी बार हासिल हुआ क्लेरिवेट साउथ एशिया इनोवेशन अवार्ड-2023

यूपीएल को तीसरी बार हासिल हुआ क्लेरिवेट साउथ एशिया इनोवेशन अवार्ड-2023

0
यूपीएल को तीसरी बार हासिल हुआ क्लेरिवेट साउथ एशिया इनोवेशन अवार्ड-2023

मुंबई,- सस्टेनेबल एग्रीकल्चर सॉल्यूशंस का ग्लोबल प्रोवाइडर यूपीएल लिमिटेड (एनएसई- यूपीएल और बीएसई- 512070 एलएसई- यूपीएलएल) (यूपीएल) ने तीसरी बार क्लेरिवेट साउथ एशिया इनोवेशन अवार्ड-2023 हासिल किया है। कंपनी को यह अवार्ड  कृषि व्यवसाय में एक शीर्ष प्रर्वतक के रूप में मान्यता देते हुए प्रदान किया गया है।

पुरस्कार के लिए मूल्यांकन, पेटेंट मात्रा (पेटेंट्स प्रकाशित) के साथ-साथ पेटेंट गुणवत्ता (अनुदान सफलता दर, वैश्वीकरण की सीमा और साइटेशंस) से संबंधित मेट्रिक्स द्वारा संचालित होता है। यह उपलब्धि एक सस्टेनेबल और फूड सिक्योर फ्यूचर में योगदान करने के लिए परिवर्तनकारी इनोवेशन को अपनाने के लिए यूपीएल की दीर्घकालिक प्रतिबद्धता को दर्शाती है। कंपनी के पास 1,400 से अधिक पेटेंट और 14,000 पंजीकरण हैं।

ग्लोबल इंटलैक्चुअल प्रोपर्टी हैड डॉ. विशाल ए. सोढ़ा ने कहा, ‘‘यूपीएल में, हमारा मानना है कि इनोवेशन के जरिये ही हम वास्तविक दुनिया में बदलाव ला सकते हैं और इस तरह प्रभाव कायम कर सकते हैं। हमें खुशी है कि सस्टेनेबल तकनीकी विकास को बढ़ावा देने और किसान-केंद्रित समाधानों को आगे बढ़ाने की हमारी निरंतर प्रतिबद्धता को क्लेरिवेट साउथ एशिया इनोवेशन अवार्ड द्वारा तीसरी बार मान्यता दी गई है। हमारे निरंतर अनुसंधान और विकास के माध्यम से, हम आने वाली पीढ़ियों के लिए एक बेहतर, समृद्ध और टिकाऊ  कृषि प्रणाली का निर्माण करेंगे।’’

यूपीएल को यह पुरस्कार भारत सरकार के पेटेंट, डिजाइन और ट्रेडमार्क महानियंत्रक डॉ. उन्नत पी. पंडित द्वारा प्रदान किया गया। क्लेरिवेट ने 28 जुलाई, 2023 को मुंबई, भारत में आयोजित इनोवेशन फोरम में विजेताओं की घोषणा की थी। दक्षिण एशिया में शीर्ष इनोवेटर्स का चयन करने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली पद्धति में ग्लोबल इनोवेशन डेटा का संपूर्ण तुलनात्मक विश्लेषण शामिल है। इस तरह प्रत्येक पेटेंटेड आइडिया की ताकत का आकलन किया जाता है, साथ ही इनोवेटिव पावर का आकलन करने के साथ डेरवेंट वर्ल्ड पेटेंट इंडेक्स और डेरवेंट पेटेंट्स साइटेशन इंडेक्स के डेटा का विश्लेषण भी किया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here