Wednesday, April 14, 2021
Home Pradesh Uttar Pradesh यमुना एक्सप्रेसवे पर बढ़ते हादसों को लेकर प्राधिकरण सख्त है, संचालन करने...

यमुना एक्सप्रेसवे पर बढ़ते हादसों को लेकर प्राधिकरण सख्त है, संचालन करने वाली कंपनी पर एफआईआर का आदेश है


हादसों को लेकर सख्त हुई यमुना अथॉरिटी

हादसों को लेकर सख्त हुई यमुना अथॉरिटी

यमुना एक्सप्रेसवे दुर्घटनाएं: मंगलवार देर रात हुई सड़क हादसे के संज्ञान लेते हुए आईआरपी (अनुज जैन) ओर बैंक कंसोर्टियम के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है।

  • News18Hindi
  • आखरी अपडेट:24 फरवरी, 2021, 5:48 PM IST

नोएडा। यमुना एक्सप्रेसवे (यमुना एक्सप्रेसवे) पर आए दिन भीषण सड़क हादसों (सड़क दुर्घटनाओं) को लेकर यमुना विकास प्राधिकरण (यमुना विकास प्राधिकरण) ने सख्त रवैया अपनाया है। यमुना विकास प्राधिकरण के सीईओ अरुणवीर सिंह के आदेश पर संचालन करने वाली कंपनी पर एफआईआर (एफआईआर) दर्ज कराई गई है। मंगलवार देर रात हुई सड़क हादसे के संज्ञान लेते हुए आईआरपी (अनुज जैन) ओर बैंक कंसोर्टियम के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई है।

गौरतलब है कि मंगलवार आधी रात डीजल से भरे एक तेज बहाव टैंकर अनियंत्रित हो कर डिवाइडर तोड़ता हुआ आगरा की ओर से आ रही इनोवा कार पर पलट गई। इस हडसे में 7 लोगों की मौत हो गयी। हादसा थाना नौझील क्षेत्र के माइलस्टोन 68 के समीप हुआ। पुलिस ने सभी शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा है। इस हादसे में इनोवाडर गांव सफीदों जींद निवासी मनोज, बबीता, अभय, कोमल, कल्लू, हिमाद्रि और ड्राइव्रर राकेश की मौत हो गयी।

अब तक डेढ़ सौ से ज्यादा लोगों की मौतअगर हम बात करते हैं तो यमुना एक्सप्रेसवे पर अब तक डेढ़ सौ से ज्यादा लोगों ने अपनी जान गंवाई है। यमुना एक्सप्रेसवे मौत का हाईवे साबित हो रहा है। मुश्किल से कोई ऐसा हफ्ता गुजरा होगा जब एक्सीडेंट में कोई मौत न हो रही हो। यही कारण है कि सरकार की तरफ से दिल्ली आईआईटी को हादसे की वजह पता लगाने का जिम्मा सौंपते हुए सुझाव मांगा था।

ये सुझाव है
आरटीआई एक्टविस्ट और सुप्रीम कोर्ट में एडवोकेट केसी जैन लगातार कोर्ट से लेकर दूसरे प्लेटफॉर्म पर एक्सप्रेस-वे से जुड़े मामले उठाते रहते हैं। न्यूज 18 हिंदी से बात करते हुए उन्होंने बताया कि अगर रात के वक्त एक बजे से सुबह 4 बजे तक एक्सप्रेस-वे पर ट्रैफिक रोक दिया जाए तो कोहरे के चलते होने वाले एक्सीडेंट में कमी आ सकती है। सिर्फ इमरजेंसी में होने वाले वाहनों को ही इस वक्त छूट दी जाए। ओवर स्पीड होने पर टोल प्लाजा पर चेतावनी दी जाए। निश्चित रूप से उसके बाद के विज्ञापन की पहुंच ऑनलाइन होगी। सर्दियों में वाहनों की गति को कम किया जाना चाहिए। खासतौर से रात के वक्त पेट्रोलिंग बढ़ाई जाए। आज हुआ एक्सीडेंट भी गलत दिशा से आ रहा वाहन के कारण हुआ है।







Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद इस एक्टर की रिपोर्ट आई पॉजिटिव

डिजिटल डेस्क, मुंबई। देशभर में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। महाराष्ट्र में स्थिति बहुत खराब हो गई है।...

सरकार एनएफएल में 20 प्रतिशत, आरसीएफ में 10 प्रतिशत हिस्सा बेचेगी

सरकार चालू वित्त वर्ष के दौरान खुली बिक्री की पेशकश के माध्यम से नेशनल फर्टिलाइजर्स लिमिटेड (एनएफएल) में 20 प्रतिशत और राष्ट्रीय कैमिकल्स...

Recent Comments