Thursday, October 22, 2020
Home Desh मैं लोगों के कल्याण के लिए लड़ूंगा, अपने पिता की हार का...

मैं लोगों के कल्याण के लिए लड़ूंगा, अपने पिता की हार का बदला लेने के लिए नहीं: लव सिन्हा – पिता की हार का बदला लेने के लिए नहीं, बल्कि लोगों के कल्याण के लिए लादूंगा: लव सिन्हा


अपने पिता की ही तरह अधिकारी से नेता बने लव ने पीटीआई-भाषा से एक साक्षात्कार में कहा कि 2014 के बाद से भाजपा बदल गई है। उन्होंने आरोप लगाया कि अब भगवा पार्टी के अंदर ज्यादा चर्चा नहीं होती है और अब सिर्फ ‘कि आदेश’ जारी किया जाता है।

यह पूछे जाने पर कि बिहार में राष्ट्रीय जनता दल (राजद) जैसी पार्टी की व्यापक उपस्थिति होने के बावजूद उन्होंने अपनी चुनीवी पारी का आगाज करने के लिए कांग्रेस को ही क्यों चुना, लव (37) ने कहा, '' सिर्फ मैंने कांग्रेस को नहीं चुना है, बल्कि कांग्रेस ने भी मुझे चुना है। ''

यह भी पढ़ें- शत्रुघ्न सिन्हा के बेटे लव सिन्हा की पॉलिटिकल एंट्री, कांग्रेस ने बांकीपुर सीट से उतारा, इनसे सामना होगा

उन्होंने कहा, काम ने कांग्रेस ने मेरे द्वारा किए गए काम पर गौर किया, यहां तक ​​कि उस वक्त के काम भी … जब मैंने अपने पिता के भाजपा में रहने के दौरान किए थे। मैंने यहां 2009 से अपने पिता के साथ काम किया है। मुझे विश्वास है कि पार्टी (कांग्रेस) ने पिछले चुनावों में मेरे द्वारा किए गए काम पर गौर किया होगा और यही कारण है कि उन्होंने मुझे यह टिकट दिया। ''

भाजपा के इस गढ़ में चुनाव लड़ने की बात स्वीकार करते हुए लव ने कहा, ‘ग इस कारण लड़ाई से डरना चाहिए। मैं अपनी क्षमता साबित करने और अपनी क्षमता दुनिया को दिखाने के लिए लड़ाई लड़ने में यकीन रखता हूं। जीत या हार, कहीं से भी मेरे हाथ में नहीं है। सार्वजनिक निर्णय करेगा और हमें उनके निर्णय को स्वीकार करना होगा। ''

उन्होंने यह भी कहा कि मौजूदा विधायक नितिन नबीन के खिलाफ सत्ता विरोधी लहर है। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा उम्मीदवार को यह सीट अपने पिता से विरासत में मिली थी, जो बांकीपुर से विधायक थे। अपने पिता के कारण टिकट मिलने की अटकलों को खारिज करते हुए लव ने कहा कि यदि यह परिवारवाद होता है, तो उन्होंने लोकसभा चुनाव लड़ना चुना, विधानसभा चुनाव नहीं।

उल्लेखनीय है कि लव ने जेपी दत्ता की फिल्म 'पलटन ’में अभिनय किया था। बांकीपुर, पटना साहिब लोकसभा क्षेत्र के तहत आता है और इसे भाजपा का एक गढ़ माना जाता है। संसदीय सीट पर शत्रुघ्न सिन्हा 2009 और 2014 में भाजपा के टिकट पर निर्वाचित हुए थे। हालांकि, 2019 के चुनाव में शत्रुघ्न (74) ने कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ा और इसमें उन्हें भाजपा के रविशंकर प्रसाद से हार का सामना करना पड़ा।

लव सिन्हा ने कहा- चुनाव लड़ रहे हैं, दिखा रहे हैं

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने साझा नहीं किया है। यह सिंडीकेट ट्वीट से सीधे प्रकाशित की गई है।)



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

दिवाली पर भारत में लॉन्च होगी निसान मैग्नेट, जानिए क्या होगी कीमत SUV: निसान मैग्नेट इंडिया में दिवाली पर होगी लॉन्च, जानें क्या होगी...

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। कार निर्माता निसान (निसान) की आगामी सभी कॉम्पैक्ट एसयूवी मैग्नाइट (मैग्नेट) लंबे समय से चर्चा में है।...

RBI गवर्नर ने कहा – आर्थिक पुनरुद्धार के मुहाने पर भारत – रिजर्व बैंक के गवर्नर ने कहा – भारत आर्थिक पुनरोद्धार के मुद्दे...

भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास - फाइल फोटोनई दिल्ली: भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने बुधवार को कहा कि...

अपराधियों को कानून का डर होना चाहिए, कहा जाता है कि प्रधान मंत्री योगी आदित्यनाथ – CM योगी आदित्यनाथ बोले

कानपुर के सतरू कांड में शहीद हुए पुलिसकर्मियों के परिवारीजनों को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार सुबह पुलिस लाइन में सम्मानित किया।...

Recent Comments